BREAKING NEWS

निलंबन को लेकर सरकार पर बरसा विपक्ष, संसद में रातभर धरना देंगे राज्यसभा से निलंबित सांसद◾कोरोना संक्रमित मां ठीक होकर पहुंची घर तो बेटा - बहु ताला लगाकर हुए गायब, वृद्धा ने 3 दिन गुजारे बाहर ◾सीएम योगी का एलान : नोएडा क्षेत्र को उत्तरी भारत के सबसे बड़े ‘लॉजिस्टिक हब’ के रूप में स्थापित करेंगे ◾गृह मंत्री अमित शाह ने रबी फसलों की एमएसपी में वृद्धि को बताया ‘ऐतिहासिक’◾रबी फसलों के समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी से गलतफहमी दूर होनी चाहिए : राजनाथ सिंह◾RCB vs SRH IPL 2020: सनराइजर्स हैदराबाद ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला◾केंद्र सरकार ने रबी फसलों के एमएसपी में की वृद्धि, किसान जहां चाहें अपने उत्पाद बेच सकेंगे : नरेंद्र तोमर◾राहुल गांधी ने राज्यसभा से विपक्षी सदस्यों के निलंबन को ‘अलोकतांत्रिक’ और ‘एकतरफा' बताया ◾भारतीय नौसेना ने पहली बार हेलीकॉप्टर स्ट्रीम में दो महिला अधिकारियों को किया तैनात◾माइक तोड़ा, रूलबुक फेंकी और राज्यसभा के उपसभापति को धमकी दी गई : वेंकैया नायडू◾इंदौर के अस्पताल में कोरोना मरीज बुजुर्ग के शव को चूहों ने कुतरा, जांच का आदेश◾राहुल का वार- देश की बदहाली के लिए खुद के कुशासन को दोषी नहीं ठहराती मोदी सरकार ◾विधानसभा चुनाव से पहले PM मोदी ने बिहार को दी 14,000 करोड़ की परियोजना की सौगात ◾MSP पर PM मोदी ने एक बार फिर दोहराई अपनी बात, कृषि मंडियों में पहले की तरह होता रहेगा काम◾संवेदनशील जानकारी साझा करने के आरोप में पत्रकार राजीव सहित 3 को 7 दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा गया◾'सर्वज्ञ' सरकार के अहंकार ने ला दिया आर्थिक संकट, लोकतांत्रिक भारत की आवाज दबाना जारी : राहुल गांधी ◾कोविड-19 : देश में पॉजिटिव मामलों की संख्या 55 लाख के करीब, एक्टिव केस 10 लाख के पार ◾चीन से तनातनी के बीच भारतीय वायुसेना में शामिल हुए राफेल ने लद्दाख में भरी उड़ान ◾राज्यसभा के सभापति की सख्त कार्रवाई, हंगामा करने वाले आठ विपक्षी सदस्य निलंबित◾महाराष्ट्र : भिवंडी में इमारत गिरने से 10 लोगों की मौत, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पेट्रोल, डीजल वाहनों पर 'ब्रेक' की जरूरत नहीं : नितिन गडकरी

नई दिल्ली : सरकार ने वाहन उद्योग की आशंका को दूर करने का प्रयास करते हुए कहा है कि पेट्रोल और डीजल वाहनों पर प्रतिबंध लगाने की कोई जरूरत नहीं है। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को यहां कहा कि पेट्रोल, डीजल वाहनों को बंद करने की जरूरत नहीं है और बिजलीचालित या इलेक्ट्रिक वाहन खुद-ब-खुद रफ्तार पकड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि दो साल में सभी बसें बिजलीचालित हो जाएंगी। 

इससे पहले सरकार के शोध संस्थान नीति आयोग ने प्रस्ताव किया था कि 2030 के बाद देश में सिर्फ बिजलीचालित वाहन ही बेचे जाएं। बाद में पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और कई केंद्रीय मंत्रियों ने वाहन उद्योग की चिंता दूर करने का प्रयास करते हुए कहा था कि सरकार का ऐसा कोई इरादा नहीं है। नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कान्त की अगुवाई वाली एक समिति ने सुझाव दिया था कि 2025 से 150 सीसी इंजन क्षमता तक सिर्फ इलेक्ट्रिक तिपहिया और तिपहिया की बिक्री की जाए। 

गडकरी ने सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उपक्रमों (एमएसएमई) में ऊर्जा दक्षता पर एक राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि मैं हमेशा बिजलीचालित वाहनों मसलन कार, बाइक और बसों की बात करता रहा हूं। अब यह खुद शुरू हो गया है। इसे अनिवार्य करने की जरूरत नहीं है। पेट्रोल, डीजल वाहनों पर प्रतिबंध लगाने की जरूरत नहीं है। अगले दो साल में सभी बसें इलेक्ट्रिक होंगी और ये जैव एथेनॉल और सीएनजी पर दौड़ेंगी इसके लागत लाभ पर बात करते हुए मंत्री ने कहा कि यदि हम वाहनों को बिजली पर चलाते हैं, इसकी लागत 15 रुपये लीटर डीजल की बैठेगी। 

मैंने जब उद्योग से बैठक में कहा कि मैं धुआं छोड़ने वाली मशीनों को बंद करूंगा, तो सभी घबरा गए.....अब हमारे पास जर्मनी से प्लास्टिक सिलेंडर उपलब्ध हैं। इससे एलएनजी की 50 प्रतिशत लागत और सीएनजी की 40 प्रतिशत लागत की बचत होगी। उन्होंने खेतों की पराली को बिजली उत्पादन के लिए स्वच्छ ईंधन में बदलने की भी बात की। उन्होंने कहा कि इससे वाहन भी दौड़ाए जा सकेंगे और किसानों की आमदनी कई गुना बढ़ाई जा सकेगी।