BREAKING NEWS

तीन कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन का एक साल पूरा होने पर दिल्ली की सीमाओं पर हजारों किसान हुए एकत्र◾अचानक से राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की तबीयत बिगड़ी, दिल्ली के AIIMS में भर्ती◾संविधान के लिए समर्पित सरकार, विकास में भेद नहीं करती और ये हमने करके दिखाया: PM मोदी ◾संसद सत्र के पहले दिन कांग्रेस ने बुलाई विपक्षी नेताओं की बैठक, सरकार को घेरने की होगी तैयारी ◾ प्रयागराज हत्याकांडः कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिवार से की मुलाकात ◾केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय का बड़ा इलान, देश में 15 दिसंबर से सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें फिर से होगीं शुरू◾छह दिसंबर को भारत आयेंगे रूसी राष्ट्रपति पुतिन, पीएम मोदी के साथ करेंगे शिखर बैठक◾दिल्ली सरकार का सिख समुदाय को तोहफा, CM तीर्थयात्रा योजना में करतारपुर साहिब को किया शामिल ◾मध्य प्रदेश: मुरैना के नजदीक उधमपुर-दुर्ग एक्सप्रेस ट्रेन में लगी भयानक आग, चार कोच धू-धू कर जले◾दक्षिण अफ्रीका से निकले कोरोना के नए वैरियंट से दहशत में आयी दुनिया, कड़ी पाबंदियां लगनी शुरू ◾अखिलेश ने योगी की चुटकी ली, कहा-बाबा को लैपटॉप चलाना नहीं आता इसलिए टैबलेट दे रहे हैं ◾26/11 आतंकी हमले की बरसी पर बोले राहुल - शहीदों के बलिदान को जानो, साहस को पहचानो◾महाराष्ट्र में मार्च तक बनेगी BJP की सरकार! केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के दावे से मचा बवाल ◾संविधान दिवस: कांग्रेस का मोदी सरकार पर प्रहार, कहा- आयोजन में नहीं किया शामिल, दर्शक बनना स्वीकार नहीं ◾पूर्व ACP का दावा - परमबीर सिंह के पास था आतंकी कसाब का फोन, पेश करने के बजाय किया नष्ट◾संविधान दिवस पर विपक्ष ने किया सेंट्रल हॉल कार्यक्रम का बहिष्कार, जानिए राजनितिक दलों ने क्या बताई वजह ◾जबरन वसूली मामला : जांच के सिलसिले में ठाणे पुलिस के समक्ष पेश हुए परमबीर सिंह ◾PM मोदी ने परिवारवाद पर कसा तंज, कहा- लोकतांत्रिक चरित्र खो चुकी पार्टियां नहीं कर सकती लोकतंत्र की रक्षा ◾बसपा प्रमुख मायावती ने केंद्र और राज्य सरकारों पर साधा निशाना, कहा कोई नहीं कर रहा है संविधान का पालन ◾किसान आंदोलन की वर्षगांठ पर हमलावर हुई प्रियंका, कहा- BJP के अहंकार के लिए जाना जाएगा ये सत्याग्रह ◾

कश्मीर में बिहारियों की हत्या पर सियासत गर्म, BJP बोली- घटिया राजनीतिक पत्थरबाज न बने तेजस्वी

जम्मू-कश्मीर में पिछले एक पखवारे के अंदर आतंकियों द्वारा बिहार के चार लोगों की हत्या के बाद बिहार के लोग जहां गुस्से में हैं, वहीं इसे लेकर सियासत भी खूब तेज हो गई है। विपक्ष इसे लेकर सत्ता पक्ष पर निशाना साध रहा है, वहीं सत्ता पक्ष भी नसीहत दे रही है।

अगर सरकार ने रोजगार सृजन किया होता तो करोड़ों बिहारवासियों को पलायन नहीं करना पड़ता

