BREAKING NEWS

आतंकी मॉड्यूल : ISI प्रशिक्षित आतंकवादी भारत में पुलों, रेलवे पटरियों को उड़ाने वाले थे - आधिकारिक सूत्र◾केशव प्रसाद मौर्य ने सपा पर साधा निशाना , कहा - रोजा-इफ्तार पार्टी करने वाले अब मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं◾RSS पर विवादित बयान देने पर राहुल पर प्राथमिकी दर्ज करने पर विचार कर रहे हैं नरोत्तम मिश्रा◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे के दगडूशेठ हलवाई गणपति ट्रस्ट की सराहना की◾SC, ST, OBC , अल्पसंख्यक, महिलाओं के लिए योजनाओं को लेकर केंद्र ने GoM का किया गठन◾केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ शिरोमणि अकाली दल शुक्रवार को दिल्ली में करेगा प्रदर्शन ◾कोविड-19 टीकाकरण को लेकर गोवावासियों को संबोधित करेंगे PM मोदी◾भारत ने अमेरिका में खालिस्तानी अलगाववादी समूहों की गतिविधियों पर चिंता व्यक्त की◾कोविड-19 की बूस्टर खुराक फिलहाल केंद्रीय विषय नहीं : केंद्र◾गुजरात : CM भूपेंद्र पटेल ने अपने पास रखे कई मंत्रालय, कनुभाई देसाई को वित्त विभाग की जिम्मेदारी सौंपी◾वित्त मंत्री सीतारमण बोली- कोरोना महामारी के समय जनधन-आधार-मोबाइल की तिगड़ी पासा पलटने वाली साबित हुई◾विराट कोहली ने किया बड़ा ऐलान, विश्व कप के बाद छोड़ेंगे टी-20 प्रारूप की कप्तानी◾एक समय था जब गुजरात को कहा जाता था कर्फ्यू राजधानी, BJP सरकार ने मजबूत की कानून-व्यवस्था : शाह◾कांग्रेस ने ICMR पर कोरोना से जुड़े तथ्य छिपाने का लगाया आरोप, आपराधिक जांच की मांग की ◾BJP ने राहुल को बताया 'इच्छाधारी हिंदू', कहा- जब व्यक्ति का ‘मूल पिंड’ विदेशी हो, तो रहती है ये विसंगती ◾PM मोदी के जन्मदिन पर दिव्यांगों को मिलेगी सौगात, गुजरात में शुरू होगी ‘मोबाइल वैन’ सेवा◾अमेरिकी दूत का दावा- असरफ गनी के अचानक बाहर निकलने से तालिबान का सत्ता बंटवारा समझौता ठप◾गुजरात की नई कैबिनेट में पटेल समुदाय का दबदबा, कुल 24 मंत्रियों ने ली शपथ◾UP में सरकार बनने पर हर घर को 300 यूनिट बिजली मुफ्त देगी AAP पार्टी, मनीष सिसोदिया ने की घोषणा◾हैदराबाद रेप-मर्डर : रेलवे ट्रैक पर मिली आरोपी की लाश, 6 साल की बच्ची के साथ किया था दुष्कर्म◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बकाया वसूली के लिये जेट के दफ्तर को बेचेगी एचडीएफसी

नई दिल्ली : मकान, दुकान और जमीन के लिये कर्ज देने वाली एचडीएफसी ने संकट में फंसी जेट एयरवेज के दफ्तर को बिक्री के लिये रखा है। इसके लिये आरक्षित मूल्य 245 करोड़ रुपये रखा गया है। कंपनी ने बकाया कर्ज की वसूली के लिये यह कदम उठाया है। जेट एयरवेज का परिचालन 17 अप्रैल से अस्थायी रूप से बंद है। एयरलाइन के ऊपर एचडीएफसी का 414 करोड़ रुपये बकाया है। एचडीएफसी ने सार्वजनिक नोटिस में कहा कि कर्जदार (जेट एयरवेज) 414.80 करोड़ रुपये का बकाया लौटाने में विफल रही।

अत: एचडीएफसी लि. गिरवी रखी अचल संपत्ति को भुनाने की हकदार है। दफ्तर मुंबई के उपनगरी वित्तीय केंद्र बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में 52,775 वर्ग फुट में बना (कारपेट एरिया) हुआ है। यह जेट एयरवेज गोदरेज बीकेसी इमारत की चौथी मंजिल पर है। सार्वजनिक नोटिस के अनुसार कार्यालय के लिये आरक्षित मूल्य 245 करोड़ रुपये है और इसकी ई-नीलामी 15 मई को होगी।

जेट एयरवेज वित्तीय समस्याओं से जूझ रही है। कंपनी ने कर्मचारियों के वेतन समेत कई भुगतान में चूक की है। समाधान योजना के तहत भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाले बैंकों के समूह ने एयरलाइन में हिस्सेदारी बिक्री के लिये बोली आमंत्रित की है।

150 पायलटों की मदद करेगी जेट वित्तीय संकट के कारण फिलहाल ठप पड़ी विमान सेवा कंपनी जेट एयरवेज के प्रबंधन ने गुरुवार को कहा कि वह दूसरी एयरलाइन में नौकरी पाने में अपने पायलटों की मदद करेगा और इसके लिए उनसे सीधे संवाद करेगा। कंपनी प्रबंधन और पायलटों की आज यहां हुई एक बैठक में यह फैसला किया गया। बैठक की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बताया कि बैठक में कंपनी के दुबारा परिचालन शुरू करने की स्थिति में विमानों की अनुमानित संख्या और उसके जरूरी पायलटों की संख्या पर विचार किया गया।

अनुमान के अनुसार, मार्च 2020 तक कंपनी के पास छह से सात बोइंग-777 विमान, करीब 55 बोइंग-737 विमान और तीन या उससे भी कम एयरबस 330 विमान होंगे। उसके लिए कंपनी को 850 पायलटों की जरूरत होगी। उल्लेखनीय है कि इस साल के आरंभ में कंपनी के पास लगभग 1,500 पायलट थे, लेकिन जनवरी से वेतन नहीं मिलने के कारण 500 पायलट पहले ही नौकरी छोड़ चुके हैं। बैठक में प्रबंधन ने कहा कि उसे पायलटों की संख्या डेढ़ सौ और घटानी होगी।

इसके लिए प्रबंधन सीधे दूसरी विमान सेवा कंपनियों के प्रबंधनों से बात करेगा। इस बैठक में जेट एयरवेज के मुख्य लोक अधिकारी राहुल तनेजा, उपमहाप्रबंधक (मानव संसाधन) श्रीकांत भागवत तथा पायलटों के संगठन नेशनल एविएटर्स गिल्ड के सदस्य भी मौजूद थे। प्रबंधन ने पायलटों को अल्पावकाश पर दूसरी विमान सेवा कंपनियों में नौकरी के लिए छोड़ने के विकल्प पर विचार किया और तनेजा ने भरोसा दिलाया कि इसमें कंपनी पायलटों की मदद करेगी। इसके लिए छह सदस्यों के एक नियुक्ति दल का भी गठन किया गया है।