BREAKING NEWS

राहुल और प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के 203 नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज◾गांधी की विचारधारा से प्रभावित मोदी सरकार : राष्ट्रपति कोविंद◾एयर मार्शल आर.डी. माथुर ने वायुसेना प्रशिक्षण कमान के नए प्रमुख का कार्यभार संभाला◾राहुल, प्रियंका को हिरासत में लिए जाने से गुस्साए कांग्रेस नेता, कहा - UP में है ‘जंगल राज’ ◾CJI, सात वरिष्ठ न्यायाधीश 5 अक्टूबर से करेंगे PIL, सामाजिक न्याय के विषयों पर सुनवाई ◾MI vs KXIP ( IPL 2020 ) : मुंबई इंडियंस ने किंग्स इलेवन पंजाब को 48 रन से हराया◾कांग्रेस नेता अहमद पटेल और आरपीएन सिंह कोविड-19 से संक्रमित◾हाथरस की घटना पर इलाहाबाद HC सख्त, उप्र सरकार को नोटिस, DM-SP तलब◾ IPL 2020 KXIP vs MI : हार्दिक-पोलार्ड की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी, मुम्बई ने पंजाब को दिया 192 रनों का लक्ष्य◾दिल्ली में कोरोना के 3037 नए मामले की पुष्टि, 40 और मरीजों की मौत ◾हाथरस, बलरामपुर के बाद यूपी के भदोही में दलित किशोरी से बर्बरता, सिर कुचलकर हत्या◾यूपी पुलिस के ADG का बड़ा दावा - हाथरस की घटना में लड़की से नहीं हुआ बलात्कार, गलत बयानी की गई◾राहुल - प्रियंका पर यूपी सरकार के मंत्री का तंज - ये जो 'भाई-बहन' दिल्ली से चले हैं, उन्हें राजस्थान जाना चाहिये◾हाथरस गैंगरेप : पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे राहुल-प्रियंका को पुलिस ने हिरासत में लिया◾प्रियंका और राहुल के काफिले को पुलिस ने परी चौक पर रोका, परिवार से मिलने के लिए हाथरस के लिये पैदल निकले◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट, गर्दन पर चोट के निशान और टूटी थीं हड्डियां ◾सीएम गहलोत का आरोप - बारां की घटना को लेकर जनता को गुमराह कर रहा है विपक्ष ◾ हाथरस गैंगरेप : प्रियंका और राहुल के दौरे के मद्देनजर जिले की सभी सीमाएं सील ◾बलरामपुर में गैंगरेप की घटना को लेकर कांग्रेस ने UP सरकार पर साधा निशाना, किया यह दावा ◾देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना के 86,821 मामलों की पुष्टि, मरीजों का आंकड़ा 63 लाख के पार ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

इस अभिनेत्री का महेश भट्ट से था अफेयर, 'बिग बी' से सताता था जान का खतरा

बॉलीवुड के वेटरन डायरेक्टर, प्रोड्यूसर, स्क्रिप्ट राइटर महेश भट्ट साढ़े 4 दशक के फिल्मी करियर में महेश भट्ट ने एक से बढ़कर एक फिल्में दी हैं । महेश भट्ट का नाम बॉलीवुड अभिनेत्री परवीन बाबी के साथ जुड़ चुका है लेकिन उनकी प्रेम कहानी का अंत काफी दुखद रहा। हम आपको बता रहे हैं दोनों की लव- स्टोरी के बारे में। \"\"

Source

बॉलीवुड में कई जोड़ियां बनती हैं और टूट जाती हैं उन्हीं टूटी हुई जोड़ियों में से एक है महेश भट्ट और परवीन बाबी की जोड़ी। परवीन को महेश भट्ट से साल 1977 में प्यार हुआ था। उस समय महेश शादीशुदा थे। महेश ने 20 साल की उम्र में लॉरेन ब्राइट से शादी की थी।महेश और परवीन एक दूसरे से प्यार करने लगे। शादीशुदा होने के बावजूद महेश ने परवीन के साथ रहने का फैसला किया। उस समय परवीन अपने करियर की ऊंचाइयों पर थीं और 'अमर अकबर एंथनी' और 'काला पत्थर' जैसी फिल्मों की शूटिंग कर रही थीं। दोनों एक- दूसरे से बहुत प्यार करते थे और साथ में काफी खुश थे। \"\"

