BREAKING NEWS

महाराष्ट्र में आए ओमिक्रॉन के 2 और नए केस, जानिए अब कितनी हैं देश में नए वैरिएंट की कुल संख्या◾देश में 'ओमिक्रॉन' के बढ़ते प्रकोप के बीच राहत की खबर, 85 फीसदी आबादी को लगी वैक्सीन की पहली डोज ◾बिहार में जाति आधारित जनगणना बेहतर तरीके से होगी, जल्द बुलाई जाएगी सर्वदीय बैठक: नीतीश कुमार ◾कांग्रेस ने पंजाब चुनाव को लेकर शुरू की तैयारियां, सुनील जाखड़ और अंबिका सोनी को मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾दुनिया बदलीं लेकिल हमारी दोस्ती नही....रूसी राष्ट्रपति पुतिन से मुलाकात में बोले PM मोदी◾UP चुनाव को लेकर प्रियंका ने बताया कैसा होगा कांग्रेस का घोषणापत्र, कहा- सभी लोगों का विशेष ध्यान रखा जाएगा◾'Omicron' के बढ़ते खतरे के बीच MP में 95 विदेशी नागरिक हुए लापता, प्रशासन के हाथ-पांव फूले ◾महबूबा ने दिल्ली के जंतर मंतर पर दिया धरना, बोलीं- यहां गोडसे का कश्मीर बन रहा◾अखिलेश सरकार में होता था दलितों पर अत्याचार, योगी बोले- जिस गाड़ी में सपा का झंडा, समझो होगा जानामाना गुंडा ◾नागालैंड मामले पर लोकसभा में अमित ने कहा- गलत पहचान के कारण हुई फायरिंग, SIT टीम का किया गया गठन ◾आंग सान सू की को मिली चार साल की जेल, सेना के खिलाफ असंतोष, कोरोना नियमों का उल्लंघन करने का था आरोप ◾शिया बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने अपनाया हिंदू धर्म, परिवर्तन को लेकर दिया बड़ा बयान, जानें नया नाम ◾इशारों में आजाद का राहुल-प्रियंका पर तंज, कांग्रेस नेतृत्व को ना सुनना बर्दाश्त नहीं, सुझाव को समझते हैं विद्रोह ◾सदस्यों का निलंबन वापस लेने के लिए अड़ा विपक्ष, राज्यसभा में किया हंगामा, कार्यवाही स्थगित◾राज्यसभा के 12 सदस्यों का निलंबन के समर्थन में आये थरूर बोले- ‘संसद टीवी’ पर कार्यक्रम की नहीं करूंगा मेजबानी ◾Winter Session: निलंबन के खिलाफ आज भी संसद में प्रदर्शन जारी, खड़गे समेत कई सांसदों ने की नारेबाजी ◾राजनाथ सिंह ने सर्गेई लावरोव से की मुलाकात, जयशंकर बोले- भारत और रूस के संबंध स्थिर एवं मजबूत◾IND vs NZ: भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से करारी शिकस्त देकर रचा इतिहास, दर्ज की सबसे बड़ी टेस्ट जीत ◾विपक्ष ने लोकसभा में उठाया नगालैंड का मुद्दा, घटना ने देश को झकझोर कर रख दिया, बिरला ने कही ये बात ◾UP विधानसभा चुनाव में BSP बनाएगी पूर्ण बहुमत की सरकार, मायावती ने किया दावा ◾

कोरोना के कारण भारत में उपभोक्ताओं का विश्वास हुआ बेहद कमजोर, PCSI में आई 6.3 प्रतिशत की गिरावट

गंभीर कोविड संकट और राज्यों में इसके परिणामस्वरूप हुए लॉकडाउन के बीच मई में भारत में उपभोक्ताओं का विश्वास और कमजोर हुआ है। मई में भारत के लिए मासिक रिफाइनिटिव-इप्सोस प्राइमरी कंज्यूमर सेंटिमेंट इंडेक्स (पीसीएसआई) ने अप्रैल 2021 में कोविड -19 आशंकाओं के बीच 6.3 प्रतिशत की तेज गिरावट दिखाई है।

मासिक पीसीएसआई, जो चार भारित उप-सूचकांकों के एकत्रीकरण द्वारा संचालित होता है, सभी उप-सूचकांकों में गिर गया है। पीसीएसआई एम्प्लॉयमेंट कॉन्फिडेंस सब-इंडेक्स 4.7 प्रतिशत अंक नीचे है, पीसीएसआई करंट पर्सनल फाइनेंशियल कंडीशंस सब-इंडेक्स में 9.0 प्रतिशत अंक की भारी गिरावट आई है। इसके अलावा पीसीएसआई इन्वेस्टमेंट क्लाइमेट सब-इंडेक्स में 8.4 प्रतिशत अंक की तेजी से गिरावट आई है और पीसीएसआई इकोनॉमिक एक्सपेक्टेशंस सब इंडेक्स में 4.4 प्रतिशत अंक की कमी आई है।

इप्सोस इंडिया के सीईओ अमित अदारकर ने कहा, दूसरी लहर पहली लहर की तुलना में कहीं अधिक तीव्रता में रही है और हम न केवल हमारे स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे पर इसका भयानक प्रभाव देख रहे हैं, जो मामलों में तेज उछाल के कारण आया है, बल्कि उपभोक्ता भावना पर भी जोर दिया गया है, जो चार उप-सूचकांकों में गिर गया है। विशेष रूप से व्यक्तिगत वित्त के लिए, घर के दैनिक खचरें के लिए और भविष्य के लिए बचत और निवेश के लिए।

उन्होंने कहा, नौकरियों और अर्थव्यवस्था को लेकर विश्वास भी प्रभावित हुआ है और अभी, सरकार का ध्यान वायरस को रोकने और लोगों की जान बचाने पर है इसीलिए हम लॉकडाउन और प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। लेकिन फिर यह आजीविका और कमाई को भी प्रभावित कर रहा है।

यह एक कठिन दुविधा है, लेकिन जीवन को बचाने के लिए बाकी सब चीजों पर प्राथमिकता दी जाएगी और फिर निश्चित रूप से टीकाकरण अभियान में तेजी लाई जाएगी, अब स्पुतनिक वी भी भारत में आ रहा है। हमें अगले 3-4 हफ्तों में कोविड को करीब से देखना होगा और पता लगाएं कि क्या जून से प्रतिबंध हटाए जा रहे हैं। यदि ऐसा नहीं होता है और टीकाकरण अभियान गति नहीं लेता है, तो हम बहुत धीमी गति से पलटाव देख रहे हैं।