BREAKING NEWS

शरद पवार ने NCP छोड़ने वाले नेताओं को बताया ‘कायर’◾जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करना भाजपा की राष्ट्रीय प्रतिबद्धता थी : नड्डा ◾आजाद ने अपने गृह राज्य जाने की अनुमति के लिए उच्चतम न्यायालय का किया रुख◾सिद्धारमैया ने बाढ़ राहत को लेकर केन्द्र कर्नाटक सरकार की आलोचना की◾बेरोजगारी पर बोले श्रम मंत्री-उत्तर भारत में योग्य लोगों की कमी, विपक्ष ने किया पलटवार ◾INLD के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा और निर्दलीय विधायक कांग्रेस में हुये शामिल ◾PAK ने इस साल 2,050 से अधिक बार किया संघर्षविराम उल्लंघन, 21 भारतीयों की मौत : विदेश मंत्रालय ◾PM मोदी,वेंकैया,शाह ने आंध्र नौका हादसे पर जताया शोक◾पासवान ने किया शाह के हिंदी पर बयान का समर्थन◾न्यायालय में सोमवार को होगी अनुच्छेद 370 को खत्म करने, कश्मीर में पाबंदियों के खिलाफ याचिकाओं पर सुनवाई◾TOP 20 NEWS 15 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾आंध्र प्रदेश के गोदावरी में बड़ा हादसा : नाव पलटने से 13 लोगों की मौत, कई लापता◾संतोष गंगवार ने कहा- नौकरी के लिये योग्य युवाओं की कमी, मायावती ने किया पलटवार ◾पाकिस्तान ने इस साल 2050 बार किया संघर्षविराम उल्लंघन, मारे गए 21 भारतीय◾संतोष गंगवार के 'नौकरी' वाले बयान पर प्रियंका का पलटवार, बोलीं- ये नहीं चलेगा◾CM विजयन ने हिंदी भाषा पर बयान को लेकर की अमित शाह की आलोचना, दिया ये बयान◾महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में 'अप्रत्याशित जीत' हासिल करने के लिए तैयार है BJP : फडणवीस◾ देश में रोजगार की कमी नहीं बल्कि उत्तर भारतीयों में है योग्यता की कमी : संतोष गंगवार ◾ममता बनर्जी पर हमलावर हुए BJP विधायक सुरेंद्र सिंह, बोले- होगा चिदंबरम जैसा हश्र◾International Day of Democracy: ममता का मोदी सरकार पर वार, आज के दौर को बताया 'सुपर इमरजेंसी'◾

व्यापार

सत्यम घोटाले में सेबी को झटका

मुंबई : पूंजी बाजार नियामक सेबी को सत्यम घोटाला मामले में सैट की ओर से झटका लगा है। प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) ने 7,800 करोड़ रुपये के सत्यम घोटाला मामले में प्राइस वाटरहाउस कूपर्स (पीडब्ल्यूसी) पर दो साल के लिये लगाई गई रोक के आदेश को खारिज कर दिया। सेबी ने पीडब्ल्यूसी पर दो साल तक किसी भी सूचीबद्ध कंपनी का आडिट करने पर रोक लगाने का आदेश दिया था।  

हालांकि, सैट ने मामले में आडिट कंपनी पीडब्ल्यूसी से आंशिक तौर पर 13 करोड़ रुपये लौटाने को मंजूरी दी है। सत्यम घोटाला जनवरी, 2009 में सामने आया था। कंपनी के प्रवर्तक रामलिंग राजू ने करोड़ों रुपये के घोटाले की बात को स्वीकारा था। मामले में सेबी द्वारा पीडब्ल्यूसी पर लगाई गई रोक को दरकिनार करते हुये सैट ने कहा कि केवल राष्ट्रीय लेखापरीक्षा निगरानी संस्था भारतीय सनदी लेखा संस्थान (आईसीएआई) ही अपने सदस्यों के मामले में कोई कार्रवाई कर सकता है। 

आडिट करने में ढिलाई बरते जाने मात्र से ही धोखाधड़ी किया जाना साबित नहीं होता है। सैट ने अपने आदेश में कहा, ‘‘सेबी को आडिट की गुणवत्ता को देखने और जांचने का कोई अधिकार नहीं है। सेबी इस मामले में केवल उपचारात्मक और बचाव वाली कार्रवाई कर सकता है।