BREAKING NEWS

किसान आंदोलन को बदनाम करने की साजिश हुई कामयाब : हन्नान मोल्लाह◾किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान भड़की हिंसा में 300 पुलिसकर्मी हुए घायल, क्राइम ब्रांच करेगी जांच◾ट्रैक्टर परेड हिंसा : संयुक्त किसान मोर्चा ने बुलाई बैठक, सभी पहलुओं पर होगी चर्चा ◾DND फ्लाईओवर पर लगा भारी जाम, लाल किला मेट्रो स्टेशन की एंट्री व एग्जिट बंद ◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे में 12 हजार नए केस, 137 मरीजों की हुई मौत ◾वीडियो वायरल होने के बाद बोले राकेश टिकैत-लाठी कोई हथियार नहीं◾विश्व में कोरोना का प्रकोप जारी, मरीजों का आंकड़ा 10 करोड़ से पार ◾किसानों की ट्रैक्टर परेड में बवाल, दिल्ली पुलिस ने हिंसा के मामले में 22 FIR दर्ज की ◾TOP 5 NEWS 27 DECEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾राकांपा अध्यक्ष शरद पवार बोले- दिल्ली में जो कुछ हुआ, उसका समर्थन नहीं किया जा सकता ◾संयुक्त किसान मोर्चा ने की दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान भड़की हिंसा की निंदा ◾आज का राशिफल (27 जनवरी 2021)◾ट्रैक्टर मार्च के दौरान हिंसा के बाद इंटरनेट सेवाएं बंद◾दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा, लालकिले में भी प्रदर्शनकारियों ने मचाया उत्पात ◾प्रदर्शनकारी किसानों की ‘ट्रैक्टर परेड’ के दौरान हिंसा में 86 पुलिसकर्मी घायल हुए◾ट्रैक्टर परेड के बाद किसानों ने दिल्ली की सीमाओं पर अपने प्रदर्शन शिविरों में लौटना शुरू किया◾बवाल : गाजीपुर, सिंघू, टिकरी बॉर्डर से बैरिकेड तोड़ दिल्ली में घुसे किसान, पुलिस ने दागे आंसूगैस के गोले ◾राजपथ पर अत्याधुनिक हथियार, मिसाइल, लड़ाकू विमानों, भारतीय सैनिकों ने दिखाई भारत की ताकत ◾72वां गणतंत्र दिवस : राजपथ पर दिखी ऐतिहासिक विरासत, सांस्कृतिक धरोहर और शौर्य की झलक◾पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की दी शुभकामनाएं ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

शरणार्थियो का आना पूर्वोत्तर के राज्यों में लोगों को समस्या हो सकती है:मोदी

पटना : उपमुख्यमंत्री सुशील कुमा रमोदी ने कहा है कि नये नागरिकता कानून को लेकर पंजाब, पश्चिम बंगाल असम और पूर्वोत्तर के उन राज्यों में लोगों को कुछ समस्या हो सकती है, जहां पड़ोसी देशों से शरणार्थियों का आना हुआ है। गृह मंत्री ने उनकी आपत्तियों को ध्यान में रख कर कानून में बदलाव के संकेत भी दिये हैं, लेकिन बिहार.झारखंड में कोई शरणार्थी समस्या नहीं है। राजद और कांग्रेस के लोग बतायें कि जब नागरिकता कानून से बिहार पर कोई सीधा असर ही नहीं पड़ता, तब इसके विरोध में उकसा कर राज्य का अमन.चैन छीनने की कोशिश क्यों की जा रही है? क्या नागरिकता बिल के बहाने संसदीय चुनाव में सूपड़ा साफ होने का बदला शांतिप्रिय जनता से लिया जाएगा?

श्री मोदी ने बताया कि संशोधित नागरिकता कानून पाकिस्तान सहित तीन मुसलिम पड़ोसी देशों में वर्षों तक अत्याचार सहने के बाद भारत में शरण लेने वाले हिंदू-ईसाई, पारसी सहित वहां के छह अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को मानवता के नाते नागरिकता देने के लिए हैं, किसी भारतीय की नागरिकता को छीनने या उसके अधिकारों में कोई कटौती करने के लिए नहीं। गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में सभी शंकाओं का बिंदुवार निराकरण किया।इसके बावजूद कांग्रेस और राजद जैसे दल इस मुद्दे पर एक समुदाय को भडक़ा कर अशांति फैलाना चाहते हैं।

नागरिकता कानून का संबंध भारत के अल्पसंख्यकों से बिल्कुल नहीं, लेकिन राजद और कांग्रेस इस समुदाय को बेवजह डराकर केवल वोट बैंक की राजनीति कर रहे हैं। इन दलों को बताना चाहि, कि लालू.राबड़ी के 15 साल के शासन में कितने अल्पसंख्यकों को नौकरी मिली और इनकी तालीम के लिए क्या किया गया? एनडीए सरकार ने एएमयू का किशनगंज कैम्पस शुरू किया, कब्रिस्तान की घेराबंदी करायी और पटना सिटी में इस्लामिक सेंटर का विकास किया। अल्पसंख्यकों को हताश विरोधी दलों की बंदूकों के लिए कंधा बनने के बजाय सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास की नीति पर चलने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर यकीन करना चाहिए।