BREAKING NEWS

राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास की पहली बैठक आज◾केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह बोले - कश्मीरी पंडितों का पुनर्वास सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता◾पासवान ने केजरीवाल को साफ पानी मुहैया करवाने की याद दिलाई◾J&K में पंचायतों के उपचुनाव सुरक्षा कारणों से स्थगित किए गए : जम्मू कश्मीर CEO◾मारिया खुलासे को लेकर BJP ने विपक्ष पर बोला हमला ,पूछा - क्या भगवा आतंकवाद साजिश कांग्रेस व ISI की संयुक्त योजना थी ?◾कोरोना वायरस से प्रभावित वुहान से और भारतीयों को वापस लाने, दवाएं पहुंचाने के लिए C-17 विमान भेजेगा भारत◾INX मीडिया मामले में CBI को आरोपपत्र से कुछ दस्तावेज चिदंबरम, कार्ति को सौंपने के निर्देश ◾मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त राकेश मारिया का दावा : लश्कर की योजना मुंबई हमले को हिंदू आतंकवाद के तौर पर पेश करने की थी◾ट्रम्प यात्रा को लेकर कांग्रेस ने BJP पर साधा निशाना , कहा - गरीबी को दीवार के पीछे छिपाने का प्रयास कर रही है सरकार◾संजय हेगड़े , साधना रामचंद्रन और वजाहत हबीबुल्लाह जाएंगे शाहीन बाग, शुरू होगी मध्यस्थता की कार्यवाही◾झारखंड और दिल्ली विधानसभा चुनाव में हार के बाद चिंतित बीजेपी बदल सकती है रणनीति◾ट्रंप को साबरमती आश्रम के दौरे के समय महात्मा गांधी की आत्मकथा, चित्र और चरखा भेंट किये जाएंगे◾जामिया वीडियो वार : नए वीडियो से मामले में आया नया मोड़ ◾अमर सिंह ने अमिताभ बच्चन से मांगी माफी, आपत्त‍िजनक टिप्पणियों को लेकर जताया खेद ◾UP आम बजट को कांग्रेस ने बताया किसानों और युवाओं के साथ धोखा◾जामिया हिंसा मामले में पुलिस ने दायर की चार्जशीट, कुल 17 लोगों की हुई गिरफ्तारी◾उत्तर प्रदेश : योगी सरकार ने 5 लाख 12 हजार करोड़ का बजट किया पेश, जानें क्या रहा खास◾CAA-NRC दोनों अलग, किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं : उद्धव ठाकरे◾संजय सिंह का बड़ा बयान, बोले-अमित शाह के तहत बिगड़ रही है कानून और व्यवस्था की स्थिति ◾बिहार : प्रशांत किशोर बोले- नीतीश कुमार मेरे पिता के समान◾

द. एशिया की आर्थिक प्रगति व्यापार, निवेश पर निर्भर : कांत

नयी दिल्ली : नीति आयोग के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत ने कहा कि अंतर-क्षेत्रीय व्यापार के अभाव के कारण दक्षिण एशिया का विकास ‘गंभीर रूप से प्रभावित’ हुआ है। उन्होंने क्षेत्र में निवेश, यात्रा और पर्यटन को बढ़ावा देने की जरूरत पर बल दिया। कांत ने कहा कि दक्षिण एशिया में आर्थिक वृद्धि अमेरिका या यूरोप से नहीं आएगी और इसके लिये दक्षेस (दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन) देशों की राजनीतिक इच्छाशक्ति और प्रतिबद्धता की जरूरत है। इससे वृद्धि को गति और गरीबी उन्मूलन में भी मदद मिलेगी।

दक्षेस विकास कोष (एसडीएफ) भागीदारी सम्मेलन , 2018 को यहां संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘राजनेता कुछ भी कह सकते हैं तथा क्षेत्र की राजनीति कुछ और कर सकती है लेकिन क्षेत्र के रूप में दक्षिण एशिया गंभीर रूप से प्रभावित हुआ है। यह क्षेत्र तबतक पिछड़ा रहेगा जबतक हम एकीकृत नहीं होते और हम क्षेत्र में जोर-शोर से व्यापार, निवेश, यात्रा तथा पर्यटन को आगे नहीं बढ़ाते।’’ कांत ने कहा कि दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों में यात्रा और पर्यटन की प्रकृति अंतर - क्षेत्रीय है।नीति आयोग के सीईओ ने कहा, ‘‘अगर आप अमेरिका और यूरोप को देखें, वहां व्यापार, यात्रा और पर्यटन अंतर - क्षेत्रीय है। लेकिन अगर आप दक्षिण एशिया को देखें, यह दुनिया में सबसे कम एकीकृत क्षेत्र है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप अंतर- क्षेत्रीय व्यापार देखे, आपको एक तरह से दक्षेस क्षेत्र में कोई व्यापार नहीं दिखेगा। कोई अंतर- क्षेत्रीय यात्रा और पर्यटन नहीं है... इसीलिए क्षेत्र के भीतर व्यापार के गुणक प्रभाव से दक्षेस देश लाभान्वित नहीं हुए।’’ कांत ने कहा कि दक्षेस देश क्षेत्र में साथ मिलकर काम नहीं कर पाये और इसके लिये स्वयं के अलावा किसी को दोषी नहीं ठहराया जा सकता। इस बात को रेखांकित किया कि क्यों भारतीय पर्यटक दक्षिण एशियाई देशों के बजाए थाईलैंड, सिंगापुर और मलेशिया जैसे दक्षिण पूर्व एशियाई देश जाते हैं।कांत ने दक्षिण एशियाई क्षेत्र में महिलाओं को अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में महिलाओं का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में योगदान केवल 25 प्रतिशत है। वहीं दुनिया के दूसरे देशों में महिलाओं का जीडीपी में योगदान 48 प्रतिशत है।