BREAKING NEWS

उत्तर प्रदेश सरकार के 4 मंत्रियों से यूं ही नहीं लिए गए इस्तीफे ◾LIVE : सीबीआई ने पी चिदंबरम को किया गिरफ्तार, CBI मुख्यालय में हो रही पूछताछ !◾ED ने चिदंबरम के खिलाफ जांच का दायरा बढ़ाया ◾वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्द्धमान ने मिग 21 उड़ाना किया शुरू◾मैं कानून से छिप नहीं रहा था, आशा है कि एजेंसियां कानून का सम्मान करेंगी : चिदंबरम◾राजनीतिक प्रतिशोध के तहत हो रही है कार्रवाई : कार्ती चिदंबरम ◾चिदंबरम पर उसी मामले में लटक रही है तलवार जिसमें उनके बेटे को जाना पड़ा था जेल◾चिदंबरम ईमानदार हैं तो भाग क्यों रहे हैं : श्रीकांत◾पी चिदंबरम मामले पर बोले अखिलेश : सरकार से लड़ना है तो कागज की लड़ाई जीतनी पड़ेगी ◾Modi सरकार की कंपनियों को बड़ी राहत, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दी इसकी जानकारी !◾अनुच्छेद 370 हटने से पाक अधिकृत कश्मीर लेना आसान नहीं : अखिलेश◾प्रियंका ने PM मोदी पर साधा निशाना , कहा - सरकार के दावों की पोल खोल रहे हैं औद्योगिक संस्थाओं के विज्ञापन◾TOP 20 NEWS 21 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾INX मीडिया मामले में चिदंबरम की याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾SC में अयोध्या मामले की सुनवाई, हिंदू पक्ष के वकील ने रामलला को बताया नाबालिग◾सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम की याचिका पर तत्काल सुनवाई से किया इनकार ◾PM मोदी ने जाम्बिया के राष्ट्रपति से की बातचीत, खनन और कारोबारी सहयोग पर दिया जोर ◾राहुल का केंद्र पर वार, कहा-चिदंबरम के चरित्रहनन के लिए एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही मोदी सरकार◾चिदंबरम के बचाव में प्रियंका, बोली-केंद्र की असफलताओं को उजागर करने की भुगत रहे है सजा◾उत्तर प्रदेश : योगी कैबिनेट का हुआ विस्तार, 23 मंत्रियो ने ली शपथ ◾

व्यापार

दास की सरकारी बैंकों के प्रमुखों से मुलाकात, ब्याज दर कटौती का लाभ गाहकों को देने पर दिया जोर

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रमुखों से मुलाकात की। उन्होंने बैंकों से नीतिगत दर में कटौती का फायदा तेजी से ग्राहकों तक पहुंचाने की अपनी चिंता दोहराई। 

दास ने 'बैंकिंग क्षेत्र में परिलक्षित सुधार को स्वीकार करते हुए कहा कि अब भी बहुत सी चुनौतियां हैं , जिन्हें दूर किया जाना है। इनमें फंसी परिसंपत्तियों का समाधान और जरूरतमंद क्षेत्रों के लिए कर्ज प्रवाह प्रमुख है।

 

केंद्रीय बैंक ने वक्तव्य में कहा , ' अर्थव्यवस्था में सुस्ती और जरूरतमंद क्षेत्रों के लिए कर्ज की आवश्यकता के बीच बैठक के दौरान कई मुद्दों पर चर्चा हुई। इनमें नीतिगत दरों की कटौती का फायदा ग्राहकों को वांछित स्तर से कम पहुंचाना , बैंक कर्ज और जमा में वृद्धि शामिल हैं। इसके अलावा जोखिम मूल्यांकन की मजबूत व्यवस्था और निगरानी मानकों पर भी बातचीत हुई। '

 

आरबीआई 2019 में अब तक नीतिगत ब्याज दर यानी रेपो दर में 0.75 प्रतिशत की कटौती करके उसे 5.75 प्रतिशत पर ले आया है। हालांकि , बैंकों ने इसका पूरा फायदा अब तक ऋण लेने वालों को नहीं पहुंचाया है।