BREAKING NEWS

UPTET 2021 पेपर लीक मामले में परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय गिरफ्तार◾कोरोना के नए वेरिएंट के बीच भारतीय एयरलाइन कंपनियों ने दोगुनी की कीमतें, जानिए कितना देना होगा किराया ◾IPL नीलामी से पहले कोहली, रोहित, धोनी रिटेन ; दिल्ली की कमान संभालेंगे ऋषभ पंत, पढ़ें रिटेंशन की पूरी लिस्ट ◾गृह मंत्री अमित शाह दो दिन के राजस्थान दौरे पर जाएंगे, BSF जवानों की करेंगे हौसला अफजाई◾पंजाबः AAP नेता चड्ढा ने सभी राजनीतिक दलों पर लगाया आरोप, कहा- विधानसभा चुनाव में केजरीवाल बनाम सभी पार्टी होगा◾'ओमिक्रॉन' के बढ़ते खतरे के बीच क्या भारत में लगेगी बूस्टर डोज! सरकार ने दिया ये जवाब ◾2021 में पेट्रोल-डीजल से मिलने वाला उत्पाद शुल्क कलेक्शन हुआ दोगुना, सरकार ने राज्यसभा में दी जानकारी ◾केंद्र सरकार ने MSP समेत दूसरे मुद्दों पर बातचीत के लिए SKM से मांगे प्रतिनिधियों के 5 नाम◾क्या कमर तोड़ महंगाई से अब मिलेगाी निजात? दूसरी तिमाही में 8.4% रही GDP ग्रोथ ◾उमर अब्दुल्ला का BJP पर आरोप, बोले- सरकार ने NC की कमजोरी का फायदा उठाकर J&K से धारा 370 हटाई◾LAC पर तैनात किए गए 4 इजरायली हेरॉन ड्रोन, अब चीन की हर हरकत पर होगी भारतीय सेना की नजर ◾Omicron वेरिएंट को लेकर दिल्ली सरकार हुई सतर्क, सीएम केजरीवाल ने बताई कितनी है तैयारी◾NIA की हिरासत मेरे जीवन का सबसे ‘दर्दनाक समय’, मैं अब भी सदमे में हूं : सचिन वाजे ◾भाजपा की चिंता बढ़ा सकता है ममता का मुंबई दौरा, शरद पवार संग बैठक के अलावा ये है दीदी का प्लान ◾ओमीक्रोन के बढ़ते खतरे पर गृह मंत्रालय का एक्शन - कोविड प्रोटोकॉल गाइडलाइन्स 31 दिसंबर तक बढा़ई ◾निलंबन वापसी पर केंद्र करेगी विपक्ष से बात, विधायी कामकाज कल तक टालने का रखा गया प्रस्ताव, जानें वजह ◾राहुल के ट्वीट पर पीयूष गोयल ने निशाना साधते हुए पूछा तीखा सवाल, खड़गे द्वारा लगाए गए आरोपों की कड़ी निंदा की ◾कश्मीर में सामान्य स्थिति लाने के लिए बहाल करनी होगी धारा 370 : फारूक अब्दुल्ला◾स्वास्थ्य मंत्री मंडाविया ने बताया - भारत में अब तक ओमिक्रॉन वेरिएंट का कोई मामला नहीं मिला◾मप्र में शिवराज सरकार के लिए मुसीबत का सबब बने भाजपा के लिए नेताओं के विवादित बयान ◾

संसदीय समिति के समक्ष पेश हुए अमेजन के अधिकारी, राजस्व, भारत में कर भुगतान पर पूछे गये सवाल

भारत में अमेजन के शीर्ष कार्यकारी बुधवार को डेटा संरक्षण विधेयक पर संसदीय समिति के समक्ष पेश हुए। हालांकि, कुछ दिन पहले अमेजन ने समिति के समक्ष पेश होने से इनकार कर दिया था। 

भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी की अध्यक्षता वाली डेटा संरक्षण विधेयक, 2019 पर संयुक्त समिति ने अमेजन के कार्यकारियों से कंपनी के राजस्व मॉडल तथा भारत में उनके द्वारा किए जा रहे कर के भुगतान के बारे में सवाल किए। समिति ने अमेजन इंडिया और अमेजन वेब सर्विसेज के प्रतिनिधियों से अलग-अलग ‘पूछताछ’ की। दोनों के प्रतिनिधियों को करीब दो घंटे तक समिति के सवालों का सामना करना पड़ा। 

अमेजन इंडिया का प्रतिनिधित्व उसके उपाध्यक्ष चेतन कृष्णस्वामी तथा राकेश बक्शी ने किया। वहीं अमेजन वेब सर्विसेज की ओर से भारत में लोक नीति प्रमुख योलाइंड लोबो, लीड लोक नीति उत्तरा गणेश और अन्य समिति के समक्ष पेश हुए। 

सदस्यों ने ई-कॉमर्स क्षेत्र की प्रमुख कंपनी से उसके राजस्व मॉडल के बारे पूछा। उनसे यह भी सवाल किया गया कि भारत में उनका राजस्व सृजन कितना है और इसमें से कितने प्रतिशत अमेजन भारत में पुन: निवेश करती है।

समिति के सूत्रों ने बताया कि अमेजन के प्रतिनिधियों से यह भी सवाल किया गया कि भारत में वह कितना कर का भुगतान करते हैं। 

समिति ने अमेजन से इन सवालों का जवाब लिखित में देने को कहा है। इस पर कंपनी के शीर्ष अधिकारियों के हस्ताक्षर होने चाहिए।