BREAKING NEWS

राजस्‍थान में शीतलहर का कहर, 5वीं कक्षा तक के स्‍कूल 31 जनवरी तक बंद ◾आज का राशिफल (30 जनवरी 2022)◾सिर्फ मोदी को लगता है, चीन ने हमारी जमीन नहीं ली : राहुल गांधी◾BCCI ने भारतीय अंडर-19 महिला टीम के लिए 5 करोड़ के नकद पुरस्कार की घोषणा की◾भारतीय महिला टीम बनी अंडर-19 टी20 विश्व कप चैम्पियन, बधाइयों का लगा तांता◾बारिश भी नहीं डिगा सका बीटिंग रिट्रीट के जज्बे को, गणतंत्र दिवस समारोह का हुआ औपचारिक समापन◾दिल्ली में बारिश, अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे◾ओडिशा के मंत्री नब किशोर दास की गोली लगने से मौत, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री ने शोक जताया◾IND vs NZ : स्पिनरों के दबदबे के बीच भारत ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया, श्रृंखला 1-1 से बराबर◾हमीरपुर में दूषित जल पीने से बीमार पड़ने वालों की संख्या 535 हुई, मुख्यमंत्री ने रिपोर्ट मांगी◾प्रधानमंत्री मोदी : 'तकनीकी दशक बनाने का भारत का सपना होगा साकार'◾रामचरितमानस विवाद में घिरे स्वामी प्रसाद को अखिलेश ने बनाया राष्ट्रीय महासचिव, चाचा शिवपाल को भी मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾यूपी के मंत्री जितिन प्रसाद ने स्वामी प्रसाद मौर्य के रामचरितमानस बयान को बताया चुनावी रणनीति◾Air Asia Flight: एयर एशिया के विमान से टकराया पक्षी, लखनऊ एयरपोर्ट पर हुई इमरजेंसी लैंडिंग◾ सपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की लिस्ट में पार्टी नेताओं के नाम किए घोषित,विवादों में रहें स्वामी प्रसाद मौर्य को बनाया गया महासचिव◾पाकिस्तान की जनता पर टूटा दुखों का पहाड़, पेट्रोल, डीजल के दाम 35-35 रुपये लीटर बढ़े◾Gonda Crime : धारदार हथियार से की शिक्षक की हत्या, मिले कुछ महत्वपूर्ण सुराग ◾2024 के लिए कठिन क्यों है कांग्रेस का डगर, भारत जोड़ो यात्रा से लोगों में दिखा असर◾कांग्रेस पार्टी शुरु करेंगी हाथ से हाथ जोड़ो अभियान, केंद्र की खराब नीतियों से कराएगी अवगत◾Bharat Jodo Yatra: रणदीप सुरजेवाला ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में शामिल होने से लोगों को रोका◾

अर्थशास्त्रियों की भविष्यवाणी-2023 में भारी छंटनी के लिए तैयार रहें

2023 में भारी छंटनी होने वाली है, ज्यादातर कारोबारी अर्थशास्त्रियों ने भविष्यवाणी की है कि उनकी कंपनियां आने वाले महीनों में पेरोल में कटौती करेंगी। यह बात मीडिया रिपोर्ट्स में कही गई है।

नए सर्वेक्षण का हवाला देते हुए सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, केवल 12 प्रतिशत अर्थशास्त्रियों ने अनुमान लगाया है कि अगले तीन महीनों में उनकी फर्मो में रोजगार बढ़ेगा। नेशनल एसोसिएशन फॉर बिजनेस इकोनॉमिक्स (एनएबीई) द्वारा सर्वेक्षण किया गया था।

कोविड महामारी के शुरुआती दिनों के बाद यह पहली बार है कि अधिक कारोबारियों ने अपनी फर्मो में नौकरियों के सिकुड़ने का अनुमान लगाया है। एनएबीई के अध्यक्ष जूलिया कोरोनाडो के अनुसार, निष्कर्ष इस साल मंदी में प्रवेश करने के बारे में व्यापक चिंता का संकेत देते हैं।

माइक्रोसॉफ्ट और गूगल जैसी और बड़ी टेक कंपनियों के चल रहे छंटनी के मौसम में शामिल होने के साथ, लगभग 3,000 तकनीकी कर्मचारियों की अब भारत सहित वैश्विक स्तर पर जनवरी में औसतन प्रति दिन छंटनी की जा रही है।

सर्वेक्षण के अनुसार, आधे से अधिक व्यवसायिक अर्थशास्त्री अगले वर्ष 50 प्रतिशत या उससे अधिक की मंदी का जोखिम महसूस करते हैं, जिसका अर्थ है कि 2023 में अधिक छंटनी होगी।

166 टेक कंपनियों ने अब तक 65,000 से अधिक कर्मचारियों को हटा दिया है। गूगल की मूल कंपनी अल्फाबेट ने 12,000 कर्मचारियों, या अपने कार्यबल के लगभग 6 प्रतिशत की छंटनी करने की घोषणा की। माइक्रोसॉफ्ट के चेयरमैन और सीईओ सत्य नडेला ने पिछले हफ्ते कहा था कि कंपनी ऐसे बदलाव करेगी जिसके परिणामस्वरूप वित्त वर्ष 2023 की तीसरी तिमाही के अंत तक हमारे कुल कार्यबल में 10,000 नौकरियों की कमी आएगी।

अमेजन ने पहले भारत में लगभग 1,000 सहित वैश्विक स्तर पर 18,000 कर्मचारियों की छंटनी करने की घोषणा की थी। संगीत स्ट्रीमिंग की दिग्गज कंपनी स्पोटिफाई ने सोमवार को वैश्विक स्तर पर अपने कर्मचारियों के 6 प्रतिशत या लगभग 600 कर्मचारियों को कम करने की घोषणा की।

छंटनी ट्रैकिंग साइट लेयोफ्स डॉट एफवाईआई के आंकड़ों के अनुसार, 2022 में, 1,000 से अधिक कंपनियों ने 154,336 कर्मचारियों की छंटनी की।