BREAKING NEWS

महबूबा ने दिल्ली के जंतर मंतर पर दिया धरना, बोलीं- यहां गोडसे का कश्मीर बन रहा◾अखिलेश सरकार में होता था दलितों पर अत्याचार, योगी बोले- जिस गाड़ी में सपा का झंडा, समझो होगा जानामाना गुंडा ◾नागालैंड मामले पर लोकसभा में अमित ने कहा- गलत पहचान के कारण हुई फायरिंग, SIT टीम का किया गया गठन ◾आंग सान सू की को मिली चार साल की जेल, सेना के खिलाफ असंतोष, कोरोना नियमों का उल्लंघन करने का था आरोप ◾शिया बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने अपनाया हिंदू धर्म, परिवर्तन को लेकर दिया बड़ा बयान, जानें नया नाम ◾इशारों में आजाद का राहुल-प्रियंका पर तंज, कांग्रेस नेतृत्व को ना सुनना बर्दाश्त नहीं, सुझाव को समझते हैं विद्रोह ◾सदस्यों का निलंबन वापस लेने के लिए अड़ा विपक्ष, राज्यसभा में किया हंगामा, कार्यवाही स्थगित◾राज्यसभा के 12 सदस्यों का निलंबन के समर्थन में आये थरूर बोले- ‘संसद टीवी’ पर कार्यक्रम की नहीं करूंगा मेजबानी ◾Winter Session: निलंबन के खिलाफ आज भी संसद में प्रदर्शन जारी, खड़गे समेत कई सांसदों ने की नारेबाजी ◾राजनाथ सिंह ने सर्गेई लावरोव से की मुलाकात, जयशंकर बोले- भारत और रूस के संबंध स्थिर एवं मजबूत◾IND vs NZ: भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से करारी शिकस्त देकर रचा इतिहास, दर्ज की सबसे बड़ी टेस्ट जीत ◾विपक्ष ने लोकसभा में उठाया नगालैंड का मुद्दा, घटना ने देश को झकझोर कर रख दिया, बिरला ने कही ये बात ◾UP विधानसभा चुनाव में BSP बनाएगी पूर्ण बहुमत की सरकार, मायावती ने किया दावा ◾दिल्ली में हल्का बढ़ा पारा, 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज हुई वायु गुणवत्ता, फ्लाइंग स्क्वॉड की कार्रवाई जारी ◾पीएम मोदी ने किया ट्वीट! लोगों से टीकाकरण अभियान की गति बनाए रखने की अपील की◾अमित शाह नगालैंड में गोलीबारी की घटना पर संसद में आज देंगे बयान, 1 जवान समेत 14 लोगों की हुई थी मौत ◾लोकसभा में कई अहम बिल होंगे पेश, साथ ही बहुत से विधेयकों को मिलेगी मंजूरी, जानें क्या हैं संभावित मुद्दे ◾देश में नए वेरिएंट के खतरे के बीच कोरोना के 8 हजार से अधिक संक्रमितों की पुष्टि, इतने मरीजों हुई मौत ◾World Coronavirus: 26.58 करोड़ हुआ संक्रमितों का आंकड़ा, 52.5 लाख से अधिक लोगों की मौत ◾देश में तेजी से फैल रहा है कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन, जानिए किन राज्यों में मिल चुके हैं संक्रमित मरीज ◾

कोल ब्लॉक आवंटन रद्द करने से अधर में लटकी बिजली परियोजनायें

नई दिल्ली : बिजली उत्पादन करने वाली कंपनी एस्सार पावर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के वी बी रेड्डी का कहना है कि कोल ब्लॉक आवंटन रद्द करने से कई बिजली परियोजनायें बीच में फंस गयी हैं और बैंक उनके लिए अब अधिक धन देने से भी इनकार कर रहे हैं, जिससे यह क्षेत्र गहरे संकट में फंस गया है। श्री रेड्डी ने आज कहा कि कोल ब्लॉक आवंटन रद्द करने से एस्सार पावर का झारखंड स्थित तोरी संयंत्र भी अधर में लटक गया है। ईंधन की आपूर्ति सुनिश्चित नहीं होने के कारण परियोजनायें बीच में फंसी हैं और बैंक आगे वित्त पोषण से इनकार कर रहे हैं।

परियोजनाओं में देर होने से बैंक इन पर उच्च जोखिम वाली संपदा का ठप्पा लगा देंगें और 13 से 14.5 फीसदी तक का ब्याज वसूल करने लगेंगें। अगर कंपनियां इस ब्याज को नहीं चुका पायेंगी तो यह रिण डूबी रकम में बदल जायेगी और इससे पूरा बिजली क्षेत्र प्रभावित होगा। उन्होंने बिजली और वित्त मंत्रालय से यह अनुरोध किया है कि वे ऐसी परियोजनाओं के लिए रिण की व्यवस्था करें और साथ ही यह सुनिश्चित करें कि इन परियोजनाओं पर 13-14 फीसदी के मौजूदा दर के बजाय बेस दर नौ फीसदी के आधार पर ब्याज लिया जाये।

श्री रेड्डी ने कहा कि अधिकतर राज्यों के उदय योजना से जुडऩे के कारण निजी बिजली उत्पादक कंपनियों की उम्मीद बढ़ी है। कई राज्यों के डिस्कॉम बोली लगाने के लिए आगे नहीं आ रहे हैं और उदय योजना से जुडऩे के कारण यह उम्मीद बढ़ी है कि इससे उनकी वित्तीय स्थिति में सुधार होगा और वे बोली लगाने के लिए आगे आयेंगे। दरअसर पूरा बुनियादी ढ़ांचा क्षेत्र धन की कमी से जूझ रहा है और यह एक गंभीर मुद्दा है कि कैसे रिण के अनुकूल माहौल बनाकर इसे डूबी रकम में बदलने से रोका जाये।

- वार्ता