साल 1998 में रिलीज़ हुई फिल्म प्यार तो होना ही था जिसमे काजोल और अजय देवगन की जोड़ी को न सिर्फ पसंद किया गया बल्कि ये फिल्म एक बड़ी हित भी साबित हुई थी। इस फिल्म के मुख्य कलाकारों में कश्मीरा शाह, ओम पूरी और बिजय आनंद भी शामिल थे जिन्हें इस फिल्म अपने अभिनय के लिए काफी सराहना मिली थी।

इस फिल्म के बाद बाकी स्टारकास्ट तो बॉलीवुड में बनी रही पर बिजय आनंद बॉलीवुड से एकदम गायब हो गए। इस फिल्म में उन्होंने काजोल के मंगेतर का रोल निभाया था। आईये जानते है की वो अचानक बॉलीवुड से क्यों गायब हो गए और आजकल वो कैसे दिखते है, क्या करते है।

आपको बता दें की काफी गुड लूकिंग होने और इस फिल्म के सुपरहिट हो जाने पर बिजय को 22 फिल्मों के एक साथ ऑफर आये थे लेकिन बिजय इस फिल्म की कामयाबी के बाद भी फिल्मों में दोबारा नज़र नहीं आये।

आप कह सकते है शायद बिजय आनंद की किस्मत में स्टार बनना था ही नहीं। बताया जाता है की बिजय आनंद ने फिल्म प्यार तो होना ही था से पहले अपने आपको बॉलीवुड में सेटल करने के लिए काफी संघर्ष किया था पर सफलता नहीं मिली।

इस फिल्म के बाद उनकी सेहत भी बिगड़ने लगी थी। कहीं न कहीं उन्हें इस बात का मलाल भी था की जो मुकाम वो हासिल करना चाहते थे उसे वो नहीं पा सके। इसलिए उन्होंने इस फिल्म के बाद किसी और फिल्म में काम नहीं किया।

अपना फिल्मी करियर छोड़ कर उन्होंने ऐसा कदम उठाया जिसके बारे में स्शायद किसी ने भी नहीं सोचा होगा। जी हाँ वो बॉलीवुड से निकल कर कुण्डलिनी योग गुरु बन गए।

दरअसल बिजय जी की तबियत बहुत ख़राब हो गयी थी उनका आर्थराइटिस हो गया था और उनका कोलेस्ट्रॉल भी बहुत बढ़ गया था जिसका पता चलने पर उन्होंने अपनी सेहत की तरफ ध्यान देने का निर्णय लिया और फिल्मों से अलविदा कर ली और एक कुण्डलिनी गुरु बनकर ज़िन्दगी को ख़ुशी-ख़ुशी गुज़ारने लगे।