BREAKING NEWS

Petrol-Diesel Price : दिल्ली में आज से नई कीमत लागू, जानिए आपके शहर में पेट्रोल-डीजल के दाम◾विश्व में ओमीक्रॉन के बढ़ते प्रकोप के बीच SII ने कोविशील्ड की बूस्टर डोज के लिए DCGI से मांगी मंजूरी ◾UPTET पेपर लीक: वरुण गांधी ने किया योगी सरकार पर कटाक्ष, पूछा- कब तक सब्र करे भारत का युवा... ◾ममता के 'UPA क्या है' वाले बयान पर बोले खड़गे-हमें मिलकर BJP से लड़ना है, आपस में न लड़े विपक्ष ◾राजधानी दिल्ली में हुई प्रदूषण की वापसी, बहुत खराब श्रेणी में दर्ज हुआ AQI, हल्की बारिश की संभावना ◾Today's Corona Update : 'ओमिक्रॉन' वैरिएंट के बीच भारत में बढ़ी चिंता, एक दिन में 477 लोगों की हुई मौत◾लोकसभा में विपक्ष बनाए शांति तो कई अहम विधेयक पेश करेगी सरकार, ओमीक्रॉन वेरिएंट पर भी हो सकती है चर्चा ◾ भारत आने वाले है रुस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, 7.5 लाख AK-203 असॉल्ट राइफल डील हो सकती है फाइनल ◾मुरादाबाद : प्रियंका गांधी आज ससुराल में करेंगी ‘प्रतिज्ञा रैली’, पार्टी कार्यकर्ताओं में भरेंगी जोश◾पंजाब कांग्रेस में घमासान जारी, राहुल तक पहुंची जाखड़ Vs सिद्धू की लड़ाई, CM चन्नी ने भी की मुलाकात ◾केंद्र सरकार ने 15 दिसंबर से शुरू होने वाली अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगाई रोक, बाद में किया जाएगा विचार ◾विदेश सचिव श्रृंगला ने अफगानिस्तान मामलों के यूरोपीय संघ के विशेष दूत से मुलाकात की◾ममता के बयान पर वेणुगोपाल का पलटवार, बोले- यह महज एक सपना है..कि कांग्रेस के बिना BJP को हरा सकते है◾मुंबई हवाई अड्डे पर पहुंचने वाले घरेलू यात्रियों को RTPCR की निगेटिव रिपोर्ट लेकर आना अनिवार्य : BMC ◾PM मोदी के कुशल नेतृत्व के चलते भारत आज वैश्विक अर्थव्यवस्था में एक ‘‘ब्राइट स्पॉट’’ के रूप में उभर रहा है: BJP◾पंजाब इलेक्शन से पहले SAD को लगा झटका, मनजिंदर सिंह सिरसा ने थामा BJP का कमल◾केजरीवाल के पेट्रोल की कीमतों पर देर से लिए फैसले से दिल्ली वासियों को करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ : मनोज तिवारी◾कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों की सुरक्षा पर केंद्र ने झाड़ा पल्ला, कहा- इसकी जिम्मेदारी राज्य सरकारों की◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जागरूकता मिशन की शुरुआत करेंगे ‘गोल्डन ब्वाय’ नीरज चोपड़ा ◾'ओमिक्रोन' के चलते सरकार ने पीछे खींचे अपने कदम, 15 दिसंबर से शुरू नहीं होंगी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें◾

व्हाट्सऐप निजता नियमों के मुद्दे पर कार्रवाई के विकल्पों पर ध्यान दे रही है सरकार

इलेक्ट्रॉनिक और आईटी मंत्रालय की एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सरकार व्हाट्सऐप पर निजता नियमों के मुद्दे को लेकर सर्वोत्तम संभव विकल्पों पर 'अग्र सक्रिय रूप से' विचार कर दे रही है।

गौरतलब है कि व्हाट्सऐप ने अपने उपयोगकर्ताओं के लिए निजता नीति में किया गया बदलाव स्वीकार करने की खातिर 15 मई तक की समयसीमा तय की थी लेकिन बाद में विवादित अपडेट स्वीकार करने के लिए दी गयी यह समयसीमा रद्द कर दी।

कंपनी ने यह भी कहा था कि नयी शर्तों को न मानने पर किसी भी उपयोगकर्ता का खाता बंद नहीं किया जाएगा। इसके बाद कंपनी ने अपने नये फैसले में कहा कि शर्तें स्वीकार न करने वाले उपयोगकर्ता ऐप पर आने वाली सामान्य कॉल और वीडियो कॉल जैसी कुछ सुविधाओं का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे।

मंत्रालय की विशेष सचिव और वित्तीय सलाहकार ज्योति अरोड़ा ने एसोचैम के एक कार्यक्रम में कहा, 'मंत्रालय इस समस्या से वाकिफ है। आज जर्मनी ने व्हाट्सऐप की इस निजता नीति पर प्रतिबंध लगा दिया। मंत्रालय इसे लेकर हर संभव विकल्पों पर अग्र सक्रिय रूप से ध्यान दे रहा है।'

ज्योति झारखंड सरकार के एक अधिकारी द्वारा जतायी गयी चिंताओं को लेकर जवाब दे रही थीं। अधिकारी ने कहा था कि झारखंड के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों को व्हाट्सऐप के नये निजता नियमों को स्वीकार करने के लिए मजबूर किया जा रहा है जबकि उन्हें खुद पर पड़ने वाले इनके असर के बारे में पता ही नहीं है।