BREAKING NEWS

सुखबीर ने नगर निकाय चुनाव से पहले कांग्रेस सरकार पर साधा निशाना ◾भारत से कोविड-19 टीके की खेप बांग्लादेश, नेपाल पहुंचीं◾कृषि मंत्री ने किसानों के साथ अगले दौर की वार्ता से पहले अमित शाह से मुलाकात की ◾संयुक्त किसान मोर्चा ने सरकार का प्रस्ताव किया खारिज, किसान अपनी मांगों पर अड़े◾मुख्यमंत्री केजरीवाल का आदेश, कहा- झुग्गी झोपड़ी में रहने वालों को जल्दी से जल्दी फ्लैट आवंटित किए जाएं ◾ममता की बढ़ी चिंता, मौलाना अब्बास सिद्दीकी ने बंगाल में बनाई नई राजनीतिक पार्टी, सभी सीटों पर लड़ सकती है चुनाव ◾सीरम इंस्टीट्यूट में भीषण आग से 5 मजदूरों की मौत, CM ठाकरे ने दिए जांच के आदेश◾चुनाव से पहले TMC को झटके पर झटका, रविंद्र नाथ भट्टाचार्य के बेटे BJP में होंगे शामिल◾रोज नए जुमले और जुल्म बंद कर सीधे-सीधे कृषि विरोधी कानून रद्द करे सरकार : राहुल गांधी ◾पुणे : दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन निर्माता में से एक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में लगी आग◾अरुणाचल प्रदेश में गांव बनाने की रिपोर्ट पर चीन ने तोड़ी चुप्पी, कहा- ‘हमारे अपने क्षेत्र’ में निर्माण गतिविधियां सामान्य ◾चुनाव से पहले बंगाल में फिर उठा रोहिंग्या मुद्दा, दिलीप घोष ने की केंद्रीय बलों के तैनाती की मांग◾ट्रैक्टर रैली पर किसान और पुलिस की बैठक बेनतीजा, रिंग रोड पर परेड निकालने पर अड़े अन्नदाता ◾डेजर्ट नाइट-21 : भारत और फ्रांस के बीच युद्धाभ्यास, CDS बिपिन रावत आज भरेंगे राफेल में उड़ान◾किसानों का प्रदर्शन 57वें दिन जारी, आंदोलनकारी बोले- बैकफुट पर जा रही है सरकार, रद्द होना चाहिए कानून ◾कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में प्रधानमंत्री मोदी और सभी मुख्यमंत्रियों को लगेगा टीका◾दिल्ली में अगले दो दिन में बढ़ सकता है न्यूनतम तापमान, तेज हवा चलने से वायु गुणवत्ता में सुधार का अनुमान ◾देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 15223 नए केस, 19965 मरीज हुए ठीक◾TOP 5 NEWS 21 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾विश्व में आखिर कब थमेगा कोरोना का कहर, मरीजों का आंकड़ा 9.68 करोड़ हुआ ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

राजद के हंगामे से आज अंतिम दिन भी परिषद में नहीं हुआ कामकाज

बिहार सरकार के वित्त पोषित एवं संचालित आश्रय गृह के मामले को लेकर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सदस्यों के जोरदार हंगामे के कारण शीतकालीन सत्र के अंतिम दिन आज विधान परिषद, में भोजनावकाश से पूर्व कोई कामकाज नहीं हुआ। परिषद के कार्यकारी सभापति हारुण रशीद के आसन ग्रहण करते ही राजद के सुबोध कुमार ने कार्यस्थगन प्रस्ताव के जरिये सरकार द्वारा वित्त पोषित एवं संचालित आश्रय गृहों में रहने वाले बच्चे-बच्चियों के साथ बलात्कार तथा शारीरिक यातना की घटनाओं को उठाया। उन्होंने कहा कि शर्मनाक और दुखद बात यह है कि सरकार इस तरह के अपराध करने वालों को समुचित दंड देने के बजाए अपराधियों को बचाने में लगी है।

इसके लिए प्राथमिकी को कमजोर कर धाराएं लगायी गयी हैं तथा सारे साक्ष्य एवं गवाहों को समाप्त करने के प्रयास किये गये हैं। राजद सदस्य ने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने भी कहा है कि यह शर्मनाक है कि सरकार दोषियों को बचाने में लगी है। साथ ही उच्चतम न्यायालय ने यह भी कहा है कि बच्चों के साथ कुकर्म होता है और सरकार कहती है कि कुछ नहीं हुआ। यह अमानवीय है।

बाद में भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी-लेनिनवादी (भाकपा-माले) के महबूब आलम, राजद के आलोक मेहता और भाई वीरेन्द, ने विधानमंडल परिसर में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पश्चिम चंपारण के चिउंटहा की बेनामी गैर मजरुआ जमीन ऐसे लोगों के नाम हैं जिनका कोई अता-पता नहीं है। उस जमीन पर पिछले तीस वर्षों से 343 गरीबों का कब्जा है। पिछले दिनों प्रशासन ने इस मामले को कानून व्यवस्था की बजाये भूमि के मालिकाना हक का मामला माना था लेकिन वर्तमान प्रशासन उस जमीन से गरीबों को बेदखल कर रहा है।

यहां तक कि लोगों ने जो फसलें खेतों में लगा रखी है उसे प्रशासनिक संरक्षण में गुंडे काट रहे हैं। श्री आलम ने कहा कि ऐसा माहौल बनाया जा रहा है ताकि गरीब अपनी जमीन छोड़ दें। आज पूरे चंपारण में करीब तीन हजार एकड़ जमीन से वैसे गरीबों को बेदखल किया जा रहा है, जो वहां वर्षो से रह रहे थे। इसके पीछे प्रशासन,भू माफिया,अपराधी और राजनेता का गठजोड़ है।

 भाकपा माले नेता ने कहा कि इसी तरह बेगूसराय के चेरियाबरियारपुर, समस्तीपुर के सिंघिया, गया के बाराचट्टी और दरभंगा के कई इलाकों में सामंती-अपराधी ताकतें गरीबों को जमीन से बेदखल करने के उद्देश्य से हमला कर रही है। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि पूरे बिहार से गरीबों को उजाड़ने का सरकार ने अभियान चला रखा है।