BREAKING NEWS

पीडीपी पार्टी नहीं बल्कि एक आंदोलन, भाजपा इसे तोड़ नहीं सकती : महबूबा मुफ़्ती◾सैन्य वार्ता : भारत का हॉटस्प्रिंग्स, गोगरा एवं अन्य बिन्दुओं से सैनिकों की जल्द वापसी पर जोर◾PM मोदी सोमवार को डिजिटल भुगतान के लिए 'ई-रुपी' की करेंगे शुरुआत ◾राजस्थान में भारी बारिश के बाद रेल की पटरी बही, उत्तर और मध्य भारत में तेज बारिश की संभावना◾महाराष्ट्र के पुणे जिले में जीका वायरस का पहला मामला आया सामने ◾मानसून सत्र के पहले दो सप्ताहों में राज्यसभा के 40 घंटे हंगामे की भेंट चढ़े◾राजस्थान : गहलोत मंत्रिमंडल में संभावित फेरबदल से पहले अजय माकन बोले- कई मंत्री पद छोड़ने के इच्छुक◾शिवराज के मंत्री ने बढ़ती महंगाई के लिए नेहरू पर फोड़ा ठीकरा, कहा-1947 के भाषण से शुरू हुई अर्थव्यवस्था की बदहाली◾संसद में पेगासस व किसानों के मुद्दे पर चर्चा करवाने के लिए विपक्षी दलों ने किया राष्ट्रपति से दखल देने का आग्रह◾मोदी कैबिनेट से हटाए जाने के बाद बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से संन्यास का किया ऐलान, बोले- समाज सेवा के लिए आया था◾राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह बने जेडीयू के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष, जानिए नीतीश के करीबी का राजनीतिक संघर्ष◾UP बोर्ड एग्जाम का रिजल्ट जारी, 10वीं में 99.53% और 12वीं में 97.88% स्टूडेंट्स पास ◾टोक्यो ओलंपिक 2020 : पीवी सिंधु फाइनल की रेस से हुई बाहर, मेडल की उम्मीद अब भी बरकरार◾मिजोरम पुलिस की FIR पर CM सरमा का ट्वीट, 'किसी भी जांच में शामिल होने पर होगी खुशी'◾ओलंपिक मुक्केबाजी : क्वार्टर फाइनल में हारीं पूजा रानी, पहले ही मुकाबले में हारकर बाहर हुए अमित पंघाल ◾चुनावों से पहले BJP खेल रही आरक्षण का कार्ड, जानिए UP समेत किन 5 राज्यों में गूंजेगा OBC रिजर्वेशन का मुद्दा ◾आतंकी सरगना मसूद अजहर का भतीजा 'लंबू' मुठभेड़ में ढेर, पुलवामा हमले की साजिश में था शामिल ◾असम और मिजोरम के बीच हुई हिंसा पर बोले राहुल- देश में दंगों को बीज की तरह बोया जा रहा है◾अखिलेश यादव ने भाजपा के कार्यकर्ताओं को बताया ई-रावण, सोशल मीडिया पर नफरत फैलाने का लगाया आरोप ◾'UPA सरकार ने कभी पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा नहीं दिया', BJP का कांग्रेस पर पलटवार◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह चालू वित्त में अबतक दोगुना से अधिक 1.85 लाख करोड़ रुपये रहा : वित्त मंत्रालय

भले ही भारत में कोविड महामारी से अर्थव्यवस्था को काफी नुक्सान पहुंचा है पर वित्त मंत्रालय ने टैक्स कलेक्शन में लगातार नयी ऊंचाइयों को छूआ है। पहली तिमाही और दूसरी तिमाही में मंत्रालय ने टैक्स संग्रह में बढ़ौतरी दर्ज की गयी है। बुधवार को मंत्रालय ने इस मामले में और अधिक आंकड़ों के साथ जानकारी उपलब्ध कराई है। 

आयकर विभाग ने बुधवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष में अबतक शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह दोगुना से अधिक होकर 1.85 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया। इसका मुख्य कारण व्यक्तिगत आयकर और अग्रिम कर भुगतान में वृद्धि है। शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह में शामिल कंपनी आयकर (सीआईटी) संग्रह 74,356 करोड़ रुपये जबकि प्रतिभूति सौदा कर (एसटीटी) समेत व्यक्तिगत आयकर संग्रह 1.11 लाख करोड़ रुपये रहा। 

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने एक बयान में कहा कि वापस की गयी कर राशि को हटाकर शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह एक अप्रैल से 15 जून के बीच 1,85,871 करोड़ रुपये रहा जबकि पिछले साल इसी अवधि में यह 92,762 करोड़ रुपये था। यानी पिछले साल के मुकाबले इसमें 100.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।’’ 

चालू वित्त वर्ष में अबतक 30,731 करोड़ रुपये कर वापस किये गये हैं। मौजूदा वित्त वर्ष में अबतक सकल प्रत्यक्ष कर संग्रह 2.16 लाख करोड़ रुपये रहा जो पिछले साल इसी अवधि में 1.37 लाख करोड़ रुपये था। बयान के अनुसार सकल कंपनी आयकर संग्रह 96,923 करोड़ रुपये जबकि व्यक्तिगत आयकर 1.19 लाख करोड़ रुपये रहा। 

अग्रिम कर संग्रह 28,780 करोड़ रुपये जबकि स्रोत पर कर कटौती (टीडीएस) 1,56,824 करोड़ रुपये रही। खुद से आकलन किया गया कर 15,343 करोड़ रुपये और नियमित आकलन कर 14,079 करोड़ रुपये रहा। सीबीडीटी ने कहा, ‘‘नये वित्त वर्ष के शुरूआती महीनों के बेहद चुनौतीपूर्ण होने के बावजूद, वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के लिए अग्रिम कर संग्रह करीब 146 प्रतिशत बढ़कर 28,780 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 11,714 करोड़ रुपये था।’’