BREAKING NEWS

राहुल गांधी ने प्याज पर सीतारमण के बयान को लेकर तंज कसा ◾TOP 20 NEWS 05 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾PNB घोटाला : नीरव मोदी भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित ◾DTC और क्लस्टर बसों में लगेंगे CCTV कैमरे, पैनिक बटन, GPS : केजरीवाल ◾मायावती ने केंद्र द्वारा लाए गए नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया विभाजनकारी और असंवैधानिक◾चिदंबरम ने पहले ही दिन जमानत की शर्तों का उल्लंघन किया: प्रकाश जावड़ेकर◾अर्थव्यवस्था पर असामान्य रूप से मौन हैं PM मोदी, सरकार को नहीं कोई खबर : चिदंबरम ◾रेपो दर में नहीं हुआ कोई बदलाव, RBI ने GDP ग्रोथ अनुमान घटाकर किया 5 फीसदी◾वायनाड में बोले राहुल- PM मोदी और अमित शाह ‘काल्पनिक’ दुनिया में जी रहे हैं इसलिए देश संकट में है◾जेल से बाहर आते ही एक्शन में दिखे चिदंबरम, संसद परिसर में मोदी सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन◾प्रियंका ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा- प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहतर होने के फर्जी प्रचार से बाहर निकलना चाहिए◾महाराष्ट्र में शिवसेना को बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए 400 पार्टी कार्यकर्ता◾उत्तर प्रदेश : उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने की कोशिश, सभी आरोपी फरार ◾अमेरिका : पर्ल हार्बर शिपयार्ड में हुई गोलीबारी, बाल-बाल बचे भारतीय वायुसेना प्रमुख भदौरिया◾मध्य प्रदेश : रीवा में बस-ट्रक के बीच भीषण टक्कर, 9 की मौत, 10 लोग घायल◾पूर्व PM मनमोहन सिंह बोले- अगर नरसिम्हा राव ने मान ली होती गुजराल कि बात तो टल सकता था 1984 का दंगा◾कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों पर वोटिंग जारी, बीजेपी सरकार की किस्मत का होगा फैसला◾सूडान फैक्ट्री हादसे में भारतीयों की मौत पर PM मोदी दुख प्रकट किया ◾जेल से बाहर आने के बाद चिदंबरम ने सोनिया गांधी से की मुलाकात ◾कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने निर्मला को ‘निर्बला कहने पर जताया खेद ◾

व्यापार

आईओसी, अन्य को बीपीसीएल के लिए बोली लगाने की अनुमति नहीं होगी

 bpcl

नई दिल्ली : सरकार ने संकेत दिया है कि इंडियन आयल कॉरपोरेशन (आईओसी) तथा सार्वजनिक क्षेत्र की अन्य कंपनियों को भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि. (बीपीसीएल) में हिस्सेदारी खरीदने के लिए बोली लगाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। बीपीसीएल के अधिग्रहण के लिए किसी भी खरीदार को करीब 90,000 करोड़ रुपये खर्च करने पड़ सकते हैं। मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति (सीसीईए) ने बुधवार को देश की दूसरी सबसे बड़ी सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनी बीपीसीएल और सबसे बड़ी जहाजरानी कंपनी शिपिंग कॉरपोरेशन आफ इंडिया (एससीआई) में सरकार की समूची हिस्सेदारी बेचने की मंजूरी दी है। 

इसके अलावा कंटेनर कॉरपोरेशन आफ इंडिया (सीसीआई) के निजीकरण का भी फैसला किया गया है। इसके साथ ही सरकार ने चुनिंदा सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों में अपनी हिस्सेदारी को घटाकर 51 प्रतिशत से नीचे लाने की मंजूरी दी है। प्रधान ने बृहस्पतिवार को संवाददाताओं से कहा, ‘‘2014 से ही हमारी सोच रही है कि सरकार का काम कारोबार करना नहीं है।’’ उन्होंने कहा कि हमारे पास दूरसंचार और विमानन जैसे दो-तीन क्षेत्रों के उदाहरण हैं जहां निजी क्षेत्र की भागीदारी से उपभोक्ताओं के लिए कीमत घटी है और दक्षता बढ़ी है। 

साथ ही उन्हें बेहतर सुविधाएं उपलब्ध हो पा रही हैं। बीपीसीएल का अधिग्रहण करने वाले खरीदार को देश की 14 प्रतिशत कच्चा तेल शोधन क्षमता और ईंधन विपणन ढांचे का करीब 25 प्रतिशत मिलेगा। भारत को दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ता ऊर्जा बाजार माना जाता है। हालांकि, बीपीसीएल की बिक्री उसके पोर्टफोलियो से नुमालीगढ़ रिफाइनरी को निकालने के बाद की जाएगी। नुमालीगढ़ रिफाइनरी को किसी सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई को सौंपा जाएगा। प्रधान ने कहा, ‘‘नुमालीगढ़ रिफाइनरी की स्थापना असम समझौते के तहत की गई थी। यह सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई बनी रहेगी।