BREAKING NEWS

चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कहा- भविष्य में युद्ध जीतने के लिए नई प्रतिभाओं की भर्ती की जरूरत◾शशि थरूर की महिला सांसदों सग सेल्फी हुई वायरल, कैप्शन लिखा- कौन कहता है लोकसभा आकर्षक जगह नहीं?◾ओवैसी बोले- CAA को भी रद्द करे मोदी सरकार..पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा- इनको कोई गंभीरता से नहीं लेता◾ 'ओमीक्रोन' के बढ़ते खतरे के चलते जापान ने विदेशी यात्रियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की◾IND VS NZ के बीच पहला टेस्ट मैच हुआ ड्रा, आखिरी विकेट नहीं ले पाई टीम इंडिया ◾विपक्ष को दिया बड़ा झटका, एक साथ किया इतने सारे सांसदों को राज्यसभा से निलंबित◾तीन कृषि कानून: सदन में बिल पास कराने से लेकर वापसी तक, जानिये कैसा रहा सरकार और किसानों का गतिरोध◾कृषि कानूनों की वापसी पर राहुल का केंद्र पर हमला, बोले- चर्चा से डरती है सरकार, जानती है कि उनसे गलती हुई ◾नरेंद्र तोमर ने कांग्रेस पर लगाया दोहरा रुख अपनाने का आरोप, कहा- किसानों की भलाई के लिए थे कृषि कानून ◾ तेलंगाना में कोविड़-19 ने फिर दी दस्तक, एक स्कूल में 42 छात्राएं और एक शिक्षक पाए गए कोरोना संक्रमित ◾शीतकालीन सत्र में सरकार के पास बिटक्वाइन को करेंसी के रूप में मान्यता देने का कोई प्रस्ताव नहीं: निर्मला सीतारमण◾विपक्ष के हंगामे के बीच केंद्र सरकार ने राज्यसभा से भी पारित करवाया कृषि विधि निरसन विधेयक ◾कृषि कानूनों की वापसी का बिल लोकसभा में हुआ पारित, टिकैत बोले- यह तो होना ही था... आंदोलन रहेगा जारी ◾बिना चर्चा कृषि कानून बिल वापसी को विपक्ष ने बताया लोकतंत्र के लिए काला दिन, मिला ये जवाब ◾प्रदूषण के मद्दे पर SC ने अपनाया सख्त रुख, कहा- राज्य दिशानिर्देश नहीं मानेंगे, तो हम करेंगे टास्क फोर्स का गठन ◾कांग्रेस का केंद्र पर निशाना -बिल वापसी नहीं हुई चर्चा क्योंकि सरकार को हिसाब और जवाब देना पड़ता◾पीएम मोदी ने निभाया किसानों को दिया वादा, लोकसभा में हंगामे के बीच पास हुआ कृषि कानून वापसी बिल ◾प्रधानमंत्री मोदी की अपील का नहीं हुआ विपक्ष पर असर, हंगामेदार हुई दोनों सदनों की शुरुआत ◾किसानों के समर्थन में संसद के बाहर कांग्रेस का विरोध, राहुल बोले- आज उगाना है अन्नदाता के नाम का सूरज ◾"संसद में सवाल भी हो और शांति भी", सत्र की शुरुआत से पहले बोले मोदी- कुर्सी की गरिमा को रखें बरकरार◾

सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से छह कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 64,419 करोड़ रुपये घटा

सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से छह कंपनियों का बाजार पूंजीकरण बीते सप्ताह 64,419.10 करोड़ रुपये घट गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज को बाजार पूंजीकरण के लिहाज से इस दौरान सबसे ज्यादा नुकसान हुआ। रिलायंस इंडस्ट्रीज के अलावा टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, भारतीय स्टेट बैंक और आईटीसी के बाजार पूंजीकरण में भी इस दौरान गिरावट रही। 

हालांकि एचडीएफसी, हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईसीआईसीआई बैंक और इंफोसिस के बाजार पूंजीकरण में बढ़त दर्ज की गई। आलोच्य सप्ताह के दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 36,291.90 करोड़ रुपये कम होकर 9,77,600.27 करोड़ रुपये रह गया। 

इसी प्रकार, एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण 11,666.10 करोड़ रुपये गिरकर 6,98,266.18 करोड़ रुपये, टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 9,155.82 करोड़ रुपये लुढ़ककर 8,24,830.44 करोड़ रुपये और आईटीसी का बाजार पूंजीकरण 5,241.22 करोड़ रुपये की गिरावट के साथ 2,91,238.23 करोड़ रुपये पर आ गया। 

कोटक बैंक का बाजार पूंजीकरण 1,528.55 करोड़ रुपये घटकर 3,21,960.76 करोड़ रुपये और भारतीय स्टेट बैंक का बाजार पूंजीकरण 535.48 करोड़ रुपये कम होकर 3,00,982.52 करोड़ रुपये रह गया। इसके विपरीत एचडीएफसी का बाजार पूंजीकरण 6,992.28 करोड़ रुपये की तेजी के साथ 4,22,659.93 करोड़ रुपये, आईसीआईसीआई बैंक का बाजार पूंजीकरण 2,371.84 करोड़ रुपये की बढ़त लेकर 3,55,415.68 करोड़ रुपये, इंफोसिस का बाजार पूंजीकरण 2,050.79 करोड़ रुपये बढ़कर 3,13,769.82 करोड़ रुपये और हिंदुस्तान यूनिलीवर का बाजार पूंजीकरण 616.97 करोड़ रुपये चढ़कर 4,22,127.53 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। 

बाजार पूंजीकरण के हिसाब से हालांकि, सप्ताह के दौरान गिरावट आने के बावजूद रिलायंस इंडस्ट्रीज शीर्ष पर बनी रही। इसके बाद क्रमश: टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी, हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, इंफोसिस, भारतीय स्टेट बैंक और आईटीसी का स्थान रहा। अवकाश की वजह से कम कार्यसत्र वाले इस सप्ताह के दौरान बीएसई सेंसेक्स में 106.4 अंक यानी 0.25 प्रतिशत की गिरावट रही।