नई दिल्ली : यात्री वाहनों की घरेलू बिक्री फरवरी महीने में 1.11 प्रतिशत गिरकर 2,72,284 वाहनों की रह गयी। एक साल पहले फरवरी में यात्री वाहनों की घरेलू बिक्री 2,75,346 इकाई रही थी। यह पिछले आठ महीने में सातवां महीना है जब वाहनों की बिक्री कम हुई है। पिछले साल जुलाई के बाद अब तक सिर्फ अक्टूबर एकमात्र ऐसा महीना रहा है जब वाहनों की बिक्री बढ़ी है। वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन सिआम ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में छह प्रतिशत के संशोधित पूर्वानुमान को पाना भी मुश्किल लग रहा है।

संगठन ने कहा कि चुनाव से पहले की अनिश्चितता के साथ ही बाजार की कमजोर धारणा और ऊंची ब्याज दर एवं बीमा की अधिक लागत जैसे प्रतिकूल कारकों ने बिक्री को प्रभावित किया है। सिआम के महानिदेशक विष्णु माथुर ने यहां संवाददाताओं से कहा कि हमें दिख रहा है कि बाजार की धारणा सुस्त है। ब्याज दरें अभी भी ऊंची हैं और हम इस साल की शुरुआत के असर से अब तक उबरने में सक्षम नहीं हुए हैं। चालू वित्त वर्ष में फरवरी तक के 11 महीनों में यात्री वाहनों की कुल बिक्री पिछले साल की समान अवधि के 29,87,859 वाहनों से 3.27 प्रतिशत बढ़कर 30,85,640 इकाइयों पर पहुंच गयी।

माथुर ने कहा कि चुनाव से पहले लोग कार खरीदने जैसे खर्च को टाल रहे हैं। इसके साथ ही बाजार की मौजूदा नरम धारणा के कारण मार्च में भी बिक्री अधिक रह पाना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि अत: हमें लगता है कि हम इस वित्त वर्ष में करीब तीन प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करने वाले हैं जो अभी तक देखने को मिला है। सिआम ने इस वित्त वर्ष की शुरुआत में यात्री कारों की बिक्री में वृद्धि का आठ से 10 प्रतिशत रहने का अनुमान जाहिर किया था। हालांकि, बाद में उसने इसे संशोधित कर छह प्रतिशत कर दिया था। आलोच्य महीने के दौरान यात्री वाहन बाजार की शीर्ष कंपनी मारुति सुजुकी की बिक्री मामूली 0.19 प्रतिशत बढ़कर 1,39,912 इकाइयों पर रही थी।

हुंदै मोटर इंडिया के यात्री वाहनों की बिक्री फरवरी में 3.13 प्रतिशत गिरकर 43,110 इकाइयों पर आ गयी। हालांकि महिंद्रा एंड महिंद्रा के यात्री वाहनों की बिक्री इस दौरान 16.86 प्रतिशत उछलकर 26,106 इकाइयों पर पहुंच गयी। सिआम के आंकड़ों के अनुसार, इस दौरान कारों की घरेलू बिक्री पिछले साल के 1,79,122 से 4.33 प्रतिशत कम होकर 1,71,372 इकाइयों पर आ गयी। इस दौरान मारुति सुजुकी के कारों की घरेलू बिक्री 3.25 प्रतिशत गिरकर 1,00,513 इकाइयों पर और हुंदै मोटर इंडिया के कारों की घरेलू बिक्री 6.43 प्रतिशत गिरकर 32,792 इकाइयों पर आ गयी। हालांकि होंडा कार्स इंडिया की बिक्री 46.53 प्रतिशत बढ़कर 10,920 इकाइयों पर पहुंच गयी।