बीते दिनों भारत की तरफ से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को ‘ग्लोबल आतंकवादी’ घोषित करने के लिए प्रस्ताव पेश किया जिसे दुनियाभर के कई देशों का समर्थन मिला पर चीन ने इस मुद्दे में टांग अड़ाते हुए ये प्रस्ताव पास नहीं होने दिया।

आर माधवन

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत के विफल होने के बाद कांग्रेस के ट्विटर हैंडल ने पीएम नरेंद्र मोदी का मजाक उड़ाते हुए एक वीडियो साझा किया। फिल्म अभिनेता आर माधवन के लिए यह वीडियो “बुरा खराब” था और उन्होंने चीन के सामने भारत को नीचा दिखाने के लिए कांग्रेस पार्टी पर काफी भड़ास निकाली

ट्विटर पर पोस्ट देखने के लिए क्लिक करें ; https://twitter.com/ActorMadhavan/status/1106454375034245120

आपको बात दें चीन ने चौथी बार भारत के प्रस्ताव को पास करने में तकनीकी होल्ड का इस्तेमाल करते हुए मसूद अज़हर को बचाया है। यहाँ तक की अमेरिका और फ्रांस ने भी चीन के इस कदम की निंदा की है। भारत ने चीन के इस कदम को “निराशाजनक” करार दिया।

masood azhar

अंतराष्ट्रीय स्तर पर भारत की विफलता का मजाक उड़ाते हुए कांग्रेस पार्टी की तरफ से जैसे ही वीडियो जारी किया गया बॉलीवुड अभिनेता आर माधवन का पारा चढ़ गया। उन्होंने कांग्रेस को लताड़ने के लिए ट्वीट किये जिसे करीब 25 हजार से ज्यादा लोगों ने लाइक किया और 12 हजार से ज्यादा लोग उनके ट्वीट को शेयर कर चुके है।

देखिये कांग्रेस का ट्वीट :

ट्विटर पर पोस्ट देखने के लिए क्लिक करेंhttps://twitter.com/INCIndia/status/1106226714613633024

दिल्ली के रहने वाले आर्किटेक्ट और कांग्रेस संचार विभाग के सदस्य रचित सेठ ने कांग्रेस पार्टी के ट्वीट का बचाव करते हुए कहा कि पंडित नेहरू से लेकर इंदिरा गांधी, वाजपेयी से लेकर मनमोहन सिंह, इस देश में हर पीएम किसी न किसी मुद्दे पर आलोचना का शिकार हुआ है।

आर माधवन

यह पहली बार नहीं है जब कांग्रेस सोशल मीडिया सेल ने पीएम मोदी पर हमला किया है। पिछले साल कांग्रेस मीडिया सेल की प्रमुख दिव्या स्पंदना को सोशल मीडिया यूजर्स के गुस्से का सामना करना पड़ा, जब उन्होंने सरदार पटेल की मूर्ति के चरणों में खड़े पीएम मोदी की तस्वीर के साथ एक कैप्शन लिखा, “क्या चिड़िया ने कुछ गिराया है ?”

इस बीच, चीन ने कहा है कि वह पाकिस्तान-स्थित आतंकवादी समूह जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के प्रमुख को ब्लैकलिस्ट करने पर भारत सहित सभी पक्षों के साथ अधिक विचार-विमर्श करने को तैयार है, जिसने भारतीय अर्धसैनिक बल के काफिले पर हमले की जिम्मेदारी ली है।

मसूद को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने को लेकर चीन के साथ वार्ता कर रहे US, फ्रांस और ब्रिटेन