नई दिल्ली : यात्री वाहनों की घरेलू बिक्री अक्टूबर में 1.55 प्रतिशत बढ़ी। वाहन विनिर्माता कंपनियों के संगठन सियाम द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार इससे तीन महीने से चल रहा गिरावट का दौर थमा तो है लेकिन त्यौहारी मौसम के हिसाब से यह मांग कम ही है। सियाम के मुताबिक अक्टूबर 2018 में 2,84,224 यात्री वाहन बिके जबकि पिछले साल इसी माह में यह बिक्री 2,79,877 इकाई थी। यात्री वाहनों की बिक्री में जुलाई में 2.71 प्रतिशत, अगस्त में 2.46 प्रतिशत और सितंबर में 5.61 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई थी। सियाम के महाप्रबंधक विष्णु माथुर ने कहा कि यात्री वाहनों की बिक्री में अक्टूबर में सकारात्मक वृद्धि देखी गई है।

यह पूरे वाहन उद्योग के रूझान को प्रदर्शित करता है। विभिन्न श्रेणियों में वाहनों की बिक्री इस दौरान 15.33 प्रतिशत बढ़कर 24,94,426 वाहन रही जो अक्टूबर 2017 में 21,62,869 वाहन थी। यात्री वाहन की बिक्री पर माथुर ने कहा कि वृद्धि कम दिखने की मुख्य वजह पिछले साल से तुलना करने वाला आधार है। इसके अलावा बीमा की लागत बढ़ना, ईंधन महंगा होना और शेयर बाजार में नरमी के रूख जैसे अन्य कारणों से भी यह वृद्धि कम रही है। इससे त्यौहारी मांग पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में उन्होंने कहा कि त्यौहारी मांग का असल असर अगले महीने दिखेगा, क्योंकि त्यौहारी मांग दिवाली पर होती है।

हालांकि अक्टूबर के अंत तक बिक्री कमजोर रही है और यह त्यौहारी मांग जैसी तो नहीं है। हालांकि उन्होंने चालू वित्त वर्ष में यात्री वाहन बिक्री में वृद्धि सात से नौ प्रतिशत रहने का अनुमान जताया। चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-अक्टूबर अवधि में यात्री वाहन की कुल बिक्री 20,28,529 इकाई रही जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि के 19,11,883 वाहन के आंकड़े से 6.10 प्रतिशत अधिक है। अक्टूबर माह के दौरान मारुति सुजुकी इंडिया बाजार में शीर्ष पर रहा। हालांकि उसकी यात्री वाहन बिक्री मामूली तौर पर 0.61 प्रतिशत बढ़कर 1,35,948 इकाई रही। उसकी प्रतिद्वंदी हुंदै इंडिया की बिक्री 4.87 प्रतिशत बढ़कर 52,001 इकाई रही।

लगातार तीसरे महीने घटी यात्री वाहनों की बिक्री