BREAKING NEWS

पंजाबः AAP नेता चड्ढा ने सभी राजनीतिक दलों पर लगाया आरोप, कहा- विधानसभा चुनाव में केजरीवाल बनाम सभी पार्टी होगा◾'ओमिक्रॉन' के बढ़ते खतरे के बीच क्या भारत में लगेगी बूस्टर डोज! सरकार ने दिया ये जवाब ◾2021 में पेट्रोल-डीजल से मिलने वाला उत्पाद शुल्क कलेक्शन हुआ दोगुना, सरकार ने राज्यसभा में दी जानकारी ◾केंद्र सरकार ने MSP समेत दूसरे मुद्दों पर बातचीत के लिए SKM से मांगे प्रतिनिधियों के 5 नाम◾क्या कमर तोड़ महंगाई से अब मिलेगाी निजात? दूसरी तिमाही में 8.4% रही GDP ग्रोथ ◾उमर अब्दुल्ला का BJP पर आरोप, बोले- सरकार ने NC की कमजोरी का फायदा उठाकर J&K से धारा 370 हटाई◾LAC पर तैनात किए गए 4 इजरायली हेरॉन ड्रोन, अब चीन की हर हरकत पर होगी भारतीय सेना की नजर ◾Omicron वेरिएंट को लेकर दिल्ली सरकार हुई सतर्क, सीएम केजरीवाल ने बताई कितनी है तैयारी◾NIA की हिरासत मेरे जीवन का सबसे ‘दर्दनाक समय’, मैं अब भी सदमे में हूं : सचिन वाजे ◾भाजपा की चिंता बढ़ा सकता है ममता का मुंबई दौरा, शरद पवार संग बैठक के अलावा ये है दीदी का प्लान ◾ओमीक्रोन के बढ़ते खतरे पर गृह मंत्रालय का एक्शन - कोविड प्रोटोकॉल गाइडलाइन्स 31 दिसंबर तक बढा़ई ◾निलंबन वापसी पर केंद्र करेगी विपक्ष से बात, विधायी कामकाज कल तक टालने का रखा गया प्रस्ताव, जानें वजह ◾राहुल के ट्वीट पर पीयूष गोयल ने निशाना साधते हुए पूछा तीखा सवाल, खड़गे द्वारा लगाए गए आरोपों की कड़ी निंदा की ◾कश्मीर में सामान्य स्थिति लाने के लिए बहाल करनी होगी धारा 370 : फारूक अब्दुल्ला◾स्वास्थ्य मंत्री मंडाविया ने बताया - भारत में अब तक ओमिक्रॉन वेरिएंट का कोई मामला नहीं मिला◾मप्र में शिवराज सरकार के लिए मुसीबत का सबब बने भाजपा के लिए नेताओं के विवादित बयान ◾UP: विधानसभा Election को सियासी धार देने के लिए BJP करेगी छह चुनावी यात्राएं, ये वरिष्ठ नेता होंगे सम्मिलित ◾UP चुनाव को लेकर मायावती खेल रही जातिवाद का दांव, BJP पर लगाए मुसलमानों के उत्पीड़न जैसे कई आरोप ◾12 सांसदों के निलंबन पर राहुल का ट्वीट, 'किस बात की माफी, संसद में जनता की बात उठाने की' ◾ओमीक्रॉन को लेकर केंद्र ने अपनाया सख्त रवैया, सभी राज्यों को दिए जांच बढ़ाने समेत कई निर्देश, जानें क्या कहा ◾

कोरोना संकट के बीच अप्रैल महीने का GST संग्रह रिकॉर्ड 1.41 लाख करोड़ के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा

भारत में नोवेल कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने तबाही मचा रखी है, लेकिन फिर भी अर्थव्यवस्था पर इसका खासा असर देखने को नहीं मिल रहा है। जी हां, इसका ताजा उदाहरण है अप्रैल महीने का जीएसटी संग्रह, जो अपने सर्वकालिक स्तर पर पहुंच गया है। 

सरकारी आंकड़े के मुताबिक, अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन रिकॉर्ड 1.41 लाख करोड़ के रिकॉर्ड पर पहुंच गया है। इससे पहले मार्च में सबसे अधिक जीएसटी कलेक्शन 1 लाख 23000 करोड़ का रहा था। यह मंदी से बाहर निकल रही भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए एक और अच्छी खबर है। लगातार सातवें महीने जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपये के पार रहा और महामारी के बाद लगातार पांचवी बार 1.1 लाख करोड़ रुपए का आंकड़ा पार किया, जो अर्थव्यवस्था में सुधार का संकेत है। 

वित्त मंत्रालय द्वारा जारी प्रेस रीलीज के मुताबिक इस बार 1,41,384 करोड़ रुपये जीएसटी के रूप में मिले, जिसमें  सीजीएसटी 27,837 करोड़, एसजीएसटी 35,621 करोड़ और IGST 68,481 करोड़ (माल के आयात पर एकत्र किए गए 29,599 करोड़ रुपये सहित) रुपये  और उपकर 9,445 करोड़ (माल के आयात पर एकत्र 981 करोड़ रुपये सहित) है। 

देश के कई हिस्सों को प्रभावित करने वाले COVID-19 महामारी की दूसरी लहर के बावजूद भारतीय व्यवसायों ने एक बार फिर से रिटर्न फाइलिंग जैसी आवश्यकताओं का न केवल अनुपालन किया बल्कि महीने के दौरान समय पर अपने जीएसटी बकाया का भुगतान भी किया है।

जीएसटी लागू होने से अबतक अप्रैल 2021 में जीएसटी कलेक्शन सबसे अधिक है। पिछले छह महीनों से जीएसटी कलेक्शन में बढ़त के ट्रेंड  के अनुरूप अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन मार्च की तुलना में  14% अधिक है। वहीं Domestic Transaction से इस महीने मिला राजस्व (सेवाओं के आयात सहित) पिछले महीने से 21% अधिक है। 

त्रैमासिक रिटर्न और मासिक भुगतान योजना को सफलतापूर्वक छोटे करदाताओं को राहत देते हुए लागू किया गया है, क्योंकि वे अब हर तीन महीने में केवल एक रिटर्न दाखिल करते हैं। पूर्व-भरे जीएसटीआर 2 ए और 3 बी रिटर्न के रूप में करदाताओं को आईटी समर्थन प्रदान करना और सिस्टम क्षमता को कम करना भी रिटर्न फाइलिंग प्रक्रिया को आसान बनाता है।