BREAKING NEWS

मनमोहन ने की Modi सरकार की आलोचना, कहा - सरकार आर्थिक मंदी को स्वीकार नहीं कर रही है◾अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा के मद्देनजर J&K में सुरक्षा बल सतर्क◾राम मंदिर का मॉडल वही रहेगा, थोड़ा बदलाव किया जाएगा : नृत्यगोपाल दास ◾मुंबई के कई बड़े होटलों को बम से उड़ाने की धमकी, ई-मेल भेजने वाला लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य◾‘हिंदू आतंकवाद’ की साजिश वाली बात को मारिया ने 12 साल तक क्यों नहीं किया सार्वजनिक - कांग्रेस◾सरकार को अयोध्या में मस्जिद के लिए ट्रस्ट और धन उपलब्ध कराना चाहिए - शरद पवार◾संसदीय क्षेत्र वाराणसी में फलों फूलों की प्रदर्शनी देख PM मोदी हुए अभिभूत, साझा की तस्वीरें !◾दुनिया भर में कोरोना वायरस का प्रकोप, विश्व में अब तक 75,000 से अधिक लोग वायरस से संक्रमित◾आर्मी हेडक्वार्टर को साउथ ब्लॉक से दिल्ली कैंट ले जाया जाएगा : सूत्र◾INDO-US के बीच व्यापार समझौता ‘अटका’ नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप ने कहा - जल्दबाजी में यह नहीं किया जाना चाहिये◾कन्हैया ने BJP पर साधा निशाना , कहा - CAA से गरीबों एवं कमजोर वर्गों की नागरिकता खत्म करना चाहती है Modi सरकार◾महंत नृत्य गोपाल दास बने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष , नृपेंद्र मिश्रा को निर्माण समिति की कमान◾पंजाब में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सिद्धू के AAP में जाने की अटकलें , भगवंत बोले- कोई वार्ता नहीं हुई◾पंजाब में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले नवजोत सिद्धू AAP में जाने की अटकलें , भगवंत बोले- कोई वार्ता नहीं हुई◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले माह जाएंगे बांग्लादेश दौरे पर◾विनायक दामोदर सावरकर पर बड़े विमर्श की तैयारी, अमित शाह संभालेंगे कमान◾अगले 5 साल में खोले जाएंगे 10,000 नए एफपीओ, मंत्रिमंडल ने दी योजना को मंजूरी◾केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में 22वें विधि आयोग के गठन को मंजूरी दी◾देश विरोधी नारों के मामले को लेकर केजरीवाल बोले - कन्हैया के चार्जशीट पर निर्णय के लिए विधि विभाग से कहेंगे◾प्रियंका गांधी राज्यसभा की सदस्य बननी चाहिए - अविनाश पांडे◾

राजनीतीक दल अपने स्वार्थ के लिए कार्य करती है जनता से कोई लेना देना नही : धनेश्वर महतो

पटना : देश की राजनीतिक सिर्फ स्वार्थ की राजनीति कब रह गई है देश के लिए कोई भी राजनीतिक दल आज कोई काम नहीं करता यह बातें भारतीय मित्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष धनेश्वर महतो ने कही। उन्होंने कहा कि लालू जी रेल मंत्री थे उस टाइम के अंदर लालू जी ने सांसद के वेतन का एक प्रस्ताव दिया 1 मिनट भी नहीं लगा पूरे सांसद ने एक सुर में सुर मिला कर उस विधेयक को पास कर दिया गया ना ही सत्ताधारी ने इसका विरोध किया ना ही विपक्षी किसी दल ने मसला उनके निजी स्वार्थ से था उनके वेतन का भाजपा को लगा के एससी एसटी एक्ट सुप्रीम कोर्ट का गर्ल डिसीजन था एससी एसटी के लोग रोड पर उतरे उनको लगा कि यह वोटर अब भाजपा से खफा हो जाएगा तो उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटते हुए एक अध्यादेश लायी।

और उसे पुन: स्थापित कर दिया पुणे पुराने कानून को पांच राज्यों के चुनाव में भाजपा की हार हुई उन्हें लगा अगड़ी जाति स्वर्णो का वोट भाजपा से खिसक रही है तो भाजपा ने एक अध्यादेश लाकर दस परसेंट आरक्षण सवर्णों को देने का निर्णय लिया उसका स्वागत सभी राजनीतिक दलों ने किया किसी 12 पार्टी ने विरोध किया लेकिन मत उस अध्यादेश को पारित करने में दे दिया कि मात्र 3 वोट विरोध में गिरे 326 पक्ष में 3 वोट विरोध में क्योंकि यह किसी भी राजनीतिक दल को मतदाता को नाराज सवर्णों को नहीं करना था वहीं पर गरीब किसान या किसी आम जनता से किसी भी तरीके की जिससे आम जनता को फायदा मिले वह आज तक भारत के इतिहास में कोई भी राजनीतिक दल उसको सेम डे कभी पास नहीं करा पाया कई सालों तक वह बिल लटका हुआ रहता है चर्चा का विषय रहता लेकिन वह बिल पास नहीं होता है क्योंकि वह पर्सनल राजनीतिक दल से जुड़ा हुआ नहीं है इसलिए भारतीय मित्र पार्टी ऐसी राजनीति पार्टी का घोर निंदा करती है जो सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए यह राजनीतिक दल हैं जनता से इनको कुछ लेना देना नहीं है यह सबसे बड़ा उदाहरण मैं आपको दे रहा हूं।