BREAKING NEWS

मनमोहन ने की Modi सरकार की आलोचना, कहा - सरकार आर्थिक मंदी को स्वीकार नहीं कर रही है◾अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा के मद्देनजर J&K में सुरक्षा बल सतर्क◾राम मंदिर का मॉडल वही रहेगा, थोड़ा बदलाव किया जाएगा : नृत्यगोपाल दास ◾मुंबई के कई बड़े होटलों को बम से उड़ाने की धमकी, ई-मेल भेजने वाला लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य◾‘हिंदू आतंकवाद’ की साजिश वाली बात को मारिया ने 12 साल तक क्यों नहीं किया सार्वजनिक - कांग्रेस◾सरकार को अयोध्या में मस्जिद के लिए ट्रस्ट और धन उपलब्ध कराना चाहिए - शरद पवार◾संसदीय क्षेत्र वाराणसी में फलों फूलों की प्रदर्शनी देख PM मोदी हुए अभिभूत, साझा की तस्वीरें !◾दुनिया भर में कोरोना वायरस का प्रकोप, विश्व में अब तक 75,000 से अधिक लोग वायरस से संक्रमित◾आर्मी हेडक्वार्टर को साउथ ब्लॉक से दिल्ली कैंट ले जाया जाएगा : सूत्र◾INDO-US के बीच व्यापार समझौता ‘अटका’ नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप ने कहा - जल्दबाजी में यह नहीं किया जाना चाहिये◾कन्हैया ने BJP पर साधा निशाना , कहा - CAA से गरीबों एवं कमजोर वर्गों की नागरिकता खत्म करना चाहती है Modi सरकार◾महंत नृत्य गोपाल दास बने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष , नृपेंद्र मिश्रा को निर्माण समिति की कमान◾पंजाब में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सिद्धू के AAP में जाने की अटकलें , भगवंत बोले- कोई वार्ता नहीं हुई◾पंजाब में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले नवजोत सिद्धू AAP में जाने की अटकलें , भगवंत बोले- कोई वार्ता नहीं हुई◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले माह जाएंगे बांग्लादेश दौरे पर◾विनायक दामोदर सावरकर पर बड़े विमर्श की तैयारी, अमित शाह संभालेंगे कमान◾अगले 5 साल में खोले जाएंगे 10,000 नए एफपीओ, मंत्रिमंडल ने दी योजना को मंजूरी◾केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में 22वें विधि आयोग के गठन को मंजूरी दी◾देश विरोधी नारों के मामले को लेकर केजरीवाल बोले - कन्हैया के चार्जशीट पर निर्णय के लिए विधि विभाग से कहेंगे◾प्रियंका गांधी राज्यसभा की सदस्य बननी चाहिए - अविनाश पांडे◾

जनता पर महंगाई की मार जारी, आज फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

नई दिल्ली: ‌अगस्त माह से जो पेट्रोल-डीजल के दामों में बढोत्तरी का ‌सिल‌सिला जारी हुआ था वो आज (1 अक्टूबर) को भी जारी रहा।  कल जहां पेट्रोल-डीजल के दामों में तो बढोत्तरी हुई ही वहीं रसोई गैस (LPG), प्राकृतिक गैस (CNG) और विमानों के ईंधन (ATF) के भी दाम बढ़ा दिए गए जो आधी रात से प्रभावी हो गए हैं। आज (सोमवार) को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत में 24 पैसे की बढ़ोतरी कर दी गई, यानी दिल्ली में पेट्रोल 83.73 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है। वही डीजल के दाम भी 30 पैसे बढ़ा दिए गए। दिल्ली में डीजल 75.09 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है। वहीं मुंबई की बात करें तो यहां पेट्रोल के दाम में 24 पैसे की बढ़ोतरी के बाद यह 91.08 रुपया प्रति लीटर मिल रहा है वहीं डीजल लगभग 80 रुपया लीटर (79.72) मिल रहा है।

 

