BREAKING NEWS

बिलकिस बानो केस के दोषियों की रिहाई को लेकर राहुल का तंज, कहा-PM की कथनी और करनी को देख रहा है देश◾Yamuna Water Level : दिल्ली में यमुना नदी का जल स्तर एक बार फिर खतरे के पार पहुंचा◾Assembly Elections : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आज से गुजरात दौरा, चुनावी तैयारियों की करेंगे समीक्षा◾Central University Admission : CUET-ग्रेजुएट का चौथा चरण आज से शुरू हो गया ◾संगीत सोम का मंच से धमकी भरा बयान, कहा-'मैं अभी गया नहीं, अब भी 100 विधायकों के बराबर हूं'◾बीजेपी के निशाने पर कांग्रेस, सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए आतंकवाद, भ्रष्टाचार और परिवारवाद का लगाया आरोप ◾एक्सप्रेस ट्रेन और मालगाड़ी में जोरदार टक्कर,चार पहिए पटरी से उतरे, मची अफरा-तफरी ◾महाराष्ट्र : आज से शुरू होगा विधानसभा का मानसून सत्र, पहली बार विपक्ष में बैठेंगे आदित्य ठाकरे◾Coronavirus : 24 घंटे में दर्ज हुए 9 हजार केस, 2.49% रहा डेली पॉजिटिविटी रेट◾Jammu Kashmir: सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड फेंक फरार हुए आतंकी, सर्च अभियान में हथियार-गोलाबारूद बरामद◾मुश्किलों में फंस सकते है कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल, सीबीआई कसेगी शिकंजा ◾आज का राशिफल (17 अगस्त 2022)◾बिहार में मिशन 35 प्लस के लक्ष्य के साथ नीतीश-तेजस्वी सरकार के खिलाफ मैदान में उतरेगी भाजपा◾PM मोदी और मैक्रों ने भू-राजनीतिक चुनौतियों, असैन्य परमाणु ऊर्जा सहयोग पर चर्चा की◾अपने अंतिम दिनों में, ठाकरे सरकार ने जल्दबाजी में लिए फैसले : CM शिंदे◾ चीनी पोत पहुंचा श्रीलंका हम्बनटोटा बंदरगाह , भारत ने जताई जासूसी की आशंका◾चीनी ‘जासूसी पोत’ पहुंचा श्रीलंकाई बंदरगाह , बीजिंग बोला-जहाज किसी के सुरक्षा हितों के लिए खतरा नहीं◾दिल्ली में फिर से आया कोरोना, 917 नए मामले आये सामने , तीन की मौत◾कांग्रेस संगठन में बड़ा बदलाव, रसूल वानी बने जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष◾AAP सरकार के पांच महीने पूरे होने पर 5 मंत्रियों ने पेश किया रिपोर्ट कार्ड◾

ग्रामीण बिहार के बड़े हिस्से में भूजल में व्यापक पैमाने पर है रासायनिक संदूषण

ग्रामीण बिहार के बड़े हिस्से में भूजल में व्यापक पैमाने पर रासायनिक संदूषण है, जहां पीने के पानी के स्रोत उपयोग के लिए असुरक्षित हैं और आबादी के लिए स्वास्थ्य जोखिम पैदा करते हैं। राज्य आर्थिक सर्वेक्षण 2021-22 में यह खुलासा हुआ है।

30,272 ग्रामीण वार्डों में भूजल में रासायनिक संदूषण

हाल ही में उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद द्वारा विधानसभा में पेश 16वीं बिहार आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट 2021-22 में कहा गया है कि राज्य के 38 में से 31 जिलों के ग्रामीण इलाकों में भूजल आर्सेनिक, फ्लोराइड और लौह संदूषण से प्रभावित हैं। रिपोर्ट में कहा गया, “38 में से 31 जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों में भूजल में आर्सेनिक, फ्लोराइड और लौह की उच्च सांद्रता प्रमुख तौर पर स्वास्थ्य संबंधी खतरा पैदा कर रही है। 30,272 ग्रामीण वार्डों में भूजल में रासायनिक संदूषण है।  इसके साथ ही गंगा के किनारे स्थित 14 जिलों में कुल 4,742 ग्रामीण वार्ड विशेष रूप से आर्सेनिक संदूषण से प्रभावित हैं।

कुछ क्षेत्रों में पानी में अतिरिक्त लोहे की उपस्थिति

इसमें कहा गया है कि 11 जिलों के 3,791 ग्रामीण वार्डों में पेयजल स्रोत फ्लोराइड संदूषण से प्रभावित हैं। कोसी बेसिन के नौ जिलों और अन्य जिलों के कुछ क्षेत्रों में पानी में अतिरिक्त लोहे की उपस्थिति है। दूषित पानी के सेवन से त्वचा, यकृत, गुर्दा और अन्य जल जनित रोग होते हैं। प्रभावित जिलों में बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, बक्सर, दरभंगा, कटिहार, खगड़िया, लखीसराय, मुंगेर, समस्तीपुर, सारण, सीतामढ़ी, पटना, वैशाली, औरंगाबाद, बांका, भागलपुर, गया, जमुई, कैमूर, मुंगेर, नालंदा, रोहतास, शेखपुरा, नवादा और अररिया शामिल हैं।

हम स्थिति की गंभीरता को समझते हैं

रिपोर्ट में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग (पीएचईडी) द्वारा बिहार के जल गुणवत्ता मानचित्रण से संबंधित आंतरिक मूल्यांकन और निष्कर्षों का उल्लेख किया गया है। इन प्रभावित जिलों में, लोगों को सुरक्षित पेयजल सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार विभाग ने पानी के गहरे बोरवेल खोदना शुरू कर दिया है। पीएचईडी सचिव जितेंद्र श्रीवास्तव ने बताया, “हम स्थिति की गंभीरता को समझते हैं, जिसके कारण विभाग सतही जल और भूजल के मिश्रण आधारित योजनाओं पर काम कर रहा है।