BREAKING NEWS

US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.40 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद◾राष्ट्रपति ट्रम्प को आगरा के मेयर भेंट करेंगे 1 फुट लंबी चांदी की चाबी ◾ट्रंप को भेंट की जाएगी 90 वर्षीय दर्जी की सिली हुई खादी की कमीज◾‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में हिस्सा लेने से पहले साबरमती आश्रम जाएंगे राष्ट्रपति ट्रम्प ◾तंबाकू सेवन की उम्र बढ़ाने पर विचार कर रही है केंद्र सरकार ◾TOP 20 NEWS 23 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾मौजपुर में CAA को लेकर दो गुटों में झड़प, जमकर हुई पत्थरबाजी, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले◾दिल्ली : सरिता विहार और जसोला में शाहीन बाग प्रदर्शन के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग◾पहले शाहीन बाग, फिर जाफराबाद और अब चांद बाग में CAA के खिलाफ धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी ◾ट्रम्प की भारत यात्रा पहले से मोदी ने किया ट्वीट, लिखा- अमेरिकी राष्ट्रपति का स्वागत करने के लिए उत्साहित है भारत◾सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसलों ने देश के कानूनी और संवैधानिक ढांचे को किया मजबूत : राष्ट्रपति कोविंद ◾Coronavirus के प्रकोप से चीन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 2400 पार ◾शाहीन बाग प्रदर्शन को लेकर वार्ताकार ने SC में दायर किया हलफनामा, धरने को बताया शांतिपूर्ण◾मन की बात में बोले PM मोदी- देश की बेटियां नकारात्मक बंधनों को तोड़ बढ़ रही हैं आगे◾बिहार में बेरोजगारी हटाओ यात्रा के खिलाफ लगे पोस्टर, लिखा-हाइटैक बस तैयार, अतिपिछड़ा शिकार◾भारत दौरे से पहले दिखा राष्ट्रपति ट्रंप का बाहुबली अवतार, शेयर किया Video◾CAA के विरोध में दिल्ली के जाफराबाद में प्रदर्शन जारी, भारी संख्या में पुलिस बल तैनात ◾जाफराबाद में CAA के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर कपिल मिश्रा का ट्वीट, लिखा-मोदी जी ने सही कहा था◾US में निवेश कर रहे भारतीय निवेशकों से मुलाकात करेंगे Trump◾कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने पाक राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से की मुलाकात◾

आरबीआई ने अर्थव्यवस्था में सुस्ती को समय से पहले भांप लिया था : दास

मुंबई : भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने सोमवार को कहा कि केंद्रीय बैंक ने समय से पहले ही आर्थिक वृद्धि की रफ्तार सुस्त पड़ने की स्थिति को भांप लिया था और यही वजह है कि उसने सुस्ती शुरू होने से पहले ही फरवरी से नीतिगत ब्याज दर में कटौती शुरू कर दी थी। उन्होंने रेपो दर में कटौती के सिलसिले को विराम देने के फैसले को लेकर बाजार में व्यक्त की जा रही हैरानी पर आश्चर्य जताया। दास ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था पर सूचनाओं और आंकड़ों के आधार पर चर्चा करने की जरुरत है। 

उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक आर्थिक नरमी, मुद्रास्फीति में वृद्धि, बैंकों और एनबीएफसी की वित्तीय हालत को दुरुस्त करने के लिए 'जो भी जरूरी होगा वह कदम उठाएगा।’ उन्होंने उम्मीद जताई है कि व्यापार शुल्क पर अमेरिका-चीन का युद्ध अब थम जाएगा। सप्ताहांत इसकी घोषणा की गई उसे देखते हुये यह उम्मीद जगी है।  उन्होंने वैश्विक वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए 2008 के आर्थिक संकट की तरह इस बार भी मिलकर प्रयास करने की वकालत की है। एक इकोनॉमिक कॉन्क्लेव कार्यक्रम में दास ने कहा कि सरकार और रिजर्व बैंक दोनों ने समय पर कदम उठाए। 

आरबीआई के संबंध में , मैं कह सकता हूं कि हमने नीतिगत दर में कटौती करके समय से पहले कदम उठाया। इस साल फरवरी की शुरुआत में आरबीआई ने यह भांप लिया था कि आर्थिक वृद्धि की रफ्तार सुस्त हो रही है, हमने देखा कि वृद्धि की रफ्तार सुस्त पड़ने की गति बढ़ रही है, इसलिए हमने फरवरी से ही रेपो दर में कटौती करना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि फरवरी में आरबीआई के नीतिगत ब्याज दर में कटौती के फैसले से बाजार हैरान था। मुझे आश्चर्य है कि अब दरों में कटौती को रोकने के फैसले पर भी बाजार हैरान दिख रहा है। 

दास ने कहा कि पिछली मौद्रिक नीति समिति की बैठक में जब हमने नीतिगत दर को पूर्वस्तर पर बरकरार रखा तो मुझे नहीं पता कि बाजार ने क्यों इस पर हैरानी जताई। इस बार मुझे उम्मीद है घटनाक्रम कुछ इस तरह से सामने आएंगे जो यह साबित करेंगे कि एमपीसी का फैसला सही था। उन्होंने कहा कि आरबीआई ने बैंकों और नकदी संकट से जूझ रहे एनबीएफसी क्षेत्र की मदद के लिए कई नीतियां पेश की हैं। गवर्नर ने कहा कि रिजर्व बैंक आर्थिक नरमी, मुद्रास्फीति में वृद्धि को दुरुस्त करने तथा बैंकों और एनबीएफसी की बेहतर वित्तीय स्थिति सुनिश्चित करने के लिए जो भी जरूरी हो वो करेगा।