BREAKING NEWS

पंजाब, हरियाणा के किसान कृषि विधेयकों के खिलाफ 25 सितम्बर को करेंगे विरोध प्रदर्शन◾MP में किसानों के फसल कर्ज माफी पर बोले राहुल - कांग्रेस ने जो कहा, सो किया◾KXIP VS RCB (IPL 2020) : रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की करारी हार, किंग्स इलेवन पंजाब ने RCB को 97 रनों से हराया◾भारत-चीन सीमा विवाद : दोनों पक्ष सैनिकों को पीछे हटाने के लिए वार्ता जारी रखेंगे - विदेश मंत्रालय◾ड्रग्स केस: गोवा से मुंबई पहुंचीं दीपिका पादुकोण, शनिवार को NCB करेगी पूछताछ◾ KXIP vs RCB IPL 2020 : पंजाब ने बैंगलोर को दिया 207 रनों का टारगेट, केएल राहुल ने जड़ा शतक◾महाराष्ट्र में कोरोना के 19164 नए केस, 17185 मरीज हुए ठीक◾जाप ने जारी किया चुनावी घोषणा पत्र, बेरोजगारों को रोजगार देने का किया वादा ◾COVID-19 से संक्रमित मनीष सिसोदिया डेंगू से भी पीड़ित हुए, लगातार गिर रही है ब्लड प्लेटलेट्स◾कृषि और श्रम कानून को लेकर राकांपा का केंद्र पर तंज, कहा- ईस्ट इंडिया कंपनी स्थापित कर रही है सरकार ◾महिला अपराध पर सीएम योगी सख्त, छेड़खानी और बलात्कारियों के पोस्टर लगाने का दिया आदेश ◾कांग्रेस का बड़ा आरोप - केंद्र सरकार ने कृषि विधेयकों के जरिए नयी जमींदारी प्रथा का उद्घाटन किया◾IPL 2020 KXIP vs RCB: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का किया फैसला◾कृषि बिल के विरोध पर बोले केंद्रीय मंत्री तोमर, कांग्रेस पहले अपने घोषणापत्र से मुकरने की करे घोषणा◾महीनों के लॉकडाउन के बाद भी नहीं थम रहा है कोरोना, जानिये भारत क्यों चुका रहा है भारी कीमत◾केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने कहा- विपक्षी दलों की राजनीति हो गई है दिशाहीन ◾ICU में भर्ती डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की हालत स्थिर, अगले कुछ दिनों में फिर होगा कोरोना टेस्ट ◾रेलवे ने जताई चिंता - 'रेल रोको आंदोलन' से जरूरी सामानों और राशन की आवाजाही पर पड़ेगा असर ◾महाराष्ट्र : एकनाथ शिंदे भी कोरोना वायरस से संक्रमित, संपर्क में आए लोगों से जांच करवाने की अपील की ◾कांग्रेस ने अमित शाह की रैली को बताया जनता का अपमान, कोरोना संकट में धनबल की राजनीति का लगाया आरोप◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

तेजस्वी यादव ने लोगों से फर्जी राष्ट्रवाद, दुष्प्रचार से सतर्क रहने की अपील की

राजद नेता तेजस्वी यादव ने मतदाताओं से, “हिंदू बनाम मुसलमान और फर्जी राष्ट्रवाद जैसे मुद्दों” से सतर्क रहने तथा दुष्प्रचार से प्रभावित हुए बिना सरकार चुनने की अपील की। बिहार में हाल में संपन्न हुए विधानसभा सत्र से अपनी गैर मौजूदगी को लेकर सत्ता पक्ष की आलोचनाओं का बार-बार शिकार हो रहे नेता प्रतिपक्ष ने बृहस्पतिवार को एक लंबे फेसबुक पोस्ट में अपने विचार साझा किए। 

लोकसभा चुनावों में पार्टी का खाता भी नहीं खुल पाने के बाद से ही वह निराश चल रहे हैं। यादव ने ‘दिल की बात’ शीर्षक से लिखे पोस्ट में कहा, “लोगों को दुष्प्रचार से प्रभावित हुए बिना उनकी रोजमर्रा की जिंदगी को प्रभावित करने वाले मुद्दों को जहन में रखते हुए सरकार चुननी चाहिए।” बिहार में विधानसभा चुनाव अगले साल होने हैं। 

हरसिमरत कौर ने सिख विरोधी दंगे और जलियांवाला बाग नरसंहार को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना

यादव ने लिखा, “अगर लोग हिंदू बनाम मुसलमान और फर्जी राष्ट्रवाद जैसे मुद्दों में उलझे रहेंगे, महज 6,000 रुपये सालाना जैसे प्रलोभनों में आ जाएंगे जो प्रतिदिन के लिहाज से मात्र 17 रुपये है तो किसी भी सरकार को उनकी समस्याओं को सुलझाने की जरूरत क्यों महसूस होगी।” उनका इशारा भाजपा नीत केंद्र सरकार की ‘किसान सम्मान निधि योजना’ की तरफ था जिसके तहत छोटे एवं वंचित किसान परिवारों को सालाना 6,000 रुपये का आय समर्थन दिया जाएगा जिनके पास भूमि का संयुक्त स्वामित्व है या दो हेक्टेयर भूमि का स्वामित्व है। साथ ही यादव ने नीतीश कुमार सरकार द्वारा हर बार 25-30 साल पहले की स्थिति का हवाला देने को लेकर भी शिकायती लहजा अपनाया जब राज्य में उनके पिता लालू यादव और बाद में उनकी मां राबड़ी देवी का शासन था।