मुंबई : कल्कि कोचलिन ने कहा है कि फिल्म उद्योग में महिलाओं को ही यौन उत्पीड़न झेलना पड़ता है, लेकिन लोग अक्सर उनकी ओर से आंखे मूंद लेते हैं, क्योंकि वे प्रसिद्ध अथवा सफल नहीं होती हैं।  हाल में ही, हॉलीवुड में हार्वे वाइंस्टीन का मामला सामने आया है, जिससे मनोरंजन उद्योग के यौन उत्पीड़न पर चर्चा शुरू हो गयी है।  कल्कि ने प्रेट्र के साथ साक्षात्कार में कहा, मुझे नहीं लगता कि हम लोग महिलाओं को यौन उत्पीड़न पर बात करने लायक मौहाल उपलब्ध करा पा रहे हैं।

उन्होंने कहा, हम केवल उस समय लोगों की बातें सुनते हैं, जब वे सफल अथवा प्रसिद्ध होते हैं। बहुत सारी महिलाएं हैं, जिन्होंने अपने कैरियर के शुरूआती दौर में ऐसा संघर्ष किया है और जो इसके बारे में बात करती हैं, लेकिन उनकी कहानी कोई भी नहीं सुनेगा।  अदाकारा ने कहा, लोग उनकी बातों में केवल उस समय रुचि लेते हैं, जब वह सफल होती हैं। उल्लेखनीय है कि न्यूयार्क टाइम्स द्वारा वाइंस्टीन के कथित यौन उत्पीड़न का खुलासा किये जाने के बाद पचास से अधिक महिलाओं ने हॉलीवुड प्रोड्यूसर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।