BREAKING NEWS

बिहार : प्रशांत किशोर बोले- नीतीश कुमार मेरे पिता के समान◾लापता नहीं हुआ आतंकी मसूद अजहर, कड़ी सुरक्षा के बीच परिवार के साथ पाक में ही छिपा बैठा है◾विदेश मंत्री जयशंकर ने यूरोपीय संघ के नेताओं से की मुलाकात, विभिन्न मुद्दों पर की बात◾कोरोना वायरस से चीन में 1,868 लोगों की मौत, लगातार बढ़ रही मरने वालों की संख्या ◾मुख्यमंत्री केजरीवाल बोले- दिल्ली में जल्द ही दूर होगी बसों की कमी◾स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को बोला-'बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना'◾केंद्र सरकार को कम से कम अब हमसे बात करनी चाहिए: शाहीन बाग प्रदर्शनकारी ◾केजरीवाल ने जल विभाग सत्येंन्द्र जैन को दिया, राय को मिला पर्यावरण विभाग ◾कश्मीर पर टिप्पणी करने वाली ब्रिटिश सांसद का भारत ने किया वीजा रद्द, दुबई लौटा दिया गया◾हर्षवर्धन ने वुहान से लाए गए भारतीयों से की मुलाकात, आईटीबीपी के शिविर से 200 लोगों को मिली छुट्टी ◾ जामिया प्रदर्शन: अदालत ने शरजील इमाम को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा ◾दिल्ली सरकार होली के बाद अपना बजट पेश करेगी : सिसोदिया ◾झारखंड विकास मोर्चा का भाजपा में विलय मरांडी का पुनः गृह प्रवेश : अमित शाह ◾दोषियों के खिलाफ नए डेथ वारंट पर निर्भया की मां ने कहा - उम्मीद है आदेश का पालन होगा ◾सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित : रविशंकर प्रसाद ◾शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा - प्रदर्शन करने का हक़ है पर दूसरों के लिए परेशानी पैदा करके नहीं ◾निर्भया मामले में कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट , 3 मार्च को दी जाएगी फांसी◾महिला सैन्य अधिकारियों पर कोर्ट का फैसला केंद्र सरकार को करारा जवाब : प्रियंका गांधी वाड्रा◾शाहीन बाग : प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए SC ने नियुक्त किए वार्ताकार◾सड़क पर उतरने वाले बयान पर कायम हैं सिंधिया, कही ये बात ◾

नागरिकता कानून के खिलाफ राजद का बिहार बंद का दिखा असर

पटना : नागरिकता कानून के खिलाफ राजद का आहूत बिहार बंद का असर राजधानी समेत पूरे प्रदेश में रहा। राजद समेत महागठबंधन के सहयोगी दलों के कार्यकत्र्ता सडक़ों पर आग जलाकर एवं रेल पटरी को जामकर आवागमन ठप किया। आवागमन बाधित होने से यात्रियों को काफी परेशानी का सामना क रना पड़ा। राजधानी में वाहनों के बंद रहने से कार्यालय एवं गंतव्य स्थानों तक पहुंचने वालों को ठंड में कई किमी तक पैदल चलने को मजबूर हुए। सुबह से ही राजधानी का व्यस्तम डाकबंगला चौराहा, आयकर गोलम्बर पर राजद,  रालोसपा, कांग्रेस, सपा के कार्यकत्र्ता सडक़ पर उतर कर नागरिकता कानून केखिलाफ प्रदेर्शन कर अपना विरोध जताना शुरू कर दिया। 

इसी प्रकार प्रदेश के अध्यक्ष शहरों में भी राजद एवं महागठबंधन के सहयोगी दलों के नेता के नेतृत्व में कार्यकत्र्ता सडक़ पर आग जलाकर आवागमन बाधित किया। बंद समर्थकों ने राजधानी क कुम्हरार में रेल पटरी पर उतर कर रेल सेवा बाधित किया वहीं कुर्जी में बंद समर्थकों ने जमकर बवाल काटा। सडक़ पर आग जलाकर आवागमन बाधित किया। निजी वाहनों को सख्ती से बंद करायीगयी। इससे यात्रियों को न केवल परेशानी झेलनी पड़ी बल्कि ठंड का भी सामना करना पड़ा। वहीं सपा कार्यकत्र्ताओं ने विरोध जताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला भी जलाया। इनकम टैक्स पर बंद समर्थकों ने ट्रैफिक डीएसपी की गाड़ी को भी रोक दिया। 

रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ पार्टी कार्यालय से प्रदर्शन करते हुए डाकबंगला चौराहा पहुंचे। श्री कुशवाहा ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून हिन्दु बनाम मुसलमान का केवल मामला नहीं है बल्कि केन्द्र सरकार का दलित, गरीब, पिछड़ा भी निशाना है। इस कानून के सहारे भाजपा वाले भाजपा एवं आरएसएस की नीतियों पर नहीं चलने वालों से हिन्दुस्तानी  होने का दस्तावेज की मांग करेंगे। देश का गरीब, पिछड़ा दस्तावेज कहां से लायेंगे। 

उन्होंने कहा कि देश में रोजगार पर चर्चा होनी चाहिए। युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा। केन्द्र सरकार को नौजवानों की फिक्र नहीं है। नागरिकता कानून पर पूरा देश जल रहा है। इस कानून के खिलाफ हमारी लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक सरकार यह कानून वापस नहीं लेती है। वीआईपी नेता संतोष कुशवाहा ने कहा कि केन्द्र की सरकार सत्ता के नशे में चूर है। पूरा देश आग की लपटों में है। देश में अघोषित इमरजेंसी का माहौल बना हुआ है। केन्द्र सरकार मनमानी ढंग से काला कानून लागू करना चाहती है जिसका जनता विरोध करेगी।

वहीं भारतीय मित्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष धनेश्वर महतो ने कहा कि असम में जो एनआरसी लागू हुआ उसमें 15 लाख हिन्दू की नागरिकता समाप्त है। भाजपा विदेशियों को यहां शरण देना चाहता है और भारत में रहने वाले इस कानून के लागू होने से विदेशी हो रहे हैं। केन्द्र सरकार आधार कार्ड एवं पहचान पत्र की मान्यता नहीं देने की बात करती है लेकिन उन्हें पता होना चाहिए कि उसी पहचान पत्र के आधार पर उनकी सरकार बनी है। हमलोग देश में एनआरसी लागू नहीं होने देंगे।