BREAKING NEWS

गणतंत्र दिवस पर सैन्य शक्ति, सांस्कृतिक विरासत और सामाजिक-आर्थिक प्रगति का होगा भव्य प्रदर्शन◾अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार मिलने पर हरदीप सिंह पुरी ने दी बधाई ◾पूर्व मंत्रियों अरूण जेटली, सुषमा स्वराज और जार्ज फर्नांडीज को पद्म विभूषण से किया गया सम्मानित, देखें पूरी लिस्ट !◾कोरोना विषाणु का खतरा : करीब 100 लोग निगरानी में रखे गए, PMO ने की तैयारियों की समीक्षा◾गणतंत्र दिवस : चार मेट्रो स्टेशनों पर प्रवेश एवं निकास कुछ घंटों के लिए रहेगा बंद ◾ISRO की उपलब्धियों पर सभी देशवासियों को गर्व है : राष्ट्रपति ◾भाजपा ने पहले भी मुश्किल लगने वाले चुनाव जीते हैं : शाह◾यमुना को इतना साफ कर देंगे कि लोग नदी में डुबकी लगा सकेंगे : केजरीवाल◾उमर की नयी तस्वीर सामने आई, ममता ने स्थिति को दुर्भाग्यपूर्ण बताया◾ओम बिरला ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी◾PM मोदी ने पद्म पुरस्कार पाने वालों को दी बधाई◾भारत और ब्राजील आतंकवाद के खिलाफ आपसी सहयोग बढ़ाने का किया फैसला◾370 के खात्मे के बाद कश्मीर में शान से फहरेगा तिरंगा : अमित शाह◾देशवासियों को बांटने, संविधान को कमजोर करने की हो रही साजिश : सोनिया◾PM मोदी और नेतन्याहू ने फोन पर वैश्विक और क्षेत्रीय मामलों पर चर्चा की◾गांधी शांति यात्रा पहुंची आगरा ◾भारत-नेपाल सीमा पर पहुंचा कोरोना वायरस, बॉर्डर पर होगी स्क्रीनिंग◾ दिल्ली चुनाव : 250 नेता, हर दिन 500 जनसभाएं, इस तरह माहौल बनाने में जुटी है भाजपा◾आर्थिक विकास के लिए संविधान के मुताबिक चलना होगा - कोविंद◾भूमि सुधार कानून में बदलाव होगा : येदियुरप्पा◾

शनिवार को भी RJD की बैठक में नहीं पहुंचे तेजस्वी यादव, कई तरह की चर्चाएं तेज

बिहार की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। लोकसभा चुनावों में करारी हार के बाद पार्टी के भीतर उथल-पुथल मची हुई है। राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने शुक्रवार को कहा था कि तेजस्वी शनिवार को पार्टी की बैठक में हिस्सा लेंगे। हालांकि इसके बाद भी तेजस्वी शनिवार को पार्टी की बैठक में भाग लेने पटना नहीं पहुंचे। इसके बाद बिहार की राजनीति में कई तरह के कयास लगने शुरू हो गए। 

राबड़ी देवी की अध्यक्षता में उनके आवास पर सदस्यता अभियान की समीक्षा की बैठक शुक्रवार को हुई थी। उन्होंने कहा था कि शनिवार को तेजस्वी यादव आएंगे और फिर उनके साथ ही एक बार दोबारा बैठक होगी.बैठक में निर्णय लिया गया कि अगली बैठक में ही सदस्यता अभियान की आगे की नीतिया बनाई जाएंगी। 

हालांकि तेजस्वी यादव शनिवार की बैठक में भी हिस्सा लेने नहीं पहुंचे इसीलिए बैठक को स्थागित कर दिया गया। राजद की अहम बैठकों से दूर रहने के बाद अब उनकी की पार्टी के कुछ नेताओं ने कहा कि ऐसी आशंका है कि शायद तेजस्वी पार्टी के मुख्य बनना चाहते है। हालांकि इन बातों में कितना सच है और कितना झूठ ये तो तेजस्वी ही बता सकते है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, दो दिन पहले लालू प्रसाद यादव से मिलकर लौटे उनके बड़े बेटे तेजप्रताप ने पटना में कहा कि लालू ही पार्टी के अध्यक्ष बनेंगे। ऐसे में तेजस्वी की पार्टी बैठकों से दूर रहने का एक कारण यह भी हो सकता है।