कंप्यूटर स्टेशनरी हुयी मंहगी


नई दिल्ली : सरकार ने लाइन प्रिंटर , डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर , लेटर क्वालिटी डेजी व्हील प्रिंटर , लेजर जेट प्रिंटर , इंक जेट प्रिंटर जैसे कंप्यूटर स्टेशनरी उत्पादों पर सीमा शुल्क शून्य से बढ़ाकर 10 प्रतिशत कर दिया है जिससे अब ये उत्पाद महंगे हो जायेंगे।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज राज्यसभा को इस संदर्भ में सूचित किया कि कंप्यूटर स्टेशनरी पर सीमा शुल्क शून्य से बढ़ाकर 10 प्रतिशत कर दिया गया है जिससे लाइन प्रिंटर , डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर , लेटर क्वालिटी डेजी व्हील प्रिंटर , लेजर जेट प्रिंटर , इंक जेट प्रिंटर , फैक्सिमिली मशीन से भिन्न प्रिंटर , इंक काट्र्रिज, प्रिंटर हेड एसेंबली सहित, इंक काट्र्रिज प्रिंटर हेड एसेंबली रहित, इंक स्प्रे नॉजल, सेलुलर नेटवर्कों या अन्य वायरलेस नेटवर्को के लिए टेलिफोन (पुश बटन प्रकार), सेलुलर नेटवर्कों या अन्य वायरलेस नेटवर्कों के लिए टेलिफोन (पुश बटन प्रकार से भिन्न), बेस स्टेशन, पॉपुलेटेड, लोडेड या स्टफ्ड प्रिंटर सर्किट बोर्डों से भिन्न वस्तुओं के कलपुर्जे शामिल हैं।