BREAKING NEWS

अयोध्या पर AIMPLB की बैठक आज, इकबाल अंसारी करेंगे बहिष्कार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने रांची में भाजपा से मुकाबला करने के लिए झामुमो को किया आगे◾महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने बैंकाक पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ◾किसानों की आवाज को कुचलना चाहती है भाजपा सरकार : अखिलेश◾उत्तरी कश्मीर में पांच संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार ◾‘शिवसेना राजग की बैठक में भाग नहीं लेगी’ ◾TOP 20 NEWS 16 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रामलीला मैदान में मोदी सरकार की ‘जनविरोधी नीतियों’ के खिलाफ विपक्ष करेगी बड़ी रैली ◾झारखंड विधानसभा चुनाव : भाजपा ने तीन उम्मीदवारों की चौथी सूची की जारी◾सबरीमला मंदिर के कपाट खुले, पुलिस ने 10 महिलाओं को वापस भेजा◾राफेल पर CM अरविंद केजरीवाल का प्रकाश जावड़ेकर को जवाब, ट्वीट कर कही ये बात ◾दिल्ली: राफेल डील में SC से क्लीन चिट के बाद AAP कार्यालय के पास भाजपा का प्रदर्शन◾नवाब मलिक ने फड़णवीस पर साधा निशाना, कहा- हार चुके सेनापति को अपनी हार स्वीकार करनी चाहिए◾गोवा में मिग 29 K लडाकू विमान दुर्घटनाग्रस्त, दोनों पायलट सुरक्षित◾

व्यापार

बैंकों ने जेट एयरवेज के मामले को दिवाला प्रक्रिया के लिए भेजा

मुंबई : भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की अगुवाई में 26 बैंकों के गठजोड़ ने निजी क्षेत्र की विमानन कंपनी जेट एयरवेज के मामले को दिवाला संहिता के तहत कार्रवाई के लिए राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) में भेज दिया। न्यायाधिकरण इस पर बुधवार से सुनवाई करेगा। बैंकों को ठप पड़ी एयरलाइन से 8,500 करोड़ रुपये की वसूली करनी है। कभी जेट एयरवेज देश की निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी एयरलाइन के तौर पर जानी जाती थी। 

25 साल पहले इस एयरलाइन को टिकटिंग एजेंट से उद्यमी बने नरेश गोयल ने शुरू किया था। नकदी संकट और एयरलाइन को पट्टे पर विमान देने वाली कंपनियों को भुगतान नहीं कर पाने की वजह से गत 17 अप्रैल से जेट एयरवेज का परिचालन बंद है। जेट एयरवेज को कर्ज देने वाले बैंक पिछले पांच महीने से एयरलाइन को चलती हालत में बेचने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन कई कारणों की वजह से वे अपने प्रयास में सफल नहीं हो पाए। 

बैंकों के अलावा एयरलाइन पर उसे माल और सेवाएं देने वालों का 10,000 करोड़ रुपये और कर्मचारियों के वेतन का 3,000 करोड़ रुपये का बकाया है। जेट एयरवेज के कर्मचारियों की संख्या 23,000 है। पिछले कुछ साल के दौरान जेट एयरवेज का कुल नुकसान 13,000 करोड़ रुपये पर पहुंच चुका है। इस तरह एयरलाइन पर कुल 36,500 करोड़ रुपये का बकाया है। घरेलू हवाई अड्डों पर एयरलाइन के स्लॉट सरकार ने अन्य विमानन कंपनियो को दे दिए हैं।