BREAKING NEWS

राउत और उद्धव ने बाला साहेब को दी श्रद्धांजलि, फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा-स्वाभिमान की मिली सीख◾बैंकॉक में अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और राजनाथ सिंह के बीच हुई द्विपक्षीय बैठक◾दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में हुआ सुधार, नोएडा और गुरुग्राम में स्थिति फिलहाल गंभीर◾दिल्ली : ITO में लगे BJP सांसद गौतम गंभीर के लापता होने के पोस्टर◾वसीम रिजवी बोले- बगदादी और ओवैसी में कोई अंतर नहीं◾अयोध्या पर AIMPLB की बैठक आज, इकबाल अंसारी करेंगे बहिष्कार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने रांची में भाजपा से मुकाबला करने के लिए झामुमो को किया आगे◾महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने बैंकाक पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ◾किसानों की आवाज को कुचलना चाहती है भाजपा सरकार : अखिलेश◾उत्तरी कश्मीर में पांच संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार ◾‘शिवसेना राजग की बैठक में भाग नहीं लेगी’ ◾TOP 20 NEWS 16 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रामलीला मैदान में मोदी सरकार की ‘जनविरोधी नीतियों’ के खिलाफ विपक्ष करेगी बड़ी रैली ◾झारखंड विधानसभा चुनाव : भाजपा ने तीन उम्मीदवारों की चौथी सूची की जारी◾

व्यापार

वैश्विक आर्थिक जोखिमों के कारण बहुपक्षीय सहयोग को मजबूत करने की जरूरत : निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि है मौजूदा वैश्विक आर्थिक जोखिमों और असंतुलन से निपटने में सरकारों की अपनी-अपनी पहलों के अलावा बहुपक्षीय स्तर पर पर सहयोग की आवश्यकता बढ़ गयी है। वित्त मंत्री ने आईएमएफ और विश्वबैंक की वार्षिक बैठक 2019 में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा एवं वित्तीय समिति (आईएमएफसी) के पूर्ण अधिवेशन में यह बात कही। 

वित्त मंत्रालय के बयान के मुताबिक, सीतारमण ने कहा कि देश अपने स्तर पर नपे-तुले और संतुलित राजकोषीय तथा मौद्रिक उपायों और बुनियादी सुधारों को लागू करें तो उन्हें अपनी संभावनाओं के अनुरूप आर्थिक वृद्धि हासिल करने में मदद मिल सकती है। सीतारमण ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष को आर्थिक दृष्टि से महत्वपूर्ण देशों से जुड़ी विशिष्ट समस्याओं से निपटने में मदद करने के लिए अलग अलग समाधान पेश करने चाहिए। 

वित्त मंत्री ने कहा कि आईएमएफ को ऐसी नीतिगत व्यवस्था विकसित करनी चाहिए जिसके तहत वैश्विक पूंजी के प्रवाह के बदलावों से अर्थव्यवस्थाओं के लिए खतरों का आकलन हो और कमजोर अर्थव्यवस्थाओं की रक्षा के लिए मंजबूत निगरानी तंत्र तथा और अधिक तेज नीतिगत औंजार विकसित किए जाएं। 

मुद्राकोष में मताधिकार कोटा की सामान्य समीक्षा के 15वें दौर की वार्ता भारत जैसे देशों के कोटे में वृद्धि के बिना ही खत्म होने के संबंध में उन्होंने कहा कि 16वें दौर की समीक्षा वार्ता पूरी गंभीरता से शुरू किया जाना चाहिए और इसे पूरा करने को एक समय सीमा तय की जानी चाहिए।