BREAKING NEWS

उपचुनाव LIVE : 18 राज्यों की 51 विधानसभा और 2 लोकसभा सीटों पर वोटिंग जारी, UP में 9 बजे तक हुआ 8.43 प्रतिशत मतदान ◾हरियाणा विधानसभा चुनाव LIVE: साइकिल पर सवार होकर वोट डालने पहुंचे खट्टर, जीत का किया दावा ◾महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव LIVE: फडणवीस समेत कई नामी फिल्मी सितारों ने डाला वोट◾संघ प्रमुख मोहन भागवत बोले- बीते 90 वर्षों से हमें निशाना बनाया जा रहा है ◾हरियाणा में मुकाबला सिर्फ BJP और कांग्रेस के बीच : भूपिंदर सिंह हुड्डा◾केजरीवाल ने BJP पर साधा निशाना - बिजली सब्सिडी खत्म कर देगी भाजपा◾पोस्ट पेमेंट बैंक ने चुनौतियों को अवसर में बदला : PM मोदी ◾प्याज के मुद्दे पर भाजपा का केजरीवाल पर हमला, मुख्यमंत्री आवास का होगा घेराव◾सीमा पार तीन आतंकी शिविर ध्वस्त किये गए, 6-10 पाक सैनिक ढेर : सेना प्रमुख ◾PoK में भारतीय सेना की बड़ी कार्रवाई : सेना ने LoC पार जैश, हिजबुल के 35 आतंकी मार गिराए◾30 अक्टूबर को जामिया के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति कोविंद होंगे मुख्य अतिथि◾महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए कल होगा मतदान, BJP लगातार दूसरे कार्यकाल की कोशिश में ◾वैश्विक आर्थिक जोखिमों के कारण बहुपक्षीय सहयोग को मजबूत करने की जरूरत : सीतारमण ◾मनमोहन सिंह करतारपुर गलियारे के औपचारिक उद्घाटन में नहीं होंगे शामिल : सूत्र◾TOP 20 NEWS 20 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भारत की तरफ से गोलीबारी में हमारे 4 जवान शहीद, हमने भारतीय सेना के 9 सैनिकों को मार गिराया : PAK◾कमलेश तिवारी हत्याकांड: योगी से मिले परिजन, पत्नी बोली- CM ने हर संभव कार्रवाई का दिया आश्‍वासन◾भारतीय सेना ने PoK में तबाह किए आतंकी कैंप, 5 पाकिस्तानी सैनिक ढेर◾अभिजीत बनर्जी को लेकर BJP पर राहुल ने साधा निशाना, कहा- ये बड़े लोग नफरत से अंधे हो गए है◾अभिजीत बनर्जी के नोबेल पुरस्कार को राजनीतिक चश्मे से न देखा जाए : मायावती◾

व्यापार

एसटीसी की वित्तीय सेहत सुधारेगी सरकार

नयी दिल्ली : सरकार वाणिज्य मंत्रालय के अधीन आने वाली स्टेट ट्रेडिंग कॉरपोरेशन (एसटीसी) की वित्तीय स्थिति में सुधार के उपायों पर विचार कर रही है। जिन उपायों पर विचार किया जा रहा है, उनमें बैंक कर्ज के भुगतान के लिये एसटीसी को पर्याप्त समय देने का प्रावधान तथा अचल संपत्ति की बिक्री शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार, ‘‘इन उपायों के बारे में वाणिज्य मंत्रालय, वित्त मंत्रालय और बैंकों के बीच चर्चा की गयी है।’’ 

प्रस्ताव के तहत एसटीसी को 500 करोड़ रुपये के भुगतान के लिये पांच साल का समय दिया जा सकता है। इसके अलावा बैंकों से अपने बकायों की वसूली को लेकर राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) के पास दायर मामलों को वापस लेने के लिये कहा जाएगा। एसटीसी की 2018-19 की सालाना रिपोर्ट के अनुसार कंपनी नकदी की कठिन स्थिति से गुजर रही है। 

सभी बैंकों ने एसटीसी खातों को ब्याज और मूल राशि की वापसी नहीं होने से एनपीए (गैर-निष्पादित परिसंपत्ति) घोषित किया है। कंपनी को 2018-19 में 881 करेाड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ है जबकि उसे इससे पिछले वित्त वर्ष 2017-18 में करीब 38 करोड़ रुपये का लाभ हुआ था। एसटीसी को कर्ज दे रखे बैंकों ने एसटीसी के खिलाफ डीआरटी/एनसीएलटी में याचिकाएं दायर की हुई हैं और प्रक्रियाएं जारी हैं। कंपनी अपने बकाये के निपटान को लेकर बैंकों के साथ पुनर्गठन समझौता करने की प्रक्रिया में है।