सफल बिजेनस मैन बनाने के लिए धीरूभाई अंबानी ने बताईं थीं मुकेश अंबानी का यह बात


आज की दुनिया में हर कोई चाहता है कि वह अमीर बन जाए। हम और आप सब ही चाहते हैं कि वह सफलता की सीढी पर चढ़े और हर किसी की चाहत होती है कि उसकी जिदंगी सुखों से भरपूर हो। मुकेश अंबानी के बारे में तो आपने अक्सर सुना ही होगा। वह भारत के सबसे बड़े बिजनेस मैन हैं। मुकेश अंबानी की अरबों की संपत्ति है और उनका घर दुनिया का सबसे मंहगा घर है। मुकेश अंबानी के घर में हर चीज की संपन्ता है। इनके जैसे बनने की खाविश हर कोई करता है और क्यों न करे।

मुकेश अंबानी धीरूभाई अंबानी के बेटे हैं। धीरूभाई अंबानी के एक और बेटे हैं अनिल अंबानी जो कि वह भी भारत के काफी बड़े बिजनेस मैन हैं। बता दें कि जब धीरूभाई अंबानी अपने कामकाज से छुट्टी ले रहे थे तब मुकेश अंबानी विदेश में अपनी पढ़ाई कर रहे थे। मुकेश अंबानी अपनी पढ़ाई खत्म करने के बाद वापस अपने पिता के पास आ गए थे। मुकेश के पिता चाहते थे कि उनका बेटा अब उनका बिजनेस वह संभाले लेकिन उस वक्त मुकेश इंडस्ट्री में नए थे और उन्हें उस चीज का इतना ज्ञान नहीं था।

मुकेश को नहीं पता था कि बिजेनस को कैसे चलाना है। फिर मुकेश ने अपने पिता से पूछा क्या करना है? मेरा क्या काम होगा? धीरूभाई ने जवाब दिया कि तुम जॉब करते हो तो तुम मैनेजर बनोगे और अगर तुम इंटरप्रेन्योन हो तो तुम समस्यायों के हल की तलाश करोगे इसके बाद उनके पिता ने कहा कि अब तुम्हें सोचना है कि तुम्हें क्या करना है। बता दें कि यह बातें सुनने और पढऩे में जितनी छोटी लगती हैं असल में यह इतनी भी छोटी नहीं है।

 सब ही जानते हैं कि जिस कंपनी ने लोगों की समस्यायों के बारे में सोचा और उन पर ध्यान दिया था। आज की दुनिया में वह कंपनी काफी बड़ी है और उदाहरण केतौर पर ले लिजिए रिलायंस कंपनी जो पिछले छह सालों से इंटरनेट की कीमत में सबसे ज्यादा उछाल आया है। बाकी जो कंपनियां थीं वह लोगों को लूटने में लगी रही लेकिन लोगों की इस समस्या को रिलायंस के मालिक मुकेश अंबानी ने समझा था। मुकेश अंबानी को पता लग गया था कि दूसरी इंटरनेट कंपनियां लोगों को लूट रही हैं।

मुकेश अंबानी ने अपनी पिता की बातों पर अमल किया और लोगों की परेशानियों के हल निकालने के लिए जिओ कंपनी की शुरूआत की जिससे की लोगों को सस्ता इंटरनेट दिया जा सके। इसके बाद जो हुआ वो तो सब ही जानते हैं। दूसरी टेलीकॉम कंपनियों ने लोगों को लूटा था आज वह खुद खुद लूट चुकी हैं।

हम सबको इससे यह सीखने को मिलता है कि जो इंसान लोगों की परेशानियों के बारे में सोचता है और उन्हें दूर करने के लिए काम करता है तो उसे अपनी जिदंगी में मुनाफा ही मिलता है। दूसरे भी बहुत ऐसे उदाहरण हैं जैसे कि बिल गेट जिन्होंने सस्ते सॉफ्टवेयर बनाए, स्टीव जॉब जिन्होंने सस्ते कुप्यूटर का आविष्कार किया, मार्क जुकरबर्ग जिन्होंने फेसबुक बनाकर लोगों को अपने विचारों को आसानी से आदान प्रदान करने का मौका दिया ऐसे काफी सारे उदाहरण मिल ही जाएंगे।

जब भी आपको कोई भी काम करने में समस्या आ रही हो तो यह जरूर ध्यान कर लें कि इस समस्या से किसी और को परेशानी तो नहीं हो रही।  अगर ऐसा है तो आपके पास एक ऐसा मौका है जिससे की आप लोगों की परेशानियों का हल कर सकते हैं और उनसे पैसे भी कमा सकते हैं। इसलिए उसपे थोड़ा समय दीजिये विचार कीजिये इससे पैसे कैसे कमाए जा सकतें है लेकिन ध्यान रहे पहले समस्या का समाधान निकालिये उसके बाद पैसे के बारे में सोचिये।