BREAKING NEWS

इजराइल ने भारत-इजराइल मित्रता के प्रमुख सूत्रधार दिवंगत शिमोन पेरेज को श्रद्धांजलि देने के लिए PM मोदी को दिया धन्यवाद◾SRH vs DC ( IPL 2020 ) : सनराइजर्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स को 15 रनों से हराया ◾ संजय सिंह ने CM योगी पर साधा निशाना , कहा - बलात्कारियों को संरक्षण दे रही है UP सरकार◾महाराष्ट्र में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, बीते 24 घंटे में 14,976 नए केस, 430 की मौत ◾उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव ◾IPL-13: जॉनी बेयरस्टो का शानदार अर्धशतक, हैदराबाद ने दिल्ली के सामने रखा 163 रनों का लक्ष्य ◾दिल्ली में कोरोना से 24 घंटे में 48 लोगों की मौत , 3227 नए मामले भी सामने आए ◾सच्चाई से परे और बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है एमनेस्टी इंटरनेशनल का बयान : गृह मंत्रालय◾ भारत ने अवैध तरीके से लद्दाख को बनाया केंद्र शासित प्रदेश, हम नहीं देते मान्यता : चीन ◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ‘रक्षा भारत स्टार्टअप चैलेंज’ की शुरुआत की, दिशा-निर्देश भी किये लॉन्च◾हाथरस केस : उप्र में ‘जंगलराज’ ने एक और युवती को मार डाला, सरकार ने कहा 'फ़ेक न्यूज़' - राहुल गांधी◾DC vs SRH आईपीएल-13 : दिल्ली कैपिटल्स ने जीता टॉस, गेंदबाजी का किया फैसला◾6 साल में सेना ने खरीदा 960 करोड़ का खराब गोला-बारूद, तकरीबन 50 जवानों ने गंवाई जान : रिपोर्ट ◾LAC विवाद पर भारत का कड़ा सन्देश - अपनी मनमानी व्याख्या जबरन थोपने की कोशिश न करें चीन◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत पर बवाल, विजय चौक के पास दिल्ली महिला कांग्रेस का जोरदार प्रदर्शन◾बिहार विधानसभा चुनाव : महागठबंधन से अलग हुई RLSP, बसपा के साथ बनाया नया गठबंधन ◾पायल घोष ने महाराष्ट्र के राज्यपाल से की मुलाकात, अनुराग कश्यप मामले में की न्याय की मांग◾विपक्ष के चौतरफा हमले के बीच यूपी सरकार ने हाथरस के पीड़ित परिवार को दी 10 लाख रु की मदद ◾चुनाव आयोग ने 12 राज्यों की 57 सीटों पर उपचुनाव की तारीखों का किया ऐलान, 10 नवंबर को नतीजे◾एनसीबी का बड़ा बयान- ड्रग्स लेने के दौरान सुशांत को रिया ने दिया बढ़ावा◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

छोटी कंपनियों के शेयरों ने दिया बेहतर रिटर्न

नई दिल्ली: शेयर बाजारों में गुजरते वर्ष 2017 में छोटे शेयरों का दबदबा रहा और निवेशकों को स्माल कैप सूचकांक में निवेश पर आकर्षक 60 प्रतिशत लाभ मिला जब कि मुंबई शेयर बाजार की 30 शीर्ष कंपनियों वाले सेंसेक्स में वर्ष के दौरान करीब 28 प्रतिशत लाभ रहा। एक विश्लेषण के अनुसार बंबई शेयर बाजार का छोटी कंपनियों के शेयरों पर आधारित सूचकांक (मिडकैप इंडेक्स) 7,184.59 अंक या 59.64 प्रतिशत लाभ में रहा। वहीं मझोली कंपनियों के शेयरों का सूचकांक 5,791.06 अंक सर 48.13 प्रतिशत मजबूत हुआ। वहीं दूसरी तरफ 30 शेयरों वाला प्रमुख कंपनियों का सेंसेक्स 2017 में 7,430.37 अंक या 27.91 प्रतिशत लाभ में रहा।

कोटक सिक्योरिटीज के मिडकैप मामलों के प्रमुख आर ओजा ने कहा, सेंसेक्स के मुकाबले लघु एवं मझोली कंपनियों के सूचकांक का प्रदर्शन बेहतर रहा। इसका मुख्य कारण घरेलू पूंजी का म्यूचुअल फंड में प्रवाह है। मिडकैप सूचकांक 29 दिसंबर को अबतक सर्वकालिक रूंचाई 17,851.03 पर पहुंच गया जबकि स्मालकैप सूचकांक उसी दिन 19,262.44 अंक तक चला गया। तीस शेयरों वाला सूचकांक इस वर्ष 27 दिसंबर को 34,137.97 अंक पर पहुंच गया था। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य बाजार रणनीतिकार आनंद जेम्स ने कहा, वर्ष 2013 से पहले पांच साल तक वैश्विक अर्थव्यवस्था नरमी से निपटने में लगा था।

उस साल मिडकैप सूचकांक में 6 प्रतिशत की गिरावट आयी। इस अवधि के दौरान बड़े कंपनियों तथा बेहतर प्रबंधन वाली कंपनियों ने चीजों को था। यही कारण है कि निफ्टी जैसे मानक सूचकांकों ने छोटी कंपनियों को पीछे छोड़ दिया था। उन्होंने कहा, वर्ष 2014 के बाद से केंद्र में स्थिर सरकार, व्यापार आशावाद में उल्लेखनीय सुधार है।

इससे बुनियादी ढांचा परियोजनाओं तथा संबद्ध सुधारों पर बल मिला इसका अर्थव्यवस्था पर गुणक प्रभाव पड़ा। न केवल जमीन-जायदाद, बुनियादी ढांचा, आवास, निर्माण से जुड़े क्षेत्र में तेजी रही बल्कि बेहतर दिनों की उम्मीद भी बढ़ी। जेम्स ने कहा, इसीलिए इन क्षेत्रों खासकर छोटी एवं मझोली कंपनियों के शेयरों को खरीदार मिले। अबतक ये भविष्य की बेहतर संभावना के अभाव में इन पर गौर नहीं किया जाता था।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यह क्लिक करें।