Source

इसी बीच साल 1979 में कुछ ऐसा हुआ जिससे महेश हैरान रह गए। महेश जब घर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि परवीन फिल्मी ड्रेस पहने हुए हैं और घर के एक कोने में हाथ में चाकू लिए बैठी हैं। महेश को देखकर परवीन ने उन्हें शांत रहने का इशारा करते हुए कहा, 'बोलो मत! वो मुझे मार देना चाहते हैं'। यह पहली बार था जब महेश ने उन्हें इस हालत में देखा था। इसके बाद अक्सर वो इस हालत में पहुंच जाती थीं। जब उनका इलाज करवाया गया तब पता चला कि उन्हें पैरानॉइय स्क्रिजोफेनिया (Paranoid Schizophrenia) नाम की खतरनाक बीमारी है। \"\"

Source

डॉक्टरों का कहना था कि परवीन को इससे बाहर लाने का एक अस्थायी तरीका है उन्हें 'इलैक्ट्रिक शॉक' देना, लेकिन महेश भट्ट परवीन के साथ खड़े रहे और उनका पूरा ध्यान रखा। परवीन बाबी के पूर्व बॉयफ्रेंड कबीर बेदी और एक्टर डैनी ने परवीन के इलाज के लिए अमेरिका के कुछ अच्छे अस्पताल भी बताए और उनकी मदद की। परवीन को हमेशा यह डर लगा रहता था कि कोई उनकी जान लेना चाहता है। वो घर के एसी तक से डरने लगी थीं। उन्हें लगता था कि उनकी कार में बम लगा है और वो उसकी आवाज तक सुन सकती थीं।

\"\"

Source

इतना ही नहीं अभिनेता अमिताभ बच्चन से भी उन्हें डर लगने लगा था, उन्हें लगता था कि अमिताभ उन्हें मारना चाहते हैं। उन्हें लगता था कि शायद उन्होंने अमिताभ को किसी तरह से नुकसान पहुंचाया है और इसलिए अमिताभ उन्हें मारना चाहते हैं। परवीन की हालत इतनी खराब हो गई थी कि अब केवल 'इलेक्ट्रिक शॉक थेरेपी' ही आखिरी विकल्प रह गया था। जब महेश भट्ट ने इसका विरोध किया तो उन्हें कहा जाने लगा कि उन्होंने परवीन का इस्तेमाल फेम और स्टारडम के लिए किया है। परवीन की हालत पहले से और खराब होती जा रही थी। वो दवाईयां खाने से इंकार कर देती थी और उन दवाईयों को महेश को खाने के लिए कहती थी, वो जानना चाहती थीं कि इन दवाईयों में उन्हें मारने के लिए कुछ मिलाया तो नहीं गया। महेश उन्हें खाने में दवाईयां मिलाकर देते थे और कई बार खुद भी उस खाने को खाया करते थे।

\"\"

Source

इन सबसे परेशान होकर महेश परवीन को लेकर बंगलुरु चले गए। उन्हें लगता था कि शांति परवीन को उनकी जिंदगी में वापिस ले आएगी। वो चाहते थे कि परवीन तनाव मुक्त रहें, लेकिन इसी साल महेश परवीन को छोड़कर अपनी पत्नी लॉरेन के पास लौट गए। परवीन की डॉक्टर ने उन्हें कहा था कि उनकी मौजूदगी परवीन की हालत और खराब कर रही है। इस समय महेश ने 'अर्थ' की कहानी लिखनी शुरू की थी जो पूरी तरह उनकी जिंदगी से प्रभावित थी।

\"\"

Source

साल 2005 में महेश भट्ट के पास परवीन बाबी की रहस्यमयी मौत से जुड़े कई मैसेज आए। जब उन्हें पता चला कि उनकी पार्थिव शरीर को अपनाने के लिए कोई सामने नहीं आया तो उन्होंने परवीन के शरीर को दफनाने की बात की। महेश भट्ट का मानना है कि वो जो कुछ भी हैं परवीन की वजह से हैं। जो रिश्ता और गहराई उनके बीच था उसने ही उन्हें इस मुकाम तक पहुंचाया।