BREAKING NEWS

बवाल : गाजीपुर, सिंघू, टिकरी बॉर्डर से बैरिकेड तोड़ दिल्ली में घुसे किसान, पुलिस ने दागे आंसूगैस के गोले ◾राजपथ पर अत्याधुनिक हथियार, मिसाइल, लड़ाकू विमानों, भारतीय सैनिकों ने दिखाई भारत की ताकत ◾72वां गणतंत्र दिवस : राजपथ पर दिखी ऐतिहासिक विरासत, सांस्कृतिक धरोहर और शौर्य की झलक◾पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की दी शुभकामनाएं ◾भाजपा ने जय श्रीराम का नारा लगाकर नेताजी का अपमान कियाः ममता बनर्जी ◾किसान संगठनों का ऐलान - बजट के दिन संसद की तरफ करेंगे कूच, यह पूरे देश का आंदोलन है◾गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर सम्बोधन में बोले कोविंद - किसानों के हित के लिए सरकार पूरी तरह समर्पित ◾प्रदूषण फैलाने वाले पुराने वाहनों पर लगाया जायेगा ‘ग्रीन टैक्स’, गडकरी ने दी मंजूरी◾पंजाब के CM अमरिंदर सिंह ने किसानों से शांतिपूर्ण तरीके से ट्रैक्टर परेड निकालने की अपील की ◾कृषि कानूनों को डेढ़ साल तक निलंबित रखने का फैसला सरकार की 'सर्वश्रेष्ठ' पेशकश : नरेंद्र सिंह तोमर◾मुंबई की किसान रैली में बोले पवार - राज्यपाल के पास कंगना के लिए समय है, किसानों के लिए नहीं◾टीकों के खिलाफ अफवाहों को रोकने और उन्हें फैलाने वालों के खिलाफ केंद्र द्वारा सख्त कार्रवाई के निर्देश ◾प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की गलत नीतियों के कारण देश में आर्थिक असमानता बढ़ी : कांग्रेस ◾PM की मौजूदगी में तानों का करना पड़ा सामना, BJP का नाम होना चाहिए ‘भारत जलाओ पार्टी’ : CM ममता ◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेताओं से किया संवाद, जीवनी पढ़ने की दी सलाह ◾राहुल के आरोपों पर बोले CM शिवराज, कांग्रेस के माथे पर देश के विभाजन का पाप◾किसानों ने ट्रैक्टर परेड के लिए तैयार किया ब्लू प्रिंट, चाकचौबंद व्यवस्था के साथ ये है गाइडलाइन्स◾PM की वजह से देश हो गया एक कमजोर और विभाजित भारत, अर्थव्यवस्था हुई ध्वस्त : राहुल गांधी ◾महाराष्ट्र में किसानों का हल्ला बोल, कृषि कानून विरोधी रैली में उतरेंगे शरद पवार-आदित्य ठाकरे ◾सिक्किम में चीनी घुसपैठ को भारतीय सैनिकों ने किया नाकाम, चीन के 20 सैनिक जख्मी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

वॉलमार्ट भरेगी 1964 करोड़ का जुर्माना

वॉशिंगटन : ई-कामर्स कंपनी वॉलमार्ट यूएस सिक्योरिटी, अमेरिकी प्रतिभूति एवं विनिमय आयोग (एसईसी) अर्थात एक्सचेंज कमीशन के साथ अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस को लगभग 1964 करोड़ रुपए का जुर्माना अदा करने पर राजी हो गई है। 1002 करोड़ रु. एसईसी और 960 करोड़ रु. का भुगतान डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस को किया जाएगा, ताकि कंपनी को आपराधिक आरोपों से छुटकारा मिल सके। एसईसी ने वॉलमार्ट पर एफसीपीए (फॉरेन करप्ट प्रैक्टिस एक्ट) के उल्लंघन का आरोप लगाया था। जांच के दौरान कंपनी ने अपनी गलती मान ली थी। 

एसईसी ने अपनी जांच रिपोर्ट में कहा था कि रिटेल कंपनी ने भारत, चीन, ब्राजील और मैक्सिको में कारोबार के दौरान कानून की अवहेलना की। एसईसी के मुताबिक- वॉलमार्ट की थर्ड पार्टी इन्टर्मीडीएरीज ( मध्यवर्ती संस्थाओं) ने एफसीपीए का उल्लंघन किया। एफसीपीए की अनदेखी के लिए इन्टर्मीडीएरीज ने दूसरे देशों के सरकारी अफसरों को पैसे दिए थे। कमीशन का यह भी कहना है कि एक दशक से ज्यादा समय तक वॉलमार्ट ने एंटी करप्शन कंप्लायंस प्रोग्राम शुरू ही नहीं किया। जबकि इस दौरान कंपनी ने बहुत तेजी के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में अपने पैर जमाए। 

एसईसी की इनफोर्समेंट डिवीजन एफसीपीए यूनिट के प्रमुख चार्ल्स कैन का कहना है कि कंपनी अपनी इंटर्नल अकाउंटिंग को नियंत्रित करके बहुत सारी परेशानियों से बच सकती थी, लेकिन वह लगातार इसकी अनदेखी करती रही। आयोग के आदेश के मुताबिक इन देशों में काम करते हुए वॉलमार्ट भ्रष्टाचार संबंधी जोखिमों पर्याप्त रूप से जांच करने और इन जोखिमों को कम करने में नाकाम रही है। कंपनी ने भारत, चीन, ब्राजील और मैक्सिको में अपनी अनुषंगी कंपनियों को सेवा के लिए बाहरी बिचौलियों को नियुक्त करने की छूट दी। 

उन बिचौलियों ने अमेरिका के भ्रष्टाचार रोधी कानून के अनुपालन के संबंध में ठोस आश्वासन के बिना विदेशी सरकारी अधिकारियों को धन का भुगतान किया। वॉलमार्ट के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी डग मैकमिलन ने बयान में कहा कि हमें इस मामले के समाधान से खुशी है। उन्होंने कहा, वॉलमार्ट सही तरीके से कारोबार करने के लिए प्रतिबद्ध है।