Petrol & Diesel prices in #Delhi are Rs 83.73 per litre (increase by Rs 0.24) & Rs 75.09 per litre (increase by Rs 0.30), respectively. Petrol & Diesel prices in #Mumbai are Rs 91.08 per litre (increase by Rs 0.24) & Rs 79.72 per litre (increase by Rs 0.32), respectively. pic.twitter.com/5WwFpIcbDk

— ANI (@ANI) 1 October 2018

दिल्ली-एनसीआर में 30 सितंबर की आधी रात से सीएनजी के दाम भी बढ़ा दिए गए। सीएनजी की सप्लाई करने वाली एजेंसी इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड ने अपनी अधिसूचना में कहा है कि आज आधी रात से सीएनजी के दाम में 1.70 रुपए से लेकर 1.95 रुपए तक की बढ़ोतरी की जा रही है। दिल्ली में जहां सीएनजी की कीमत में 1.70 रुपए की वृद्धि होगी, वहीं एनसीआर यानी नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में इसके दाम 1.95 रुपए तक बढ़ेंगे। वहीं, हरियाणा के शहर रेवाड़ी में सीएनजी के दाम में 1.80 रुपए की वृद्धि की जाएगी। IGL के अनुसार दिल्ली में जहां सीएनजी की कीमत 44.30 रुपए प्रति किलो होगी, वहीं एनसीआर में यह 51.25 रुपए प्रति किलो बिकेगी. रेवाड़ी में सीएनजी का दाम 54.05 रुपए प्रति किलो होगा।

रविवार को रसोई गैस (LPG), प्राकृतिक गैस (CNG) और विमानों के ईंधन (ATF) के दाम भी बढ़ गए. सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर की कीमत दिल्ली में 2.89 रुपए बढ़कर 502.4 रुपए प्रति सिलेंडर हो गई। दिल्ली में बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर अक्टूबर में 59 रुपए महंगा हो गया। विमान ईंधन (एटीएफ) की घरेलू दर में 2650 रुपये प्रति किलोलीटर की बढ़ोत्तरी की गई है। यह बढ़ोत्तरी भी 1 अक्टूबर से प्रभावी हो गई।

पेट्रोल और डीजल के दामों में वृद्धि की तरह ही रसोई गैस के मूल्य में बढ़ोतरी की वजह भी वैश्विक बाजार में हलचल ही बताई गई है। इंडियन ऑयल ने एक बयान में कहा कि सिलेंडर की कीमतों में यह बढ़ोत्तरी प्रमुख तौर पर अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमतें बढ़ने और विदेशी मुद्रा विनिमय दर में उतार-चढ़ाव के चलते की गई है। कंपनी ने बताया कि सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत पर वास्तविक प्रभाव मात्र 2.89 रुपए प्रति सिलेंडर पड़ेगा। इसकी प्रमुख वजह उस पर जीएसटी का लगना है। अक्टूबर में ग्राहकों के खाते में 376.60 रुपए प्रति सिलेंडर सब्सिडी जमा की जाएगी, जो सितंबर 2018 में 320.49 रुपए थी।

बता दें कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का ये सिलसिला 1 अगस्त से शुरू हुआ था, जो अब तक जारी है। दो-चार दिनों को छोड़ दिया जाए तो हर रोज तेल की कीमतें बढ़ रही हैं। माना जा रहा है कि पांच राज्यों में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले तेल की कीमतों में बढ़ोतरी का ये सिलसिला थम सकता है। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पेट्रोलियम उत्पादों पर लगने वाले कर को घटाने की मांग पर बुधवार को कहा था कि इस तरह की कटौती से लंबी राहत नहीं मिलेगी, क्योंकि फिलहाल अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दामों में भारी अस्थिरता है। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में अगर केंद्र सरकार उत्पाद शुल्क और राज्यों के मूल्य संवर्धित कर (वैट) में कमी का कोई उपाय करती है तो भी उसका असर कुछ दिनों में खत्म हो जाएगा, क्योंकि फिलहाल कच्चे तेल की कीमतें स्थिर नहीं हैं।