BREAKING NEWS

पहाड़ो पर हिमपात से राजधानी में बढ़ी ठंड, कोहरे के चलते दिल्ली एयरपोर्ट से पांच विमानों के बदले गए मार्ग◾CAA को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट आज करेगा सुनवाई◾जेपी नड्डा और अमित शाह ने दिल्ली भाजपा की चुनावी तैयारियों का लिया जायजा◾JNU में हिंसा से पहले चार पत्र लिखकर प्रशासन को छात्रों से वार्ता करने को कहा गया था : दिल्ली पुलिस◾यात्रीगण कृपया ध्यान दें, दिल्ली आने वाली 22 ट्रेनें आज 1 से 8 घंटे तक लेट◾आप नेता सुनीता, उमेद और अनवर भाजपा में शामिल◾बैंक धोखाधड़ी : हीरा कारोबारी के 13 ठिकानों पर सीबीआई छापे◾केजरीवाल के नामांकन पत्र दाखिले में चुनाव आयोग ने जानबूझकर विलंब नहीं किया : दिल्ली निर्वाचन कार्यालय◾केजरीवाल के पास कुल 3.4 करोड़ रुपये की संपत्ति, 2015 से 1.3 करोड़ रुपये बढ़त◾दावोस में डोनाल्ड ट्रंप से मिले इमरान , अमेरिकी राष्ट्रपति बोले- कश्मीर पर करीबी नजर◾टुकड़े-टुकड़े गैंग का अस्तित्व है और वह सरकार चला रहा है : थरूर◾गणतंत्र दिवस : 23 जनवरी को परेड रिहर्सल, दिल्ली पुलिस ने जारी की सूचना, ये मार्ग रहेंगे बंद, यहां से जाना होगा !◾ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो शुक्रवार को चार दिवसीय यात्रा पर आएंगे भारत◾दिल्ली को सर्दी से मिली फौरी तौर पर राहत, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में अभी भी शीत लहर ◾भारत कठिन दौर से गुजर रहा है, नीचे बनी रहेगी आर्थिक वृद्धि दर : अर्थशास्त्री◾अदालत ने आजाद की जमानत शर्तों में बदलाव कर चिकित्सा, चुनावी कारणों से दिल्ली आने की इजाजत दी◾अमित शाह की रैली में शरणार्थियों का छलका दर्द◾जम्मू कश्मीर के लोगों से उनकी समस्याओं के बारे में सुनना चाहता है केंद्र : नकवी ◾छह घंटे के इंतजार के बाद केजरीवाल ने नामांकन पत्र किया दाखिल◾TOP 20 NEWS 21 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

कंपनियों को चेयरमैन, एमडी पद अलग करने के लिए दो साल की मोहलत

मुंबई : शेयर बाजार के रेग्युलेटर सेबी ने 500 लिस्टेड कंपनियों के लिए चेयरमैन और एमडी के पद अलग-अलग करने की समयसीमा 2 साल बढ़ा दी है। अब अप्रैल 2022 तक इस नियम का पालन करना होगा। पहले अप्रैल 2020 की डेडलाइन थी। सेबी ने समयसीमा बढ़ाने की वजह नहीं बताई। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि अर्थव्यवस्था में सुस्ती को देखते खर्च कम रखने के मकसद से कंपनियां ज्यादा समय मांग रही थीं। 

चेयरमैन-एमडी का पद अलग-अलग करने का नियम कॉर्पोरेट गवर्नेंस पर सेबी की ओर से नियुक्त कोटक कमेटी की सिफारिशों का हिस्सा हैं। चेयरमैन और एमडी या सीईओ की एक पोस्ट होने से बोर्ड ऑफ डायरेक्टर और मैनेजमेंट के हितों में टकराव की आशंका रहती है। रिलायंस इंडस्ट्रीज समेत कई कंपनियों में चेयरमैन और एमडी की जिम्मेदारी एक ही व्यक्ति संभाल रहा है। 

रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) को लेकर तो नए एमडी की चर्चाएं शुरू भी हो गई थीं। फिलहाल मुकेश अंबानी आरआईएल के चेयरमैन और एमडी हैं। न्यूज एजेंसी ने रिपोर्ट दी थी कि इस साल एक अप्रैल से सेबी के नियम लागू हुए तो  मुताबिक मुकेश अंबानी नॉन-एग्जीक्यूटिव चेयरमैन और अंबानी परिवार से बाहर का कोई व्यक्ति एमडी बन सकता है। ऐसा हुआ तो रिलायंस के इतिहास में यह पहली बार होगा। 

रिपोर्ट में बताया गया कि एमडी पद के लिए निखिल मेसवानी और मनोज मोदी के नाम की ज्यादा चर्चा है। मेसवानी आरआईएल में एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर हैं। वे मुकेश अंबानी के करीबी और भरोसेमंद माने जाते हैं। मनोज मोदी रिलायंस के बोर्ड में तो शामिल नहीं, लेकिन वे भी मुकेश अंबानी के करीबी समझे जाते हैं। इनके अलावा निखिल मेसवानी के छोटे भाई हितल और पीएमएस प्रसाद के नाम भी चर्चा में होने की रिपोर्ट थी।