माहवारी के दौरान स्वच्छता व स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता फैलाती अक्षय कुमार की फिल्म ‘पैडमैन‘ अभी पाकिस्तान में रिलीज नहीं हुई है। लेकिन एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि पाकिस्तान में फिल्म की रिलीज के लिए अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) को लेकर इनकार नहीं किया गया है।

akshay_sonam

‘पैडमैन’ अरुणाचलम मुरुगनाथम द्वारा किफायती सैनिटरी नैपकिन बनाने के सफर की कहानी बयां करती है। मीडिया के एक वर्ग का कहना है कि इसके संवेदनशील विषय के कारण इसे पाकिस्तान में प्रतिबंधित कर दिया गया है। लेकिन पाकिस्तान सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष मोबाशिर हसन ने कहा कि एनओसी पर फैसला अभी तक नहीं लिया गया, क्योंकि फिल्म को अभी तक सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सेंसर ने नहीं देखी है।

akshay kumar

हसन के ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट और एक संदेश एप पर कहा, ‘एक विदेशी फीचर फिल्म ‘पैडमैन’ के रिलीज पर एनओसी जारी करने का निर्णय राष्ट्रीय सूचना प्रसारण और साहित्यिक विरासत मंत्रालय ने अभी तक नहीं लिया है, क्योंकि सेंसर बोर्ड ने अभी तक फिल्म नहीं देखी है।’

Padman

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तानी फिल्म दिखाने वाले लोग अक्षय कुमार अभिनीत फिल्म के विरोध में मुखर हो गए हैं, क्योंकि फिल्म इस्लामिक परंपरा, इतिहास और संस्कृति को बिगाड़ने के आधार पर है।

padman

हसन ने कहा, ‘विषय फिल्म को एनओसी देने का निर्णय फिल्म को पीछे से समर्थन देने वाले विभिन्न मीडिया प्लेटफार्मो द्वारा झूठे और गैर-जिम्मेदार राजनीतिक मकसद की योग्यता और मानदंडों के आधार पर किया जाएगा।’

padman

उन्होंने कहा, ‘किसी भी मुद्दे पर बयान देने से पहले अखंडता के सिद्धांतों को बनाए रखने की सलाह दी जाती है .. हम अच्छे मूल्यों की नींव पर एक समृद्ध पाकिस्तान का निर्माण करेंगे न कि एक फिल्म की रिलीज के फैसले पर।’

padman

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक करें।