BREAKING NEWS

भाजपा बंगाल में सांप्रदायिक जहर फैलाकर जीती : ममता◾मतदाताओं और कार्यकर्ता का धन्यवाद करने वायनाड जायेंगे राहुल◾केरल के तटों पर हाई अलर्ट, ISIS के 15 आतंकवादी भारत में घुसने की फिराक में - खुफिया रिपोर्ट◾ममता के इस्तीफे की पेशकश को बीजेपी ने बताया 'नाटक' ◾सोनिया गांधी ने जीत के लिए अपने संसदीय क्षेत्र की जनता एवँ सपा-बसपा के कार्यकर्ताओं का आभार किया व्यक्त◾राज्य के विशेष दर्जा को बरकरार रखने के लिए एनसी लड़ेगी लड़ाई : फारूक अब्दुल्ला◾2019 के जनादेश ने लोकतंत्र को परिवारवाद, जातिवाद और तुष्टीकरण के नासूरों से निकाला : शाह◾जनता का आभार जताने सोमवार को वाराणसी जाएंगे मोदी◾नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति से मिलकर सरकार बनाने का दावा किया पेश ◾संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद PM मोदी बोले- नये भारत के निर्माण के लिए हम अब नयी यात्रा शुरू करेंगे◾सूरत अग्निकांड : कोचिंग सेंटर का संचालक गिरफ्तार, बिल्डर फरार ◾जेट एयरवेज के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल, पत्नी को विदेश जाने से रोका◾TOP 20 News : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾ममता बनर्जी की मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे की पेशकश, पार्टी ने खारिज की ◾नरेंद्र मोदी भाजपा और राजग संसदीय दल के नेता चुने गए◾मुस्लिम परिवार ने नवजात का नाम रखा नरेन्द्र दामोदर दास मोदी ◾चुनाव आयोग ने लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों की सूची राष्ट्रपति को सौंपी◾राहुल ने की इस्तीफे की पेशकश, कार्य समिति ने इसे ठुकराया : सुरजेवाला ◾कांग्रेस कार्य समिति की बैठक खत्म, राहुल ने की इस्तीफे की पेशकश◾सूरत अग्निकांड में मृतकों की संख्या बढ़कर 23 हुई, कोचिंग सेंटर का संचालक गिरफ्तार◾

व्यापार

यात्री वाहन बिक्री हुई धड़ाम

नई दिल्ली : वाहन विक्रेताओं के संघ एफएडीए के मुताबिक फरवरी में यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री 8.25 प्रतिशत घटकर 2,15,276 इकाई रही। फरवरी 2018 में यह आंकड़ा 2,34,632 वाहन का था। फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (एफएडीए) के अनुसार समीक्षावधि में दोपहिया वाहनों की बिक्री 7.97 प्रतिशत घटकर 11,25,405 इकाई रही जो इससे पिछले वर्ष में इसी दौरान 12,22,883 वाहन थी।

एफएडीए के अध्यक्ष आशीष हर्षराज काले ने एक बयान में कहा कि जनवरी में यात्री वाहनों की बिक्री बढ़ी थी। इसकी वजह साल के आखिरी स्टॉक को खत्म करना और कुछ नए वाहन पेश करना हो सकती है। लेकिन फरवरी में इनकी खुदरा बिक्री में फिर गिरावट देखी गई है और यह चालू वित्त वर्ष में सबसे धीमी रफ्तार रही है। उन्होंने कहा कि घरेलू वाहन उद्योग लंबे समय से धीमी रफ्तार का सामना कर रहा है।

करीब-करीब छह महीनों से यह धीमा ही बना हुआ है और निकट अवधि में इसमें कोई सकारात्मक सुधार के संकेत भी नहीं दिखायी देते हैं। काले ने कहा कि पिछले साल सितंबर में बीमा की बढ़ी लागत के साथ-साथ पिछले कुछ महीनों में हमने कई नकारात्मक पहलुओं का सामना किया है।

इससे लोगों के वाहन खरीद के निर्णय और ग्राहक की धारणा में बड़ा अंतर आया है। देशभर में वाहन डीलरों के पास यात्री और वाणिज्यिक वाहन श्रेणी में पहले का बचा हुआ माल अधिक था। पिछले दो महीनों से स्थिति बेहतर हुई है और अब यह भंडार वापस से नवंबर 2018 के स्तर पर आ गया है। वहीं दोपहिया वाहनों के स्टॉक को लेकर भी स्थिति चिंताजनक है।