BREAKING NEWS

आज का राशिफल (27 फरवरी 2021)◾जम्मू-कश्मीर के रियासी में आतंकी ठिकाने का भंडाफोड़, भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद जब्त ◾विकास दर में कमी, महंगाई में तेजी की ‘दोहरी मार’ से लोग प्रभावित : कांग्रेस ◾विधानसभा चुनावों की घोषणा : कांग्रेस ने निर्णय का किया स्वागत, कहा - लोग भाजपा को ‘करारा’ जवाब देंगे ◾टीएमसी, अन्य ने बंगाल में आठ चरणों में चुनाव पर सवाल उठाए, भाजपा ने आयोग के फैसले का किया स्वागत◾सीतारमण ने जी-20 बैठक में कोरोना संकट से निपटने की भारत की नीति की जानकारी दी ◾कांग्रेस ने अर्थव्यवस्था को लेकर केंद्र सरकार पर साधा निशाना ◾ममता बनर्जी ने उठाए आठ चरणों में वोटिंग पर सवाल, कहा- BJP के कहने पर चुनाव आयोग ने लिया फैसला◾TMC के शासन काल में राजनीतिक हिंसा ‘‘नई ऊंचाइयों’’ पर पहुंच गई है : राजनाथ सिंह ◾विधानसभा में जो भाषा मुख्यमंत्री बोलते है, वह किसी योगी द्वारा नहीं बोली जा सकती : अखिलेश यादव ◾ईंधन मूल्यों की बढ़ोतरी को सीतारमण ने बताया धर्मसंकट, शिवसेना ने कहा- पद पर बने रहने का अधिकार नहीं ◾अर्थव्यवस्था में आयी ऊंचाई , तीसरी तिमाही में जीडीपी में दर्ज हुई 0.4 प्रतिशत की वृद्धि ◾कोविड टीके के लिए वरिष्ठ नागरिक, बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से अधिक आयु के लोग कराएं ‘ऑन-साइट’ पंजीकरण ◾निर्वाचन आयोग ने बंगाल सहित 5 राज्यों में किया चुनावी तारीखों का ऐलान, 2 मई को आएंगे सभी राज्यों के नतीजे ◾बंगाल चुनाव के ऐलान से पहले ममता बनर्जी ने घोषणाओं की लगाई झड़ी, श्रमिकों का बढ़ाया वेतन ◾केंद्रीय गृह मंत्रालय ने किया ऐलान - कोविड-19 पर मौजूदा दिशानिर्देश 31 मार्च तक लागू रहेंगे ◾गुजरात में बोले केजरीवाल - जनता जानती है हम सच्चे देशभक्त हैं, 2022 चुनाव में एक बड़ी क्रांति आएगी◾पश्चिम बंगाल में रोड शो कर स्मृति रानी ने ममता बनर्जी को दिया जवाब, कहा - बंगाल में खिलेगा कमल◾CTET Result 2021: सीबीएसई द्वारा घोषित किए गए नतीजे, 6.5 लाख उम्मीदवार सफल◾PM मोदी ने किया खेलो इंडिया Winter games का उद्घाटन, कहा -स्पोर्ट सिर्फ एक हॉबी नहीं स्पिरिट है ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

महामारी योजना के तहत सिर्फ एक मार्च तक के स्टैण्डर्ड लोन एकाउंट्स का पुनर्गठन हो सकता है: RBI

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने स्पष्ट किया है कि ऐसे मानक ऋण खाते, जिनमें एक मार्च 2020 तक कोई चूक नहीं हुई थी, वे ही अगस्त में महामारी संबंधी समाधान मसौदे के तहत पुनर्गठन के पात्र हैं। 

आरबीआई ने अपने छह अगस्त के परिपत्र पर यह स्पष्टीकरण मंगलवार देर रात कर्जदारों से साथ ही कर्जदाताओं को जारी किया। केंद्रीय बैंक ने कहा कि ऐसे ऋण खाते जिनमें एक मार्च 2020 को 30 दिन से अधिक का बकाया था, वे कोविड-19 समाधान मसौदे के तहत पुनर्गठन के पात्र नहीं हैं। 

ऐसा इसलिए है क्योंकि पुनर्गठन मसौदा सिर्फ योग्य कर्जदारों पर लागू है, जिन्हें एक मार्च 2020 को मानक के रूप में वर्गीकृत किया गया है। केंद्रीय बैंक ने हालांकि कहा कि ऐसे खातों का सात जून, 2019 के विवेकपूर्ण मसौदे के तहत समाधान किया जा सकता है। 

इसी तरह नियामक ने कहा कि परिचालन शुरू करने की तारीख के स्थगन (डीसीसीओ) से संबंधित परियोजना ऋणों को समाधान मसौदे के दायरे से बाहर रखा गया है और ऐसे सभी खाते सात फरवरी, 2020 और अन्य संबंधित निर्देशों के अनुसार प्रशासित होंगे। 

रत्न एवं आभूषण उद्योग ने चुनौतीपूर्ण समय में जुझारू क्षमता दिखाई : पीयूष गोयल

साथ ही एक ही कर्जदार को कई ऋणदाताओं द्वारा ऋण देने के मामले में सभी उधार देने वाले संस्थानों को एक अंतर-साख समझौता करना होगा। 

केंद्रीय बैंक ने 100 करोड़ रुपये और उससे अधिक के ऋण पर किसी क्रेडिट रेटिंग एजेंसी द्वारा स्वतंत्र क्रेडिट मूल्यांकन की जरूरत के बारे में कहा कि यदि एक से अधिक रेटिंग एजेंसी से रेटिंग ली जाती है, तो ऐसे में सभी की राय आरपी4 रेटिंग या उससे ऊपर होनी चाहिए। 

स्पष्टीकरण में यह भी कहा गया कि 26 जून को प्रभावी सूक्ष्म, लघु और मझोले उद्यमों (एमएसएमई) की नई परिभाषा, समाधान के लिए उनकी पात्रता को प्रभावित नहीं करेगी। यह समाधान एक मार्च, 2020 तक मौजूद परिभाषा के आधार पर होगा।