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने जम्मू कश्मीर में बिहार के लोगों की हत्या के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनकी सरकार को दोषी ठहराया है। उन्होंने कहा कि अगर आपकी सरकार ने पिछले 16 साल से किए जा रहे सुशासन के दावे के अनुरूप सचमुच रोजगार सृजन किया होता तो करोड़ों बिहारवासियों को प्रत्येक वर्ष पलायन नहीं करना पड़ता।

दावा किया गया था कि धारा 370 हटने से आतंकवाद का घाटी से अंत हो जाएगा

उन्होंने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए आगे कहा, 'दावा किया गया था कि धारा 370 हटने से आतंकवाद का घाटी से अंत हो जाएगा। आपकी पार्टी ने बिना सोचे समझे लिए गए इस कदम का देश के लिए ऐतिहासिक दिन बताकर समर्थन किया था। जब सब कुछ इतना सामान्य हो चुका था, तो क्यों आपकी सरकार में बैठे लोग दबी जुबान जम्मू कश्मीर जाकर रोजगार तलाशने के लिए श्रमिकों की ही आलोचना कर रहे हैं?'

बिहारी की जान की कीमत लगा कर बिना कोई संवेदना प्रकट किए फिर सुषुप्त अवस्था में चले जाएंगे

मृतक के परिजनों को बिहार सरकार द्वारा 2-2 लाख मुआवजा देने पर भी तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बिहारी की जान की कीमत 2 लाख रुपए लगा कर बिना कोई संवेदना प्रकट किए फिर सुषुप्त अवस्था में चले जाएंगे। उन्होंने कहा, "सर्पदंश और ठनके से मौत पर बिहार सरकार 4 लाख का मुआवजा देती है लेकिन सरकार की नाकामी के कारण पलायन कर रोजी-रोटी के लिए बाहर गए बिहारी श्रमवीरों को आतंकवादियों द्वारा मारे जाने पर 2 लाख रुपए देती है।"

कश्मीर को सुधारने की जिम्मेवारी हम बिहारियों पर छोड दीजिए

इधर, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी ने तो बिहार के लोगों को कश्मीर सौंप देने की बात कर रहे हैं। मांझी ने सोमवार को कहा कि, "कश्मीर में लगातार हमारे निहत्थे बिहारी भाईयों की हत्या की जा रहीं है, जिससे मन व्यथित है। अगर हालात में बदलाव नहीं हो पा रहें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी और गृह मंत्री अमित शाह जी से आग्रह है, कश्मीर को सुधारने की जिम्मेवारी हम बिहारियों पर छोड दीजिए, 15 दिन में सुधार नहीं दिया तो कहिएगा।"

तेजस्वी राजनीतिक पत्थरबाज की भूमिका न निभायें 

इधर, भाजपा ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री और प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने तेजस्वी यादव के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि तेजस्वी राजनीतिक पत्थरबाज की भूमिका न निभायें और बतायें कि 370 धारा एवं 35ए को खत्म करने के विरोध में बयान देकर किसको खुश करना चाहते हैं? क्या पाकिस्तान, तालिबान और आतंकवादियों को खुश करना चाहते है?

जाहिर तौर पर राजद की घटिया मानसिकता और राष्ट्रविरोधी भावना झलक रही है

उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की सरकार और सुरक्षा बल की आतंकवादियों के खात्मे के लिए जो कार्रवाई है और फिर कश्मीर में शांति बहाली के लिए प्रयास है, उसके खिलाफ तेजस्वी यादव बोल रहे हैं। उन्होंने कहा, "जाहिर तौर पर राजद की घटिया मानसिकता और राष्ट्रविरोधी भावना झलक रही है। ऐसा बयान देकर तेजस्वी जो धार्मिक तुष्टीकरण की राजनीति का संदेश देना चाहते हैं वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है।"

मांझी की PM मोदी से अपील- बिहारियों को 15 दिन का मौका दे केंद्र, कश्मीर को नहीं सुधार दिया तो कहिएगा