BREAKING NEWS

झारखंड : गुमला में डायन होने के शक में 4 लोगों की पीट-पीटकर हत्या◾LIVE : शीला दीक्षित का आज होगा अंतिम संस्कार, कांग्रेस मुख्यालय के लिए निकला पार्थिव शरीर ◾कारगिल शहीदों की याद में दिल्ली में हुई ‘विजय दौड़’, लेफ्टिनेंट जनरल ने दिखाई हरी झंडी◾ आज सोनभद्र जाएंगे CM योगी, पीड़ित परिवार से करेंगे मुलाकात ◾शीला दीक्षित की पहले भी हो चुकी थी कई सर्जरी◾BJP को बड़ा झटका, पूर्व अध्यक्ष मांगे राम गर्ग का निधन◾पार्टी की समर्पित कार्यकर्ता और कर्तव्यनिष्ठ प्रशासक थीं शीला दीक्षित : रणदीप सुरजेवाला ◾सोनभद्र घटना : ममता ने भाजपा पर साधा निशाना ◾मोदी-शी की अनौपचारिक शिखर बैठक से पहले अगले महीने चीन का दौरा करेंगे जयशंकर ◾दीक्षित के बाद दिल्ली कांग्रेस के सामने नया नेता तलाशने की चुनौती ◾अन्य राजनेताओं से हटकर था शीला दीक्षित का व्यक्तित्व ◾जम्मू कश्मीर मुद्दे के अंतिम समाधान तक बना रहेगा अनुच्छेद 370 : फारुक अब्दुल्ला ◾दिल्ली की सूरत बदलने वाली शिल्पकार थीं शीला ◾शीला दीक्षित के आवास पहुंचे PM मोदी, उनके निधन पर जताया शोक ◾शीला दीक्षित कांग्रेस की प्रिय बेटी थीं : राहुल गांधी ◾जीवनी : पंजाब में जन्मी, दिल्ली से पढाई कर यूपी की बहू बनी शीला, फिर बनी दिल्ली की मुख्यमंत्री◾शीला दीक्षित ने दिल्ली एवं देश के विकास में दिया योगदान : प्रियंका◾शीला दीक्षित के निधन पर दिल्ली में 2 दिन का राजकीय शोक◾Top 20 News 20 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शीला दीक्षित के निधन पर जताया दुख ◾

बिहार

बिहार में वर्ष 2019-20 में 77279 हेक्टयर क्षेत्र में अतिरिक्त सिंचाई क्षमता के सृजन का लक्ष्य : संजय

बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने गुरूवार को कहा कि वर्तमान वित्तीय वर्ष 2019-20 में प्रदेश में 77279 हेक्टयर क्षेत्र में अतिरिक्त सिंचाई क्षमता के सृजन का लक्ष्य हैऔर 112874 हेक्यर क्षेत्र में ह्रासित सिंचाई क्षमता का पुनर्स्स्थापन किया जाएगा । 

बिहार विधानसभा में गुरूवार को वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए जल संसाधन विभाग के 36 अरब 52 करोड 30 लाख 15 हजार रूपये से अनधिक के आय-व्यय पर चर्चा के बाद सरकार की ओर से जवाब देते हुए वृहद एवं मध्यम सिंचाई योजनाओं से राज्य में सृजित होने वाली इष्टतम सिंचाई क्षमता 53.53 लाख हेक्टयर के विरूद्ध मार्च 2019 में बढकर यह 30.04 हेक्टयर हो गया है और करीब 23.5 हेक्टयर सिंचाई क्षमता का सृजन हमें और करना है। 

उन्होंने बताया कि वर्ष 2005 से अबतक बिहार में सिंचाई की कुल सृजन क्षमता बढकर 3.5 लाख हेक्टयर बढी है। 
संजय ने बताया कि वर्ष 2004-05 में जल संसाधन विभाग का कुल योजना व्यय जहां 361.66 करोड रूपये था, वर्ष 2018-19 में यह बढकर 2964.14 करोड रूपये हो गया। 

उन्होंने कहा कि नदी जोडो योजना के तहत 4900 करोड रूपये की लागत वाली कोसी—मेची लिंक योजना की स्वीकृति अंतिम चरण में है और इस योजना से अररिया, कटिहार, किशनगंज एवं पूर्णिया जिले के 21 प्रखंडों में 210516 हेक्टयर क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। 

संजय ने कहा कि फरक्का बराज के कुप्रभाव के कारण गंगा जिसकी बिहार में कुल लंबाई में 445 किलोमीटर है, में उत्पन्न गाद की समस्या के कारण इस नदी की अविरलता घटती जा रही है। 

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हमेशा कहते रहे हैं कि गंगा की निर्मलता उसकी अविरलता के बिना संभव नहीं है। संजय ने कहा कि गंगा में गाद की समस्या को लेकर दो सम्मेलन पटना और नई दिल्ली में बिहार सरकार द्वारा आयोजित किया गया था एवं उसके फलाफल पर आवश्यक कार्रवाई के लिए भारत सरकार के जलसंसाधन विभाग को भेजा गया। 
उन्होंने कहा कि गंगा नदी में उत्पन्न गाद के कारण बिहार के लगातार प्रभावित होने को ध्यान में रखते हुए फरक्का बराज के सरंचना में बदलाव की आवश्यक्ता है। 

संजय ने बताया कि लगातार कम वर्षापात के कारण जल संकट से निपटने और इसके प्रबंधन और संरक्षण के लिए दीर्घकालीन प्रणाली विकसित किए जाने को लेकर आगामी 13 जुलाई को बिहार विधानसभा के सेंट्रल हाल में बिहार विधानमंडल के सभी सदस्यों से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विचार विमर्श करेंगे। 

उन्होंने कहा कि बाढ की समस्या के निदान के लिए बिहार में 3790 किलोमीटर तटबंध और नेपाल भाग 68 किलोमीटर तटबंध का निर्माण कराया गया है। 

संजय ने बताया कि सप्त कोसी हाई डैम के निर्माण के लिए शीर्ध डीपीआर तैयार करने के लिए केंद्र सरकार से आग्रह किया गया है। 

उन्होंने बताया कि इस वर्ष आने वाली बाढ के मद्देनजर बाढ सुरक्षात्मक कार्य से जुडी 208 योजनाओं में से 202 योजनाओं का काम पूरा कर लिया गया है। 

मंत्री के जवाब से असंतुष्ट विपक्षी सदस्य उनके जवाब के दौरान ही सदन से वाकआउट कर गए। मंत्री के जवाब के बाद विपक्षी सदस्यों की अनुपस्थिति में सदन ने जल संसाधन विभाग के बजटीय मांग को ध्वनि मत से पारित कर दिया।