BREAKING NEWS

PNB धोखाधड़ी मामला: इंटरपोल ने नीरव मोदी के भाई के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस फिर से किया सार्वजनिक ◾कोरोना संकट के बीच, देश में दो महीने बाद फिर से शुरू हुई घरेलू उड़ानें, पहले ही दिन 630 उड़ानें कैंसिल◾देशभर में लॉकडाउन के दौरान सादगी से मनाई गयी ईद, लोगों ने घरों में ही अदा की नमाज ◾उत्तर भारत के कई हिस्सों में 28 मई के बाद लू से मिल सकती है राहत, 29-30 मई को आंधी-बारिश की संभावना ◾महाराष्ट्र पुलिस पर वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, अब तक 18 की मौत, संक्रमितों की संख्या 1800 के पार ◾दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर किया गया सील, सिर्फ पास वालों को ही मिलेगी प्रवेश की अनुमति◾दिल्ली में कोविड-19 से अब तक 276 लोगों की मौत, संक्रमित मामले 14 हजार के पार◾3000 की बजाए 15000 एग्जाम सेंटर में एग्जाम देंगे 10वीं और 12वीं के छात्र : रमेश पोखरियाल ◾राज ठाकरे का CM योगी पर पलटवार, कहा- राज्य सरकार की अनुमति के बगैर प्रवासियों को नहीं देंगे महाराष्ट्र में प्रवेश◾राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने हॉकी लीजेंड पद्मश्री बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर शोक व्यक्त किया ◾CM केजरीवाल बोले- दिल्ली में लॉकडाउन में ढील के बाद बढ़े कोरोना के मामले, लेकिन चिंता की बात नहीं ◾अखबार के पहले पन्ने पर छापे गए 1,000 कोरोना मृतकों के नाम, खबर वायरल होते ही मचा हड़कंप ◾महाराष्ट्र : ठाकरे सरकार के एक और वरिष्ठ मंत्री का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव◾10 दिनों बाद एयर इंडिया की फ्लाइट में नहीं होगी मिडिल सीट की बुकिंग : सुप्रीम कोर्ट◾2 महीने बाद देश में दोबारा शुरू हुई घरेलू उड़ानें, कई फ्लाइट कैंसल होने से परेशान हुए यात्री◾हॉकी लीजेंड और पद्मश्री से सम्मानित बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन◾Covid-19 : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 54 लाख के पार, अब तक 3 लाख 45 हजार लोगों ने गंवाई जान ◾देश में कोरोना से अब तक 4000 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 39 हजार के करीब ◾पीएम मोदी ने सभी को दी ईद उल फितर की बधाई, सभी के स्वस्थ और समृद्ध रहने की कामना की ◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- निजामुद्दीन मरकज की घटना से संक्रमण के मामलों में हुई वृद्धि, देश को लगा बड़ा झटका ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सेंसेक्स 216 अंक टूटा, आईटी, बैंक शेयरों में गिरावट

सूचना प्रौद्योगिकी और बैंक शेयरों में गिरावट से शुक्रवार को शेयर बाजारों में लगातार दूसरे दिन गिरावट दर्ज हुई। वृद्धि की चिंता के बीच निवेशक अपने पोर्टफोलियो का विस्तार नहीं कर रहे हैं, जिससे बाजार में गिरावट कायम रही।

बई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिनभर कमजोर रहने के बाद अंत में 215.76 अंक या 0.53 प्रतिशत के नुकसान से 40,359.41 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 40,276.83 अंक के निचले स्तर तक गया और इसने 40,653.17 अंक का उच्चस्तर भी छुआ।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 54 अंक या 0.45 प्रतिशत के नुकसान से 11,914.40 अंक पर बंद हुआ। साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स मात्र 2.72 अंक और निफ्टी 18.95 अंक लाभ में रहा है।

सेंसेक्स की कंपनियों में इन्फोसिस का शेयर सबसे अधिक 2.89 प्रतिशत टूटा। टीसीएस, एशियन पेंट्स, भारती एयरटेल और एचसीएल टेक के शेयर भी गिरावट के रुख के साथ बंद हुए।

अमेरिकी कर्मचारियों के संरक्षण के लिए अमेरिका द्वारा कार्य वीजा जरूरतों में बदलाव की खबरें हैं। इन खबरों से आईटी शेयरों में गिरावट आई।

वहीं दूसरी ओर टाटा स्टील का शेयर 3.74 प्रतिशत चढ़ गया। एनटीपीसी में 2.35 प्रतिशत, वेदांता में 2.27 प्रतिशत और ओएनजीसी में 2.18 प्रतिशत का लाभ रहा।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज क शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘बड़ी कंपनियों के शेयरों में ऊंचे मूल्यांकन की वजह से बाजार ऊपर की ओर है। इस वजह से बड़े शेयरों को और आगे बढ़ने की गुंजाइश नहीं मिल रही है। अब सभी की निगाह सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर के आंकड़ों पर है जो अगले सप्ताह आने है। रिजर्व बैंक द्वारा इन आंकड़ों की व्याख्या और संभवत: अपने रुख को नरम से तटस्थ करने से बाजार की तेजी पर ब्रेक लग सकता है।’’

उन्होंने कहा कि इसके अलावा अमेरिका में पेशेवर नौकरियों के लिए अस्थायी वीजा एच1बी के नियम सख्त किए जाने की खबरों से भी बाजार में चिंता है। बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप में 0.14 प्रतिशत तक का नुकसान रहा। अन्य एशियाई बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग, जापान का तोक्यो तथा दक्षिण कोरिया का कॉस्पी लाभ में रहे। वहीं चीन के शंघाई में गिरावट आई।

शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार लाभ में चल रहे थे। इस बीच, अंतर बैंक विदेशी विनिमय बाजार में रुपया मामूली गिरावट के साथ 71.79 प्रति डॉलर पर चल रहा था। ब्रेंट कच्चा तेल वायदा 0.03 प्रतिशत के नुकसान से 63.95 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा था।