BREAKING NEWS

TOP 20 NEWS 19 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या फैसले पर ओवैसी फिर बोले- SC का फैसला किसी भी तरह से ‘पूर्ण न्याय’ नहीं ◾भाजपा के कार्यकर्ताओं ने CM केजरीवाल के गुमशुदगी पोस्टर लगाए, किया प्रदर्शन ◾ममता बनर्जी के 'अल्पसंख्यक अतिवादी' वाले बयान पर ओवैसी ने किया पटलवार ◾JNU विवाद : जीवीएल नरसिम्हा बोले-नर्सरी में एक लाख फीस देने वालों को उच्च शिक्षा के लिए 50 हजार देने में दिक्कत क्यों◾आर्थिक मंदी को लेकर 30 नवंबर को कांग्रेस की होने वाली रैली स्थगित हुई ◾महाराष्ट्र सरकार गठन पर सोनिया के घर हुई बैठक, अहमद, एंटनी और खड़गे भी हुए शामिल◾सांसदों ने आसन के समीप आकर की नारेबाजी, लोकसभा अध्यक्ष ने दी चेतावनी◾राज्यसभा मार्शल्स की नई वर्दी पर उठे सवाल, वैंकेया नायडू ने पुनर्विचार के दिए आदेश◾मायावती ने प्रदूषण पर जताई चिंता, कहा- संसद में चर्चा के बाद ठोस नीति बनाए सरकार ◾हंगामे के बाद राज्यसभा दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित, लोकसभा में किसानों के मुद्दे को लेकर विपक्ष ने की नारेबाजी◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सियाचिन में सेना के जवानों और उनके कुलियों की मौत पर जताया शोक◾शिवसेना ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- एनडीए की अनुमति ली थी क्या? ◾संजय राउत का शायराना ट्वीट- 'अगर जिंदगी में कुछ पाना हो तो तरीके बदलो इरादे नहीं'◾सरहदों की निगरानी के लिए ISRO लॉन्च करेगा कार्टोसैट-3, दुश्मन देशों की हरकतों पर रहेगी नजर ◾जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक संशोधन विधेयक राज्यसभा में आज होगा पेश◾JNU छात्र आज फिर उतर सकते है सड़को पर, प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे स्टूडेंट ◾1 दिसंबर से ग्राहकों की जेब पर बढ़ेगा बोझ, ये दूरसंचार कंपनियां बढ़ाएंगी मोबाइल सेवाओं की दरें◾इंदिरा गांधी की जयंती पर PM मोदी, सोनिया, मनमोहन और प्रणब मुखर्जी ने दी श्रद्धांजलि◾महाराष्ट्र : महीनेभर बाद भी एक ही सवाल, कब और कैसे बनेगी सरकार? ◾

व्यापार

गडकरी को नहीं भायी नीति आयोग की सलाह

नई दिल्ली : नीति आयोग का देश में आधुनिक इले​क्ट्रिक मोबिलिटी को प्रोत्साहन के लिए बैटरी अदलाबदली की नीति व्यावहारिक नहीं है। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने यह बात कही। नीति आयोग ने एक रिपोर्ट में कहा है कि इले​क्ट्रिक और साझी-सवारी अपनाने से देश में 2030 तक 60 अरब डॉलर के डीजल व पेट्रोल की बचत तथा एक गीगाटन (एक अरब टन) तक कॉर्बन उत्सर्जन को कम किया जा सकेगा।

इस रिपोर्ट में आयोग ने मानकीकृत, स्मार्ट और अदलाबदली वाली बैटरियों की लीज और प्रति इस्तेमाल भुगतान कारोबारी मॉडल के आधार पर वकालत की है। उद्योग मंडल फिक्की द्वारा आयोजित स्मार्ट मोबिलिटी सम्मेलन को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि देश में बैटरी अदला बदली नीति उचित नहीं होगी क्योंकि यह काफी मुश्किल काम होगा। यह देश में संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कान्त ने इस मुद्दे पर उनसे चर्चा की है।

इसमें उन्होंने सुझाव दिया है कि यह विचार व्यावहारिक नहीं है जिसे रद्द कर दिया जाना चाहिए। मंत्री ने कहा कि दिल्ली और अन्य स्थानों पर प्रदूषण के ऊंचे स्तर को देखते हुए सार्वजनिक परिवहन के लिए इले​क्ट्रिक वाहन तथा जैव इंधन आज समय की जरूरत है और सरकार चार्जिंग ढांचे पर काम कर रही है। उन्होंने जोर देकर कहा कि इस तरह के परिवहन से प्रदूषण पर अंकुश लगाया जा सकेगा। गडकरी ने कहा कि वाहन क्षेत्र की सालाना 22 प्रतिशत की वृद्धि दर को देखते हुए प्रत्येक तीसरे साल राजमार्ग पर एक अतिरिक्त लेन की जरूरत होगी जिसकी लागत 80,000 करोड़ रुपये बैठेगी जो व्यावहारिक नहीं है।

उन्होंने कुछ आंकड़े देते हुए बताया कि उनके संसदीय क्षेत्र नागपुर में 200 इले​क्ट्रिक टैक्सियां पहले ही दौड़ रही हैं और दिसंबर तक 1,000 टैक्सियां और जुड़ेगी। शहर में पहले से 20 चार्जिंग स्टेशन हैं, जिनके तीन प्रकार हैं। एक बैटरी को 15 मिनट में चार्ज किया जा सकता है। मंत्री ने कहा कि लिथियम आयन बैटरियों की लागत को पहले ही 40 प्रतिशत कम किया जा चुका है। लिथियम बैटरी के 12 विनिर्माता हैं। गडकरी राजधानी में सार्वजनिक परिवहन में इले​क्ट्रिक वाहनों के इस्तेमाल के मुद्दे पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ विचार विमर्श करेंगे। एक अनुमान के अनुसार दिल्ली में 10,000 ऐसी बसों की जरूरत है।