BREAKING NEWS

बंगाल में BJP कार्यकर्ता की हत्या, तृणमूल पर लगाया आरोप◾CM योगी ने नड्डा,शाह से की मुलाकात◾कांग्रेस ने ‘पार्टी विरोधी’ गतिविधियों के लिए रोशन बेग को किया सस्पेंड◾तृणमूल के विधायक, कई पार्षदों ने थामा BJP का दामन◾‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ पर बुधवार सुबह निर्णय लेंगे कांग्रेस और सहयोगी दल ◾अधीर रंजन चौधरी लोकसभा में कांग्रेस के बने नेता◾स्पीकर के चुनाव में बिड़ला का समर्थन करेगा UPA, ''एक राष्ट्र, एक चुनाव'' पर अभी निर्णय नहीं ◾बजट से पहले मोदी के साथ महत्वपूर्ण विभागों के सचिवों की बैठक ◾J&K : पुलवामा में पुलिस थाने पर ग्रेनेड हमला, 5 घायल, 2 की हालत गंभीर◾PM मोदी ने 19 जून को बुलाई सर्वदलीय बैठक, 'एक राष्ट्र एक चुनाव' पर करेंगे चर्चा◾मेरठ : गमगीन माहौल में हुआ शहीद मेजर का अंतिम संस्कार, अंतिम दर्शन को उमड़ा जनसैलाब ◾WORLD CUP 2019, ENG VS AFG : इंग्लैंड ने अफगानिस्तान के खिलाफ रिकार्डों की झड़ी लगाई ◾विपक्ष ने महाराष्ट्र के वित्त मंत्री के ट्विटर हैंडल पर बजट लीक को लेकर की सरकार आलोचना की◾Top 20 News - 18 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾बिहार के CM नीतीश ने एईएस पीड़ित बच्चों को लेकर दिए आवश्यक निर्देश ◾लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए NDA उम्मीदवार ओम बिड़ला को मिला BJD का समर्थन ◾मेरठ पहुंचा शहीद मेजर का पार्थिव शरीर, झलक पाने को उमड़ी भारी भीड़ ◾2005 अयोध्या आतंकी हमले में 4 आरोपियों को उम्रकैद, एक बरी◾सोनिया गांधी, हेमा मालिनी और मेनका गांधी ने ली लोकसभा सदस्यता की शपथ ◾रक्षा मंत्री राजनाथ ने मेजर केतन को दी श्रद्धांजलि ◾

व्यापार

भारतीय कंपनियों ने जर्मनी में दिए 27400 रोजगार

नई दिल्ली : भारत की 80 कंपनियों ने जर्मनी में वर्ष 2016 में 11.4 अरब यूरो का कारोबार करते हुये 27400 लोगों को रोजगार उपलब्ध कराये। सर्वेक्षण के आधार एक रिपोर्ट में यह खुलासा करते हुये कहा है कि यह सर्वेक्षण प्रमुख कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के साथ साक्षात्कार पर आधारित है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2010 से 2016 के दौरान जर्मनी में भारतीय कंपनियों ने 140 बड़ी परियोजनायें शुरू की है। इसमें प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के साथ ही अधिग्रहण और विलय भी शामिल है। जर्मनी यूरोप में भारतीय कंपनियों के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के मामले में दूसरे स्थान पर है और इन कंपनियों ने 96 परियोजनाओं में निवेश किया है। जिन क्षेत्र में भारतीय कंपनियों ने निवेश किया है उनमें ऑटोमोटिव, धातु प्रसंस्करण उद्योग, प्रोफेशनल, टेकनिकल और वैज्ञानिक सेवायें, रसायन एवं फार्मा उद्योग, इलेक्ट्रोटेक्निक्स और मशीनरी विनिर्माण आदि शामिल है। रिपोर्ट के अनुसार भारतीय कंपनियां जर्मनी में अभी अपने कारोबार का 70 फीसदी हिस्सा धातु उद्योग और ऑटोमोटिव उद्योग से हासिल कर रही है। इस क्षेत्र में काम कर रही कंपनियों में टाटा स्टील, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज और सोना ऑटोकॉम्प शामिल है।

जर्मनी में भारतीय कंपनियों के राजस्व में आईटी उद्योग की हिस्सेदारी मात्र नौ फीसदी है। सर्वेक्षण में भाग लेने वाले 80 फीसदी सीईओ ने कहा कि इनोवेशन और टेक्नालाजी जर्मनी में निवेश करने का महत्वपूर्ण कारक है। इसके लिए भारतीय कंपनियों विलय और अधिग्रहण पर जोर दे रही है। भारतीय कंपनियों ने जो अधिग्रहण किये हैं उनमें 20 फीसदी कंपनियां ऑटोमोटिव क्षेत्र से जुड़ी हुयी है जबकि एक तिहाई कंपनियां मेकिनकल इंजीनियरिंग क्षेत्र की हैं।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।