BREAKING NEWS

जोधपुर में 11 पाकिस्तानी शरणार्थियों के शव मिलने से हडकंप, जांच में जुटी पुलिस◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 96 लाख के पार, सवा सात लाख से अधिक लोगों की मौत ◾गृहमंत्री अमित शाह की कोरोना रिपोर्ट आई नेगेटिव, मनोज तिवारी ने ट्वीट कर दी जानकारी◾PM मोदी ने जारी की किसानों को 2,000 रुपए की छठी किस्त, एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड का किया उद्घाटन◾आत्मनिर्भर भारत पहल के लिए राजनाथ सिंह का अहम ऐलान - रक्षा के क्षेत्र में 101 उपकरणों के आयात पर बैन ◾BJP विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड का आरोपी राकेश पांडेय एनकाउंटर में ढेर◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में 65 हजार के करीब नए मरीजों का रिकॉर्ड, 861 लोगों ने गंवाई जान ◾आंध्र प्रदेश : विजयवाड़ा के कोविड केयर सेंटर में लगी आग, अब तक 7 की मौत◾एलएसी विवाद : डेपसांग से सैनिकों के पीछे हटाने को लेकर भारत और चीन के बीच मेजर जनरल स्तर की हुई वार्ता ◾जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच एनकाउंटर जारी ◾अभिनेता संजय दत्त की तबीयत अचानक बिगड़ी, मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती ◾केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल कोरोना पॉजिटिव पाए गए, एम्स के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती ◾गृह मंत्री अमित शाह ने की प्रधानमंत्री के ‘गंदगी भारत छोड़ो’ अभियान से जुड़ने की अपील ◾मोदी सरकार पर राहुल गांधी का हमला, बोले- जब-जब देश भावुक हुआ है, फाइलें गायब हुईं हैं◾पीएम मोदी के नए नारे पर राहुल का तंज: ‘असत्य की गंदगी’ भी साफ करनी है ◾राजस्थान का सियासी रण फिर गरमाया, दिल्ली में वसुंधरा ने डाला डेरा, नड्डा और राजनाथ से की मुलाकात◾पीएम मोदी ने दिया नया नारा - ‘देश को कमजोर बनाने वाली बुराइयां भारत छोड़ें, गंदगी भारत छोड़ो’◾4,000 टन ईंधन लदे जहाज में दरारे पड़ने से रिसाव, मॉरीशस की 13 लाख की आबादी पर मंडराया खतरा ◾दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1.44 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 1,404 नए केस◾पीएम मोदी ने दिल्ली में राष्ट्रीय स्वच्छता केंद्र का उद्घाटन किया ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

'बधाई हो' एक्ट्रेस सुरेखा सीकरी ने अपनी तंगहाली की खबरों का खंडन करते हुए कहा, 'मुझे भीख नहीं चाहिए...'

हिंदी सिनेमा की दिग्गज एक्ट्रेस सुरेखा सीकरी को लेकर इन दिनों मीडिया में खबरें आ रही हैं कि वह अपना जीवन तंगहाली में जी रही है। इस खबरों को लेकर वह बेहद परेशान हो चुकी हैं। उन्होंने इस बारे में कहा कि कोरोना वायरस के चलते जो बेरोजगारी पैदा हुई है उसकी वजह से खालीपन जरूर उनकी जिंदगी में आया है लेकिन किसी के सामने वह पैसे के लिए भीख नहीं मांग रहीं हैं। उन्होंने कहा कि आर्थिक रूप से सहायता करने के उनके दोस्तों की और से उनके पास कई ऑफर आए हैं लेकिन आत्मसम्मान के साथ वह अपना खर्चा कमा कर चलाना चाहती हैं। 

तमस, मम्मो और बधाई हो जैसी फिल्मों में सुरेखा ने बेहतरीन अदाकारी की है और दर्शकों के दिलों में अपनी खास पहचान बनाई है। हालांकि उन्हें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी मिला है। उन्होंने इस पर कहा, मैं लोगों के बीच में अपना कोई गलत प्रभाव नहीं छोड़ना चाहती जिससे लोग कहें कि मैं पैसों के लिए भीख मांग रही हूं। मैं किसी से कोई दान नहीं चाहती। बेशक मेरे पास मेरे कुछ दोस्त मदद के लिए तैयार हैं। वह बहुत दयालु हैं, इसके लिए मैं अपने आप को खुशनसीब समझती हूं। लेकिन, मैंने उनसे कुछ लिया नहीं। मैं चाहती हूं कि मुझे कुछ काम दो तो मैं सम्मान पूर्वक अपना घर चला सकूं।

देश में कोरोना महामारी को रोकने के लिए सरकार ने देशव्यापी लॉकडाउन लगा दिया था। लेकिन अब धीरे-धीरे सरकार की तरफ से रियायत दी जा रही है जिसके बाद एक बार फिर से शूटिंग नए निर्देशों के साथ शुरू की गयी है। लेकिन शूटिंग करने की इजाजत 65 साल से ऊपर के कलाकारों को नहीं दी गयी है। सुरेखा के पास कुछ विज्ञापन फिल्मों के ऑफर इस पर आवाज उठाने के बाद आए हैं। वह कहती हैं, अभी कुछ फाइनल नहीं किया गया है और यह मेरे लिए काफी भी नहीं हैं। मुझे और ज्यादा काम की जरूरत है जिससे कि मैं अपने दवाइयों के खर्च और दूसरे खर्चों को उठा सकूं। मुझे लगता है कि निर्माता फिलहाल जोखिम उठाने के लिए तैयार नहीं हैं।

दरअसल  ब्रेन स्ट्रोक साल 2018 में सुरेखा को हुआ था जिसके बाद आंशिक रूप से लकवे का शिकार वह हो गई थीं। अब तो वह धीरे पहले से बेहतर हो रही हैं लेकिन लगभग दो लाख रुपये हर महीने का उनका खर्चा होता है इसी वजह से थोड़ी आर्थिक समस्याओं से वह गुजर रही हैं। 

सुरेख ने बताया, इस महामारी ने चीजों को बहुत बुरा कर दिया है। वैसे अगर 65 साल से ऊपर के राजनीतिज्ञ और नौकरशाह काम कर सकते हैं तो कलाकार और तकनीशियन क्यों नहीं? हम भी तंगहाली से गुजर रहे हैं। इस तरह की बंदिशें हमारी परेशानियां को और ज्यादा बढ़ा रही हैं। ओटीटी पर रिलीज हुई  फिल्म 'घोस्ट स्टोरीज' में अंतिम बार  सुरेखा  नजर आईं थीं।