नई दिल्ली : धान की आवक एक बार फिर घट जाने से यूपी, हरियाणा, पंजाब की मंडियों में 50/75 रुपए की और तेजी आ गयी। रुपए की किल्लत से बारीक चावल में अपेक्षाकृत मांग कम है, लेकिन राइस मिलों में मिलिंग पड़ता 150 रुपए महंगा होने से हाजिर में भी व्यापार 50/100 रुपए बढ़ गये। इस बार सभी उत्पादक राज्यों में धान की कमी बनी हुई है। इसे देखते हुए बारीक चावल में 200/300 रुपए की और तेजी लग रही है।

मोटे चावल में भी मंदे की गुुंजाइश नहीं हैै। इसके अलावा दलहनों में उड़द-काबली चना 100 रुपए और गिर गये। देशी चना व मूंग भी 40/50 रुपए नरम हो गये। चीनी में लगातार उत्पादन बढऩे से मिलों में 10/20 रुपए का और मंदा आ गया। हाजिर में भी 25 रुपए निकल गये। वहीं गुड़, सीजनल मांग से 100 रुपए सुधर गया। खाद्य तेलों में सोया व बिनौला तेल 40/50 रुपए मांग के अभाव में नीचे आ गये। किराने में धनिया, बिजाई कम होने से 200/300 रुपए एवं मेथी 100/200 रुपए और बढ़ गये। वहीं हल्दी, डिब्बे में सटोरियों की बिकवाली से 200 रुपए टूट गयी।

 लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।