नई दिल्ली : साक्षरता को बढ़ावा देकर तथा स्थानीय स्तर पर प्रासंगिक समाधानों के दम पर देश में इंटरनेट उपयोक्ताओं के बीच उपयोग तथा लेन-देन को बढ़ाया जा सकता है। इससे ई-कॉमर्स क्षेत्र में 50 अरब डॉलर के अवसर सृजित करने में मदद मिलेगी। एक रिपोर्ट में आज यह बात कही गयी। गूगल, बेन एंड कंपनी तथा ओमिदयार नेटवर्क द्वारा तैयार रिपोर्ट के अनुसार देश में मोबाइल फोन के जरिये औसत मासिक डेटा उपभोग करीब आठ जीबी प्रति उपभोक्ता है जो कि विकसित बाजारों के समतुल्य है।

ई-कॉमर्स कंपनियों पर सरकार सख्त

हालांकि देश के 39 करोड़ इंटरनेट उपयोक्ताओं में से महज 40 प्रतिशत द्वारा ही ऑनलाइन लेन-देन किये जाने का अनुमान है। रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘मौजूदा तथा अगली पीढ़ी के इंटरनेट उपयोक्ताओं एवं खरीदारों के बीच जागरुकता को बढ़ावा देकर उपभोग और लेन-देन को बढ़ाया जा सकता है जिससे देश के ई-कॉमर्स क्षेत्र में 50 अरब डॉलर से अधिक की संभावनाएं सृजित की जा सकती हैं।’’ इसमें कहा गया कि सरकार तथा निजी भागीदारी पहुंच, जागरुकता और साक्षरता को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है जिससे अधिक उपयोक्ता ऑनलाइन हो सकेंगे।