BREAKING NEWS

CAA-NRC दोनों अलग, किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं : उद्धव ठाकरे◾संजय सिंह का बड़ा बयान, बोले-अमित शाह के तहत बिगड़ रही है कानून और व्यवस्था की स्थिति ◾बिहार : प्रशांत किशोर बोले- नीतीश कुमार मेरे पिता के समान◾लापता नहीं हुआ आतंकी मसूद अजहर, कड़ी सुरक्षा के बीच परिवार के साथ पाक में ही छिपा बैठा है◾विदेश मंत्री जयशंकर ने यूरोपीय संघ के नेताओं से की मुलाकात, विभिन्न मुद्दों पर की बात◾कोरोना वायरस से चीन में 1,868 लोगों की मौत, लगातार बढ़ रही मरने वालों की संख्या ◾मुख्यमंत्री केजरीवाल बोले- दिल्ली में जल्द ही दूर होगी बसों की कमी◾स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को बोला-'बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना'◾केंद्र सरकार को कम से कम अब हमसे बात करनी चाहिए: शाहीन बाग प्रदर्शनकारी ◾केजरीवाल ने जल विभाग सत्येंन्द्र जैन को दिया, राय को मिला पर्यावरण विभाग ◾कश्मीर पर टिप्पणी करने वाली ब्रिटिश सांसद का भारत ने किया वीजा रद्द, दुबई लौटा दिया गया◾हर्षवर्धन ने वुहान से लाए गए भारतीयों से की मुलाकात, आईटीबीपी के शिविर से 200 लोगों को मिली छुट्टी ◾ जामिया प्रदर्शन: अदालत ने शरजील इमाम को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा ◾दिल्ली सरकार होली के बाद अपना बजट पेश करेगी : सिसोदिया ◾झारखंड विकास मोर्चा का भाजपा में विलय मरांडी का पुनः गृह प्रवेश : अमित शाह ◾दोषियों के खिलाफ नए डेथ वारंट पर निर्भया की मां ने कहा - उम्मीद है आदेश का पालन होगा ◾सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित : रविशंकर प्रसाद ◾शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा - प्रदर्शन करने का हक़ है पर दूसरों के लिए परेशानी पैदा करके नहीं ◾निर्भया मामले में कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट , 3 मार्च को दी जाएगी फांसी◾महिला सैन्य अधिकारियों पर कोर्ट का फैसला केंद्र सरकार को करारा जवाब : प्रियंका गांधी वाड्रा◾

4 लाख टन भारतीय चावल की रुकेगी खेप

करनाल: यूरोपीय संघ आयोग ने यूरोप के 27 देशों में भारत के चावल के निर्यात पर रोक लगा दी है। 3 साल पहले यूरोपीय संघ आयोग ने साफ कह दिया था कि 1 जनवरी 2018 से पेस्टीसाईड की अधिकतम सीमा 0.01 पीपीएम हो जाएगी। इससे पहले दानों में यह अवशेष 1.0 पीपीएम होने का नियम था। दरअसल भारत में झूलसा रोग की रोकथाम के लिए ट्राइसाइक्लाजोल नामक नाशक का उपयोग किया जाता है। जिसे एक अमेरिका की कम्पनी बनाती है। यह काफी सस्ती है और कारगर भी साबित होती है। लेकिन इसकी बहुत की क्षीण मात्रा बासमती चावल के दानों के भीतर पहुंंच कर अवशेष के रूप में रह जाती है।

यूरोपी आयोग को यह संदेह है कि चावल के दानों में रह गए ट्राइसाइक्लाजोल के अवशेष की अब तक की छूट वाली मात्रा से कैंसर होने का खतरा रहता है। नए मानदंड रखे जाने के बाद यह खतरा खत्म हो जाएगा। हालांकि अमेरिकी कम्पनी डॉव कैमिकल्स का दावा है कि उनकी दवा को 2011 में अमेरिका की पर्यावरण रक्षा एजेंसी द्वारा तकनीकी प्रमाण दिए गए थे। उन्ही के आधार पर बासमती चावल में ट्राईसाइक्लाजोल के अवशिस्ट की सीमा 3.0 पीपीएम और जापान में 10 पीपीएम तय की गई।

ये दोनों सीमाएं यूरोपीय संघ में अब तक प्रचलित 1.0 पीपीएम की अपेक्षा 3 से 10 गुना अधिक छूट के बराबर है। यूरोप में प्रतिकूल जलवायु के कारण चावल की खेती नहीं होती। हालांकि भारतीय निर्यातक संघ ने यूरोपीय आयोग के समक्ष अपना पक्ष भी रखा था। जिसके चलते उन्हें 2008 से पहले 6 महीने की छूट भी दी गई थी। लेकिन यूरोपीय संघ ने भारतीय निर्यातक संघ को 2018 से पहले तक का समय दिया था कि वह चावल के दानों में पेस्टीसाईड की मात्रा को कम किया जाए। बीते साल जुलाई में भी निर्यातक ब्रसेल्स में यूरोपीय संघ के वरिष्ठ अधिकारियों से भी मिले थे।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें। - हरीश चावला