BREAKING NEWS

कोरोना वायरस के 6.87 लाख मामलों के साथ रूस को पीछे छोड़ भारत तीसरे स्थान पर पहुंचा ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कोहराम जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 6,555 नए केस◾खालिस्तानी समर्थक संगठन SFJ पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, 40 वेबसाइट्स पर लगाया प्रतिबंध◾घाटे के चलते आने वाले दिनों में टेलीकॉम कंपनियां बढ़ा सकती है फ़ोन कॉल और इंटरनेट के रेट ◾तमिलनाडु में कोरोना वायरस के 4,150 नये मामले आये सामने , मृतकों की संख्या 1,510 पहुंची ◾राजधानी दिल्ली में कोरोना का विस्फोट जारी, बीते 24 घंटे में 2,244 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 99 हजार के पार◾गुजरात के कच्छ जिले में 4.2 तीव्रता का भूकंप आया, वहीं 4.6 तीव्रता के झटकों से फिर थर्राया मिजोरम ◾गाजियाबाद की अवैध पटाखा फैक्ट्री में धमाके से 7 की मौत, कई लोग घायल◾कानपुर एनकाउंटर : शक के दायरे में चौबेपुर थाना, IG बोले-सबूत मिले तो पुलिसवालों पर दर्ज होगा हत्या का केस◾TMC नेता कल्याण बनर्जी का विवादित बयान, वित्तमंत्री सीतारमण को बताया 'काली नागिन'◾राहुल गांधी का केंद्र पर तंज, कहा-सूर्य, चंद्रमा और सत्य ज्यादा देर छिप नहीं सकते◾रक्षा मंत्री राजनाथ के साथ अमित शाह ने सरदार पटेल कोविड-19 केयर सेंटर का किया दौरा ◾कानपुर घटनाक्रम के लिए ओवैसी ने CM योगी की 'ठोक देंगे' पॉलिसी को बताया जिम्मेदार◾देश में 24 घंटों के दौरान 25 हजार से अधिक कोरोना मामलों की पुष्टि,मरीजों की संख्या 6 लाख 73 हजार के पार ◾कानपुर : 8 पुलिसकर्मियों को जान से मारने वाले आरोपी विकास दुबे का साथी दयाशंकर गिरफ्तार◾कोरोना रिकवरी रेट बढ़ने पर बोले CM केजरीवाल- 2 करोड़ लोगों की मेहनत रंग ला रही◾J&K : पुलवामा में आतंकियों ने CRPF के काफिले को IED ब्लास्ट के जरिये बनाया निशाना,एक जवान घायल◾Coronavirus : दुनियाभर में वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 11 लाख के पार ◾दिल्ली में रातभर चली तेज हवाओं और बारिश ने दिलाई गर्मी से राहत, मौसम हुआ सुहाना ◾ पूर्वी लद्दाख गतिरोध : चीन से लगी सीमा पर प्रमुख केंद्रों पर तैनाती बढ़ा रही है वायु सेना ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जसलीन कौर केस : चार साल चले छेड़छाड़ मामले में लड़का निर्दोष साबित, पर बर्बाद हो गयी जिंदगी

आजकल फेमिनिज्म यानी नारीवाद के बारे में काफी कुछ बताया जाता है और लिखा जाता है पर बहुत से लोग ऐसे भी है जो इसका सही अर्थ तक नहीं जानते। जसलीन कौर जैसे बहुत से लोग ऐसे है जो फेमिनिज्म का इस्तेमाल अपने फायदे के लिए करते है। जसलीन कौर को हाल ही में झूठे आरोप  लगाने का दोषी करार दिया गया है। 

आपको याद दिला दें , 2015 में, दिल्ली के सेंट स्टीफेंस कॉलेज की छात्रा जसलीन कौर ने अपने फेसबुक प्रोफाइल पर एक व्यक्ति की तस्वीर पोस्ट की, जिसमें उसने उस पर अश्लील टिप्पणी करने और फ़ोन से तस्वीर खींचने पर धमकी देने का आरोप लगाया था।

कौर ने अपने पोस्ट में लिखा था कि सिंह ने कहा, "जो कर सकती है कर ले। शिकायत कर ले , फ़िर देखियो मैं क्या करता हूं "। (आप जो चाहते हैं, मेरे खिलाफ शिकायत करें और फिर देखें कि मैं आपके लिए क्या करूंगा)। उस पोस्ट में आरोप लगाया गया कि सर्वजीत सिंह ने उसे रात भर परेशान किया और पोस्ट वायरल होते ही सिर्फ तीन दिनों में सर्वजीत को अपराधी और दिल्ली का दरिंदा करार दे दिया गया।

दिल्ली पुलिस एक दिन के अंदर सर्वजीत को गिरफ्तार कर लिया और कहानी के दूसरे पक्ष को प्राप्त करने का कोई प्रयास नहीं किया गया। खबरों के अनुसार, सर्वजीत का जीवन इस हद तक बर्बाद हो गया कि वह अपनी कथित ‘आपराधिक प्रवृत्ति’ के कारण एक स्थाई नौकरी तक नहीं पा सका।

सर्वजीत का कहना है “घटना के तुरंत बाद, मैं जिस कंपनी के साथ काम कर रहा था उसने मुझे नौकरी छोड़ने के लिए कहा। हम ब्रांडेड कपड़ों के लिए लेबल का उत्पादन करते थे और हमारे अंतर्राष्ट्रीय ग्राहक थे। मेरे मालिक ने मुझे बताया कि कंपनी के नाम को दागी किया जा रहा था क्योंकि यह खबर हमारे अंतर्राष्ट्रीय ग्राहकों तक भी फैल गई थी।"

इससे भी ज्यादा चौंकाने वाली बात यह है कि उसके कोर्ट के ट्रायल के दौरान जसलीन एक भी उपस्थित नहीं थी और उसके परिवार ने हमेशा इस बहाने का इस्तेमाल किया कि वह 'छेड़छाड़ की घटना' के बाद कनाडा चली गई थी।अब, इस घटना के 4 साल बाद, सर्वजीत सिंह को बरी कर दिया गया है और उन्होंने एक पोस्ट शेयर करते हुए सभी को इस केस से अवगत कराया। 

सर्वजीत ने लिखा, "फैसला आ गया है। मैं निर्दोष हूं! मैं वाहेगुरु जी को धन्यवाद देना चाहता हूं कि उन्होंने मुझ पर कृपा रखी, मेरे दोस्तों और शुभचिंतकों के हौसले और साथ ने इसे संभव बनाया।"


सर्वजीत ने आगे लिखा "सबसे बढ़कर, मेरी माँ जो एक स्तंभ की तरह मेरे साथ खड़ी थीं। मुझमें उनका विश्वास प्रमुख प्रेरणा शक्ति था जिसने मुझे हर दिन साहस के साथ देखा। और निश्चित रूप से, शिखा खंडूजा कौल जिन्होंने मुझे इस मुश्किल रास्ते पर हौसला दिया और मेरा मार्ग दर्शन किया। वो मेरी बड़ी बहन जैसी है। उन्होंने मेरे केस पर जो किताब लिखी है वह जल्द ही सबके सामने आ जाएगी!

अपने मामले पर एक किताब लिखने वाली शिखा खंडूजा कौल ने एक पोस्ट शेयर किया, जिसमें लिखा गया कि आखिरकार नकली नारीवाद पर न्याय होता है।

आज इस शुभ मुहूर्त पर करें इन चीज़ों की खरीदारी,जानें क्यों मानते हैं धनतेरस का पर्व